spot_img

saraikela-होल्डिंग टैक्स बढ़ोत्तरी के खिलाफ सरायकेला की जनता सड़क पर, नगर पंचायत अध्यक्ष व उपाध्यक्ष धरने पर बैठे, कहा- जब तक बढ़ा हुआ टैक्स वापस नहीं होगा तब तक जारी रहेगा आंदोलन

राशिफल


सरायकेला: झारखंड सरकार द्वारा शहरी निकाय क्षेत्रो में सर्किल रेट से जमीन व अपार्टमेंट का होल्डिंग टैक्स बढ़ाने के विरोध में गुरुवार को सरायकेला नगर पंचाय क्षेत्र में नगर पंचायत के उपाध्यक्ष मनोज कुमार चौधरी के आह्वान पर नगर क्षेत्र की सभी दुकान व प्रतिष्ठा बंद रहे. पूर्व के अनुपात में तीन गुना टैक्स बढ़ने से लोग नपं की कर प्रणाली से खफा हैं. मकान मालिकों का होल्डिग टैक्स पूर्व से तीन गुना से अधिक हो गया है. किसी को दस हजार तो किसी को चालीस हजार की रसीद थमा दी गई है. कई आवास मालिकों को तो 90 हजार तक टैक्स जमा करने का फरमान मिला है. आवास मालिक सवाल उठा रहे हैं, कि टैक्स की राशि में पूर्व की तुलना में बेतहाशा वृद्धि कैसे हो गई. नपं क्षेत्र में रहने वाले लाेगाें काे वित्तीय वर्ष 2022- 23 में सर्किल रेट से ही हाेल्डिंग टैक्स जमा करना हाेगा. लोगों से होल्डिंग टैक्स के अलावा पानी का भी चार्ज नगर पंचायत वसूलता है. वहीं गार्बेज कलेक्शन भी प्रॉपर तरीके से नहीं होता है. ऐसे में लोगों का सवाल है कि क्या गारंटी है कि बढ़ा हुआ होल्डिंग टैक्स वसूलने के बाद शहर में व्यवस्था बदलेगी और बेसिक सुविधाओं में सुधार होगा.(नीचे भी पढ़े)


सरकार ने इस बार सभी स्ट्रक्चर को अलग- अलग कैटेगरी में बांट दिया है. इसमें रेसीडेंशियल, पार्सियल रेसीडेंशियल, कॉमर्शियल एरिया होगा. इसके अलावा राज्य सरकार ने होटल, बार, क्लब, जिम, मैरेज हॉल से तीन गुना अधिक टैक्स लेने का निर्णय लिया है, जबकि दुकान, शोरूम, मॉल, सिनेमा हाल, रेस्टोरेंट और गेस्ट हाउस से 2.5 गुना टैक्स की वसूली होगी. नगर पंचायत के उपाध्यक्ष मनोज कुमार चौधरी ने बताया कि अभी देश करोना जैसी माहमारी से उबर रहा उपर से तीन गुना होल्डिग टैक्स बढ़ाना लोगों के लिए सही नही है. उन्होने बताया कि सर्किल रेट तय होने से लोगों को होल्डिंग टैक्स के एवज में पहले की तुलना में लगभग ढाई गुना ज्यादा राशि जमा करनी होगी. यही नहीं, खाली प्लॉट के लिए भी होल्डिंग टैक्स की दर में लगभग 75 फीसदी तक इजाफा किया गया है. पहले सरकार की ओर से अब तक सालाना 1.44 रुपए प्रति वर्गफीट की दर से मकान- अपार्टमेंट का हाेल्डिंग टैक्स वसूल किया जाता रहा. इस दर से 1000 वर्गफीट में बने मकान के लिए 1008 रुपए होल्डिंग टैक्स जमा करना पड़ता था, लेकिन अब निर्धारित सर्किल रेट वसूली हाेगी.(नीचे भी पढ़े)


हालांकि शुरुआत नगर पंचायत कार्यालय से हुई और देखते ही देखते सरायकेला की जनता सड़क पर उतर गई और सरायकेला चाईबासा मुख्य मार्ग पर कोर्ट के समीप धरने पर बैठ गए हैं इन्हें नगर अध्यक्ष मीनाक्षी पटनायक का भी समर्थन मिला जहां नगर अध्यक्ष खुद धरना स्थल पर जमी हुई है उन्होंने भी सरकार के इस फैसले का पुरजोर विरोध किया है बता दें कि बड़े हुए होल्डिंग टैक्स को लेकर भाजपा पूरे राज्य में आंदोलित है भाजपा के इस आंदोलन में सरायकेला नगर पंचायत की अध्यक्ष और उपाध्यक्ष भी कूद पड़े हैं इन्हें जनता का भरपूर समर्थन भी मिल रहा है फिलहाल धरने पर बैठे सरायकेला की नगर अध्यक्ष एवं उपाध्यक्ष व आम जनता के लिए तंबू गाड़ दिया गया है, नगर पंचायत के उपाध्यक्ष मनोज चौधरी ने साफ संकेत दे दिया है, कि जब तक बढ़ा हुआ होल्डिंग टैक्स वापस नहीं होगा, तब तक आंदोलन जारी रहेगा.

WhatsApp Image 2022-04-29 at 12.21.12 PM
WhatsApp-Image-2022-03-29-at-6.49.43-PM-1
Shiv Yog Physiotherapy And Yoga Classes
spot_img

Must Read

Related Articles

Don`t copy text!