spot_img

west-singhbhum-Chakradharpur- पूर्व विधायक शशि भूषण सामड ने चक्रधरपुर अनुमंडल अस्पताल में बन रहे नए भवन का किया निरीक्षण, गुणवत्ता देख भड़के, संबंधित अधिकारियों को दी जानकारी, कहा- भवन निर्माण कार्य में गुणवत्ता का कोई ख्याल नहीं

राशिफल


रामगोपाल जेना
चक्रधरपुर :
ढ़ाई करोड़ रुपए से बन रहे चक्रधरपुर अनुमंडल अस्पताल परिसर में निर्मित हो रहे अस्पताल भवन में संवेदक द्वारा नीम स्तर की सामग्री उपयोग की खबर पर पूर्व विधायक शशि भूषण समाड कार्य स्थल पहुंचे. साथ में भाजपा नेता पवन शंकर पांडेय राजेश गुप्ता भी पहुंचे थे जहां देखा के योजना के अनुरूप में संवेदक द्वारा भारी अनियमितता बरती जा रहा है. भवन निर्माण सरकारी अस्पताल से चोरी का बिजली लेकर उपयोग किया जा रहा है साथ ही अस्पताल भवन का भी पानी का उपयोग किया जा रहा इस पर पूर्व विधायक ने काफी भड़क उठे. भवन निर्माण में काला ईंटों का उपयोग हो रहा है,जो काफी कमजोर और खराब ईंट है. जबकि अस्पताल भवन जी प्लस वन भवन है.(नीचे भी पढे)

ऐसे में भवन की गुणवत्ता कैसे रहेगा, यह सवाल बन गया है. इस पर पूर्व विधायक शशि भूषण सामड ने कहां कि नई भवन में उपयोग होने वाले ईंटों को यदि तीन फीट ऊंचा से गिरा देते हैं, तो वह टूट जा है. इतना ही नहीं ईंट को हाथ में लेकर रगड़ देने से वह डस्ट बन जाता है. इसमें लूट मची हुई है. बाद में पूर्व विधायक शशि भूषण सामड योजना में भारी गड़बड़ी को देखते हुए तत्काल अस्पताल परिसर प्रभारी पोड़ाहाट एसडीओ ललन कुमार और बिजली विभाग के सहायक अभियंता मनोज कुमार निराला को अस्पताल भवन के गड़बड़ी के बारे में जानकारी दी और कार्यस्थल आने का आग्रह किया. जिसके बाद दोनों पद अधिकारी पहुंच कर मामले की जांच पड़ताल किया.

भवन निर्माण में गड़बड़ी है तो कार्रवाई होनी चाहिए : एसडीओ
पोड़ाहाट एसडीओ ललन कुमार ने भवन की जांच पड़ताल करने के बाद प्रेस से कहा कि मामले में गड़बड़ी है इसकी जांच होनी चाहिए और कार्रवाई भी. उन्होंने कहा कि ठेकेदार द्वारा गैरकानूनी तरीके से बिजली लेकर कार्य कर रहा है इसकी पूरी जानकारी हम चाईबासा जा रहे हैं तो उपायुक्त को देंगे.

ठेकेदार ने अस्पताल से कैसे बिजली लिया, इसकी जानकारी मुझे नहीं: चिकित्सा पदाधिकारी
चक्रधरपुर अनुमंडल अस्पताल के चिकित्सा प्रभारी डॉक्टर मोइन अख्तर अंसारी ने कहा कि अस्पताल परिसर से ठेकेदार द्वारा किस तरह बिजली लेकर उपयोग कर रहे हैं इसकी जानकारी मुझे नहीं है ना ही ठेकेदार हमें कभी कुछ कहा. उन्होंने बिजली विभाग को इस संबंध में एक लिखित आवेदन भी दिया है कि मेरे गैरहाजिरी में ठेकेदार अस्पताल से बिजली लेकर कार्य कर रहा है.

ठेकेदार पर बिजली चोरी का मामला दर्ज हो: शशि भूषण समाड
पूर्व विधायक भाजपा नेता शशि भूषण समाड ने कहा कि ठेकेदार अस्पताल का पानी और छोरी का बिजली लेकर कार्य कर रहे हैं इन पर मामला दर्ज होना चाहिए नहीं तो भाजपा द्वारा आंदोलन किया जाएगा. उन्होंने कहा कि जिस निम्न स्तर से ढाई करोड़ का भवन का निर्माण किया जा रहा है उसकी भी जांच होनी चाहिए. वर्तमान में झामुमो के सरकार में हर तरफ लूट मची हुई है मुख्यमंत्री स्वयं एक मामले में लिप्त है, ऐसे में सरकारी अधिकारी और ठेकेदार मालामाल हो रहे हैं.

अस्पताल भवन के मीटर से बिजली लेकर कार्य किया जा रहा है, जांच के बाद मामला होगा दर्ज: विद्युत अभियंता
चक्रधरपुर बिजली विभाग के सहायक अभियंता मनोज कुमार निराला ने कहा कि अस्पताल परिसर के मीटर से बाईपास कर ठेकेदार द्वारा बिजली का उपयोग किया जा रहा है, यह एक कमर्शियल मामला है, मामले की पूरी जांच के बाद कार्रवाई की जाएगी. इसकी जांच चल रही है ठेकेदार पर जुर्माना के साथ मामला दर्ज होगा.उन्होंने कहा कि यह पूरी तरह गैरकानूनी है.

चोरी की बिजली और पानी का उपयोग कर रहा ठेकेदार
अस्पताल भवन बनाने के लिए ठेकेदार द्वारा नाही बिजली विभाग से मीटर लिया है नाही बोरिंग कराया है, वर्तमान में 3 महीने से अस्पताल भवन का कार्य चल रहा है. रड कटाई से लेकर हर तरह का बिजली का उपयोग किया जा रहा है. यही नहीं अस्पताल परिसर में टीना से काम करने वाले मजदूरों का भवन भी बनाया गया है उसमें भी पंखा बिजली लगाया गया. यह जानकारी जांच के बाद खुलासा हुआ है जिसके बाद से बिजली विभाग का भी नींद हराम है. बिजली विभाग ने कटर मशीन तार और अन्य सामग्री को भी जब्त कर लिया है.

कार्य स्थल पर योजना बोर्ड भी नहीं लगा है
अस्पताल परिसर में जहां भवन निर्माण हो रहा है. वहां योजना बोर्ड भी नहीं लगा है. जिस कारण योजना को लेकर लोगों में असमंजस है. अनुमंडल अस्पताल चक्रधरपुर आम आदमी ही नहीं अस्पताल प्रबंधन को भी योजना की कोई जानकारी नहीं है.

ठेकेदार के लोग कर्मचारी को दी धमकी
अस्पताल का एक कर्मचारी जब योजना का जानकारी लेने चाहा तो उनको ठेकेदार के लोगों ने धमकी दी कि कार्य कर रहे हो कार्य करो दूसरे के काम में दखल मत दो. इस कारण से योजना का विस्तार जानकारी ना तो चिकित्सा पदाधिकारी को है ना ही कर्मचारियों को.

WhatsApp Image 2022-04-29 at 12.21.12 PM
WhatsApp-Image-2022-03-29-at-6.49.43-PM-1
Shiv Yog Physiotherapy And Yoga Classes
spot_img

Must Read

Related Articles

Don`t copy text!