spot_img

sakchi-gurdwara-election-संगत का पूर्ण समर्थन,भ्रष्टाचार मुक्त रहा कार्यकाल, नो प्रॉफिट नो लॉस पर डिस्पेंसरी चलाएंगे- मंटू

राशिफल

जमशेदपुर:साकची गुरुद्वारा साहिब के प्रधान पद के उम्मीदवार एवं समाजसेवी हरविंदर सिंह मंटू ने संवाददाता सम्मेलन में कहा कि वे सिख पंथ और संगत के दास हैं किंतु भ्रष्टाचार अथवा गलत कार्यों को प्रश्रय नहीं देते हैं.गुरु घर की सेवा को उन्होंने सर्वोपरि रखा और नतीजा है कि गुरु महाराज एवं संगत का आशीर्वाद कोरोना काल में भी मिला और इस दौरान उन्होंने गुरुद्वारा साहिब के विकास का काम रुकने नहीं दिया.कोरोना काल में ही दस वातानुकूलित कमरों का निर्माण किया गया,जिसका लाभ बाहर से आने वाले कीर्तनी जत्थों और कथा वाचक को मिल रहा है.कोरोना काल में ही जरूरतमंद लोगों के घरों तक राशन एवं आर्थिक सहयोग पहुंचाया गया.कार्यकाल के दौरान 105 फीट का हाइड्रोलिक निशान साहब का निर्माण करवाया गया.स्कूल व कॉलेज का बंद के दौरान निर्माण कार्य करवाया और स्थानीय लोगों को स्कूल में नौकरी दी गई.साकची गुरुद्वारा साहिब सौंदर्यीकरण किया गया.इस क्रम में गैस पाइप लाइन का काम गुरुद्वारा साहिब के किचन में किया गया.(नीचे भी पढ़े)

मुझे अपनी टीम पर फक्र है कि पिछले कार्यकाल में किसी भी सदस्य पर भ्रष्टाचार का आरोप नहीं लगा और इसका सबूत यह है कि जब कार्यभार संभाला तो बचत छब्बीस लाख रुपए थे. विकास के कई कार्यक्रम में बड़ी राशि खर्च करने के बावजूद आज कमेटी के पास सत्तर लाख रूपये हैं.मुझे पूरा विश्वास है कि संगत मेरे कामों पर यकीन कर मुझे दोबारा मौका प्रदान करेगी.मैं संगत का भरोसा कभी नहीं तोडूंगा और जो काम अधूरे रह गए हैं उसे प्राथमिकता के तौर पर पूरे करूंगा.मैं संगत को यकीन दिलाता हूं कि मॉडर्न स्कूल को आईसीएसई अथवा सीबीएसई बोर्ड से मान्यता दिलवा दूंगा.मुख्य रुप से गुरुद्वारे का हॉल पूरी तरह से वातानुकूल कर दिया जाएगा..(नीचे भी पढ़े)

संगत को गुरु घर से जोड़ने के लिए सिख पंथ के शहीदों और गुरुओं को समर्पित कार्यक्रम में कीर्तन दरबार की लड़ी चलाई जाएगी तथा इलाके की जिन गरीब लड़कियों की शादी होगी. हॉल बुक कराने के लिए किसी भी तरह की राशि नहीं ली जाएगीसाकची गुरुद्वारा कैंपस में डिस्पेंसरी खोली जाएगी जिसमें डॉक्टरों द्वारा मुफ्त इलाज कर मरीजों को दवा नो प्रॉफिट नो लॉस में दी जाएगी. जरूरतमंद महिलाओं के लिए सिलाई कड़ाई साकची गुरुद्वारा में शुरू कर उनकी जीविका का प्रबंध किया जाएगा. पिछले दस सालों लावारिस लाशों का दाह संस्कार भी किया जाता है..(नीचे भी पढ़े)
ये थे उपस्थित
गुरदेव सिंह राजा, दलबीर सिंह, अजीत सिंह गंभीर, सुरजीत सिंह काले, दलबीर सिंह गोल्डी, सतनाम सिंह गंभीर, रविंदर सिंह रिंकू, तरविंदर सिंह पोली, बाबा राजपाल, रंजीत सिंह मिठ्ठू, नरेन्द्र सिंह निंदी, रिखराज सिंह रिकी, तरणपरीत सिंह बन्नी, अमरीक सिंह, श्याम सिंह भाटिया, कश्मीर सिंह, जोगराज सिंह जुगनू आदि मौजूद थे.

WhatsApp Image 2022-04-29 at 12.21.12 PM
WhatsApp-Image-2022-03-29-at-6.49.43-PM-1
Shiv Yog Physiotherapy And Yoga Classes
spot_img

Must Read

Related Articles

Don`t copy text!