VIDEO-मुख्यमंत्री के साला पर नोटबंदी के वक्त 15 लाख देकर मकान लिखवाने का आरोप, मामला हाईकोर्ट में दर्ज, राज्य सरकार, डीजीपी, जमशेदपुर एसएसपी व मुख्यमंत्री के साले को बनाया पार्टी, वीडियो भी कोर्ट में जमा, सरकार को नोटिस

Advertisement
Advertisement

रांची/जमशेदपुर : झारखंड के मुख्यमंत्री रघुवर दास के साला सोनारी बुधराम बस्ती 851 बी ब्लॉक निवासी खेमराज साहू पर नोटबंदी के वक्त 15 लाख रुपये देकर एक मकान लिखवाने का आरोप लगाया गया है. 15 लाख रुपये नहीं लौटाने या मकान नहीं देने की स्थिति में गाली गलौज और पुलिस के सहयोग से मकान मालिक को धमकाने का आरोप सामने आया है. इसको लेकर झारखंड हाईकोर्ट में एक आपराधिक याचिका दायर कर दिया गया है, जिसमें राज्य सरकार, राज्य के पुलिस महानिदेशक, जमशेदपुर के एसएसपी और मुख्यमंत्री के साला खेमराज साहू को पार्टी बनाया गया है. शिकायतकर्ता सोनारी परदेशी पाड़ा बी ब्लॉक के घर संख्या 1416-1417 के रहने वाले 30 वर्षीय मनीष दास है. उसने एक वीडियो भी हाईकोर्ट में जमा कराया है, जिसमें मुख्यमंत्री के साले खेमराज साहू के साथ होने वाले बहस को दर्शाया गया है. मनीष दास के वकील झारखंड हाईकोर्ट के नामचीन एडवोकेट राजीव कुमार है.

Advertisement
Advertisement
Advertisement
झारखंड हाईकोर्ट के अधिवक्ता राजीव कुमार द्वारा उपलब्ध कराया गया वीडियो.

इस वीडियो के अलावा कई दस्तावेज भी दिये गये है. दायर केस के आधार पर राज्य सरकार को झारखंड हाईकोर्ट ने नोटिस देकर जवाब दाखिल करने को कहा है. इसके तहत मनीष दास ने हाईकोर्ट में दायर केस में बताया है कि खेमराज साहू ने जमशेदपुर पुलिस के सहयोग से कई बार उसको थाना में बंद कराया. उसके साथ मारपीट की गयी और धमकाया गया. कई बार उसके घर में घुसकर दबंगई की गयी. उन्होंने आरोप लगाया है कि मुख्यमंत्री के साला होने का रौब खेमराज साहू दिखाता है, जिसका साथ सरकार के लोग भी दे रहे है. खासकर पुलिस को इसमें पार्टी बनाया गया है.

Advertisement
Advertisement
Advertisement

Advertisement
Advertisement

Advertisement
Advertisement
Advertisement

Advertisement