West-Singhbhum-human-trafficking : चाईबासा पुलिस ने मानव तस्करी के आरोप में कई को धर दबोचा, भेजा गया जेल

Advertisement
Advertisement

चाईबासा : पश्चिमी सिंहभूम जिला के मंझारी व तांतनगर ओपी से रोजगार दिलाने के नाम पर मानव तस्करी किये जाने का गुप्त सुचना पर चाईबासा पुलिस ने पुलिस अधीक्षक अजय लिण्डा के दिशा निर्देश पर गुरुवार रात तामिलनाडु राज्य से आये कारखानों में रेजगार दिलाने का प्रलोभन देकर बस से परिवहन कर ले जाए जा रहे प्रवासियों को पकड़ा गया। सत्यापन के क्रम में ज्ञात हुआ कि कोयम्बटुर के एक टैक्सटाईल कंपनी नामतः टैक्सटाईल इण्डिया प्राईवेट लिमिटेड में ले जाया जा रहा है । बस पर सवार लड़कियों, महिलाओं से पूछताछ के क्रम में ज्ञात हुआ कि अनिता देवी , टुःखनी पात्रो , संजीव कुमार पान , आशीष कुमार एवं जसोबन्तो डोन्डासेना के द्वार बस में सवार लड़की । महिलाओं के उक्त फैक्ट्री में रोजगार दिलाने का प्रलोभन देकर ले जाया जा रहा है . (आगेे की खबर नीचे पढ़ें)

Advertisement
Advertisement

जांच के क्रम में 13 महिला श्रमिकों मे से 04 लड़कियाँ नाबालिग पायी गई, साथ ही बस में सवार किसी भी महिला श्रमिक के पास जिला श्रम विभाग द्वारा निर्गत पंजीयन पत्र व अन्य वैध दस्तावेज नहीं पाये गये .तामिलनाडु राज्य द्वारा परिवहन हेतु निर्गत ई – पास में भी अंकित 04 महिला श्रमिकों के नाम के सामने उनकी उम्र 18 वर्ष से कम अंकित था । प्रारंभिक जाँच में पाया गया कि नाबालिग लड़कियों को जोखिम भरे कार्य में बाल श्रमिक के रुप में नियोजित किया जाने वाला है. रेस्क्यू किये गये नाबालिग लड़कियों के काउंसिलिंग एवं बेहतर पुनर्वास हेतु बाल कल्याण समिति चाईबासा को सूचित किया गया तथा उन्हें सुपुर्द किया गया. शेष बालिग लड़कियों महिला श्रमिकों को पर्याप्त सुरक्षा में उनके आवासीय पते पर पहुंचाया गया है. इस मामले में पुलिस ने अनिता देवी, संजिव कुमार, दुखनी पात्रो, अशीष कुमार और डोन्डासेना को गिरफ्तार किया है. छापेमारी दल में थाना

Advertisement

Advertisement
Advertisement

Leave a Reply