spot_img

west-singbhum-saranda-unknown-disease : सारंडा के जंगलों में तीन बच्चों की अज्ञात बीमारी से मौत के बाद क्षेत्र के ग्रामीणों में हड़कंप

राशिफल

चाईबासा : पश्चिमी सिंहभूम के सारंडा जंगल स्थित छोटानागरा के गांवों में इन दिनों अज्ञात बीमारी की चपेट में आने से अब तक तीन बच्चों की मौत हो गई है. यह मौत एक हफ्ते के अंदर ही हुई जिससे  गांव के लोगों के बीच हड़कंप मचा हुआ है. बच्चे मलेरिया बुखार जैसे बीमारियों की चपेट में आ रहे है. सारंडा के जंगल शहर से काफी कटे कटे है जिससे वहां बेहतर सुविधा नहीं उपलब्ध हो पाती. क्षेत्र में डॉक्टरों की कमी है जिससे सही समय पर इलाज उपलब्ध नहीं हो पाता. पिछले कुछ दिनों ने अज्ञात बीमारी से बच्चे ग्रसित हो रहे है. (नीचे भी पढ़ें)

छोटानागरा पंचायत के राकड़बुरु टोला निवासी माटू चाम्पिया की चार वर्षीय बेटी की मौत 27 अक्तूबर को, जोजोपी गांव निवासी भानू चेरोवा की चार वर्षीय बेटी की मौत 31 अक्तूबर को तथा हेंदेबुरु गांव निवासी देवेन सुरीन की दस माह की बेटी की मौत 3 नवंबर को बुखार आदि की वजह से हो गई. छोटानागरा में नया अतिरिक्त प्राथमिक स्वास्थ्य केन्द्र भवन बनकर तैयार हो गया है लेकिन आज तक उसे हैंड ओवर नहीं लिया गया तथा कोई सुविधा नहीं है. पुराने व बेहतर चिकित्सक डॉ उत्पल मुर्मू को हटाकर एक नया आयुष चिकित्सक की नियुक्ति कर दी गई है लेकिन वह सप्ताह में दो-तीन दिन ही आते हैं तथा एएनएम के भरोसे ही सारंडा के दर्जनों गांवों की चिकित्सा व्यवस्था चल रही है. यहां लैब अथवा खून आदि जांच की कोई व्यवस्था नहीं है, जिस कारण ग्रामीण मरीज झोला-छाप डॉक्टर के भरोसे इलाज कराने को मजबूर हैं और अपनी जान गवां रहे हैं.

WhatsApp Image 2022-04-29 at 12.21.12 PM
WhatsApp-Image-2022-03-29-at-6.49.43-PM-1
Shiv Yog Physiotherapy And Yoga Classes
spot_img

Must Read

Related Articles

Don`t copy text!