tata-steel-open-innovation-program-material-next-4.0-टाटा स्टील मेगा ओपन इनोवेशन इवेंट मैटेरियलनेक्स्ट 4.0 का चौथा संस्करण लॉन्च, एक मंच पर दिखेंगे वैज्ञानिक, शोधकर्ता और स्टार्ट-अप

राशिफल

जमशेदपुर : टाटा स्टील ने शनिवार को मैटेरियलनेक्स्ट का चौथा संस्करण लॉन्च किया, जो कंपनी का उभरते मैटेरियल डोमेन में प्रमुख ओपन इनोवेशन इवेंट है. इस संस्करण का मुख्य विषय ‘मटेरियल्स टू वंडर’ है, जिसका उद्देश्य इमर्जिंग मैटेरियल्स और उनके अनूठे अनुप्रयोगों के बारे में विचारों को क्राउडसोर्स करना है. मैटेरियलनेक्स्ट 4.0 के लॉन्च के साथ चार प्रमुख मैटेरियल्स/टेक्नोलॉजी विषय क्षेत्रों को पेश किया गया जिसमें एप्लाइड नैनोमटेरियल्स, नोवेल कंपोजिट्स, इमर्जिंग कंस्ट्रक्शंस मटेरियल और एनर्जी मटेरियल शामिल है. इन चार विषय क्षेत्रों में से प्रत्येक के भीतर, कई एप्लिकेशन-संबंधित मुद्दे हैं जिन्हें परिभाषित किया गया है, जिससे भाग लेने वाली टीमों के लिए आईडिया को रजिस्टर करना आसान हो गया है. कार्यक्रम में दो समानांतर ट्रैक शामिल होंगे- ‘रिसर्च ट्रैक’ पूरे भारत में प्रमुख शैक्षणिक संस्थानों और अनुसंधान सुविधाओं की अवधारणाओं पर ध्यान केंद्रित करेगा और ‘स्टार्ट-अप’ ट्रैक उन स्टार्ट-अप्स पर केंद्रित होगा जो संस्थान स्तर पर इनक्यूबेटर सेल से उभरे हैं. लॉन्च पर, टाटा स्टील के वाइस प्रेसिडेंट, टेक्नोलॉजी एंड न्यू मैटेरियल्स बिजनेस, डॉ. देवाशीष भट्टाचार्जी ने कहा कि “टाटा स्टील में, हम वैज्ञानिकों, शोधकर्ताओं, स्टार्ट-अप और औद्योगिक संगठनों के व्यापक समुदाय के साथ सहयोग करते हुए अपनी अनुसंधान और विकास शक्तियों का लाभ उठाकर, स्टील मूल्य श्रृंखला में अभिनव समाधान और सफल प्रौद्योगिकियां विकसित करना जारी रखते हैं. (नीचे भी पढ़ें)

उन्होंने बताया कि मैटेरियलनेक्स्ट प्लेटफॉर्म युवा मष्तिस्कों को प्रौद्योगिकी विचार नेतृत्व को बढ़ावा देने के लिए उन्नत सामग्री के क्षेत्र में विकसित करता है. इसमें उन्नत सामग्रियों के उभरते क्षेत्रों में सफल उत्पादों और प्रक्रियाओं को आकार देने की क्षमता है. टाटा स्टील एडवांस्ड मैटेरियल्स रिसर्च सेंटर (टीएसएएमआरसी) नए और उभरते सामग्री डोमेन में कंपनी की ‘टेक्नोलॉजी एंटरप्रेन्योरियल’ पहल की देखरेख करता है और 2019 से इस पहल का आयोजन कर रहा है. आईआईटी मद्रास कैंपस से शुरू हुए इस कार्यक्रम ने इन वर्षों में अग्रणी शैक्षणिक संस्थानों और अनुसंधान केंद्रों तक पहुंच बनाकर पूरे भारत में महत्वपूर्ण विस्तार देखा है. मैटेरियलनेक्स्ट ने टीएसएएमआरसी के प्रौद्योगिकी पोर्टफोलियो विस्तार में महत्वपूर्ण भूमिका निभाई है. (नीचे भी पढ़ें)

मटीरियलनेक्स्ट 4.0 तीन चरणों में पांच महीने तक चलेगा:
सलेक्शन (आइडिया सलेक्शन), परफॉर्मेंस (आइडिया डेवलपमेंट) और फिनाले (आइडिया मूल्यांकन) तीन चरणों में चेलगा. टीमों द्वारा पंजीकरण के बाद, चयन का चरण एक ऑनलाइन स्क्रीनिंग की 2-चरणीय प्रक्रिया है, जिसके बाद चर्चा-सह-मूल्यांकन चरण होता है, जो विषय विशेषज्ञों द्वारा आयोजित किया जाता है. चयनित प्रविष्टियां, प्रदर्शन चरण में आगे बढ़ेंगी. प्रदर्शन चरण एक मूल्यांकन (प्री-फिनाले) दौर के साथ समाप्त होता है. इस चरण से चुनी गयी प्रविष्टियां फिनाले चरण के लिए योग्य होंगी और उन्हें विजेता और उपविजेता का फैसला करने के लिए ग्रैंड फिनाले के लिए बुलाया जाएगा. ग्रैंड फिनाले 11 मई, 2023 को टेक्नोलॉजी डे पर आयोजित किया जाएगा. कार्यक्रम के विचार विकास चरण के दौरान टीएसएएमआरसी से सलाह और इन्क्यूबेशन सहयोग के अलावा, आंतरिक और बाहरी विषय वस्तु विशेषज्ञ कार्यक्रम के विभिन्न चरणों में भाग लेंगे. प्रत्येक ट्रैक की विजेता और उपविजेता टीमों को लंबी अवधि के संयुक्त उद्यमों में विकसित होने वाली सबसे आशाजनक अवधारणाओं के लिए मॉनेटरी अवार्ड्स के साथ-साथ फंडिंग ऑफर्स भी प्राप्त होंगे.

Must Read

Related Articles