Saraikela-Rajnagar-Dharma-Murmu-Funeral : राजनगर झामुमो कार्यालय में श्रद्धांजलि के बाद धर्मा मुर्मू का हुआ अंतिम संस्कार, अंतिम यात्रा में शामिल हुए मंत्री चंपई सोरेन और अन्य, मंत्री ने कहा-धर्मा मुर्मू का निधन पार्टी के लिए अपूरणीय क्षति, परिवार के साथ हमेशा पार्टी खड़ी है

राशिफल

राजनगर : राजनगर में पिछले गुरुवार को सड़क हादसे में मृत झामुमो नेता व मंत्री चंपई सोरेन के विधायक प्रतिनिधि धर्मा मुर्मू का शव पोस्टमार्टम के बाद शुक्रवार को उनके पैतृक गांव पहुंचा. सरायकेला पोस्टमार्टम हाउस से धर्मा मुर्मू का पार्थिव उनके पैतृक आवास राजनगर के गमदेसाई टोला बाड़ेडीह पहुंचाया गया. इस दौरान सरायकेला से राजनगर तक मंत्री चंपई सोरेन का काफिला भी साथ-साथ चलता रहा. धर्मा मुर्मू के पार्थिव शरीर को पहले राजनगर स्थित पार्टी कार्यालय लाया गया. जहां सभी ने बारी-बारी से उन्हें नम आंखों से श्रद्धांजलि अर्पित की. इस दौरान मंत्री चंपई सोरेन बस टकटकी लगाए अपने प्रिय पात्र के पार्थिव शरीर को देख रहे थे. उनके मुंह से शब्द नहीं फूट रहे थे. वे निःशब्द थे उन्होंने भावभीनी श्रद्धांजलि अर्पित की. इस दौरान लोगों के साथ पैदल ही मंत्री चंपई सोरेन धर्मा का पार्थिव शरीर लेकर उनके घर पहुंचे. यहां संथाली रीति रिवाज के साथ मंत्री सहित अन्य लोगों ने श्रद्धांजलि अर्पित की. जहां पार्थिव शरीर के अंतिम संस्कार तक मंत्री मौजूद रहे. अंतिम यात्रा में सैकड़ों की संख्या में कार्यकर्ता, स्थानीय दुकानदार, समाजसेवी, तमाम जनप्रतिनिधि और स्थानीय प्रशासन शामिल हुए. इस दौरान धर्मा मुर्मू अमर रहे के नारे लगाए गए. ज्ञात हो कि राजनगर प्रखंड बीस सूत्री अध्यक्ष सह विधायक प्रतिनिधि धर्मा मुर्मू की गुरुवार को सड़क दुर्घटना में दर्दनाक मौत हो गई थी. (नीचे भी पढ़ें)

मंत्री चंपई सोरेन ने अपने प्रिय पात्र धर्मा मुर्मू को भावभीनी श्रद्धांजलि देते हुए कहा कि धर्मा मुर्मू का असमय निधन पार्टी के लिए अपूरणीय क्षति तो है ही. व्यक्तिगत रूप से मेरे लिए बहुत बड़ी क्षति हुई है. धर्मा के निधन से मुझे गहरा धक्का लगा. मैं मीटिंग के लिए सुबह रांची पहुंचा 10 बजे मुझे सूचना मिली तो मुझे विश्वास ही नहीं हो रहा था. धर्मा मुर्मू मेरे लिए और पार्टी के लिए ऑल टाइमर नेता थे. राजनगर में उनकी हर गांव में अच्छी पैठ थी. लोगों से मिलते- जुलते रहते थे और पार्टी के लिए हमेशा उपलब्ध रहते थे. पार्टी के काम के लिए कभी यह नहीं कहते थे कि उनके पास आज समय नहीं है. हर मीटिंग में उनकी उपस्थिति रहती थी. उनकी जगह की भरपाई करना मेर लिए और पार्टी के लिए बहुत मुश्किल है. झामुमो पार्टी और मैं हमेशा उनके परिवार के साथ खड़ा हूं. इस दौरान मंत्री चंपई ने धर्मा के बच्चों को ढांढस बंधाया और हर सुख- दु:ख में साथ रहने का आश्वासन दिया. धर्मा मुर्मू के अंतिम दर्शन में जिला परिषद अध्यक्ष सोनाराम बोदरा, झामुमो जिलाध्यक्ष डॉ शुभेंदु महतो, जिप सदस्य मालती देवगम, बीडीओ डांगुर कोड़ाह, सीओ धनंजय कुमार, थाना प्रभारी चंदन कुमार, प्रखंड प्रमुख ओलिभ ग्रेस कुल्लू, उप प्रमुख सुमना देवी, मंत्री पुत्र वकील सोरेन, बबलू सोरेन, झामुमो नेता छायाकांत गोराई, गोपाल महतो, समाजसेवी केपी सोरेन, जयराम मुर्मू , स्थानीय मुखिया राजो टुडू, डोबरो देवगम, हीरालाल सतपथी, करमु पान, नींबू प्रधान, मार्शल पुर्ती, सागेन टूडू, बृजेश कुंटिया, मिथुन कुंभकार, सनद आचार्य, लिपू महंती, सहित अन्य उपस्थित थे.

Must Read

Related Articles