spot_img

West-Singhbhum : कुमारडुंगी से प्रेमी संग फरार तीन बच्चे की मां मनोहरपुर के आनंदपुर में पकड़ाई, थाना प्रभारी पर कार्रवाई नहीं किये जाने का आरोप, कार्रवाई करने पहुंची तो पुलिस तो लोगों ने चलाया लाठी-डंडा, जवान घायल, क्षेत्र में तनाव, नहीं खुलीं दुकानें

राशिफल

Chaibasa : कुमारडुंगी से प्रेमी संग भागी तीन बच्चो की मां मनोहरपुर के आनंदपुर में मिली. उसे पुलिस ने हिरासत में ले लिया है. मामला पश्चिमी सिंहभूम जिले के कुवांरडुंगी प्रखंड का है। मंगलवार को विवाहित महिला अपने प्रेमी के साथ भाग गयी थी. वहीं विवाहित महिला के गायब होने से परिजन काफी परेशान थे और महिला की खोजबीन जारी थी। इसी क्रम में प्रेमी युगल के आनन्दपुर में अपने किसी परिजन के घर में छिपे होने की खबर मिली थी. सूचना मिलने पर आनंदपुर पुलिस दोनों को पकड़ कर पूछताछ के लिए थाने पर ले आयी. वहां विवाहित महिला ने बताया कि उसका पति शराब के नशे में उसके साथ मारपीट करता है, जिससे तंग आकर वह अपने प्रेमी के साथ मंगलवार को भाग गयी। दोनों एक दूसरे से बहुत प्यार करते हैं और अपनी मर्जी से भागे हैं। सूत्रों से मिली जानकारी के अनुसार प्रेमी पहले महिला के घर में ड्राइवर का काम करता था।

ज्ञात हो कि तीन बच्चे की मां को भगाने के मामले को लेकर पिछले तीन-चार दिनों से दो परिवार के लोग आमने-सामने हैं। यह घटना पश्चिम सिंहभूम जिले के कुमारडुंगी थाना क्षेत्र की है और इस मामले को लेकर थाने में शिकायत के बाद भी कार्रवाई नहीं होने से नाराज होकर ग्रामीणों ने आरोपी के परिवार को मारपीट कर बंधक बना लिया। साथ ही बचाव में आए पुलिस प्रशासन पर भी डंडे बरसा दिये। मामला शनिवार सुबह का है। ग्रामीणों के अनुसार कुमारडुंगी वासी विचित्र सेन बारिक की पत्नी का कुमारडुंगी गांव के राहुल कुमार पोद्दार नामक युवक के साथ प्रेम संबंध था। दोनों एक सितंबर को घर से फरार हो गए। विचित्र सेन की पत्नी अपने साथ 1 लाख 25 हजार रुपये व घर में रखे सारे गहने ले गई। विचित्रसेन ने बताया कि घटना के बारे में दो सितंबर को थाना में लिखित शिकायत की गयी। शिकायत के 62 घंटे बाद भी पुलिस प्रशासन द्वारा कोई कार्रवाई नहीं करने से नाराज होकर ग्रामीणों ने राहुल कुमार पोद्दार के परिवार के साथ मारपीट कर राहुल के पिता मनमोहन पोद्दार, मां रेणु देवी, मनोरंजन पोद्दार, दीपक पोद्दार व मोहित पोद्दार को बंधक बना लिया था। अनुमंडल पुलिस पदाधिकारी प्रदीप उरांव ने घटनास्थल पहुंच कर पांचों को छुड़ाया व उपचार करवाया।

डंडे से मार-मार कर ले गए, तीन घंटे तक बनाया बंधक
कुमारडुंगी गांव निवासी राहुल कुमार पोद्दार को तीन बच्चों की मां को भगा कर ले जाना काफी महंगा पड़ा। राहुल के इस काम से आक्रोशित ग्रामीणों ने शनिवार की सुबह 7 बजे राहुल के परिवार को बंधक बना लिया। राहुल के पिता मनमोहन पोद्दार ने बताया कि सुबह अचानक 15 से 20 लोग घर में आए। गाली-गलौज करते हुए डंडे व लात घुसा से मारना शुरू कर दिया। पत्नी रेणु देवी को बाल पकड़ कर खींचते हुए ले गए। दीपक पोद्दार, मनोरंजन पोद्दार व मोहित पोद्दार के घर में भी अचानक लोगों ने हमला कर दिया। पांचों को मारते हुए कुमारडुंगी ग्वालाटोली ले गए। वहां मारपीट करते हुए दीपक पोद्दार से राहुल के बारे में पूछा गया। मारपीट के कारण मनमोहन पोद्दार को सिर व छाती में गंभीर चोटें आई हैं। अन्य को अंदरूनी चोटें आईं हैं। सभी का सामुदायिक स्वास्थ्य केन्द्र कुमारडुंगी में प्राथमिक उपचार कराया गया है।

पीड़ित परिवार ने एसपी से की थी सुरक्षा की मांग
कुमारडुंगी निवासी राहुल कुमार पोद्दार द्वारा महिला को भगाकर ले जाने से उसका परिवार सुरक्षित नहीं था। राहुल के घर में पिता मनमोहन पोद्दार, मां रेणु देवी व बहन रहती हैं। राहुल की इस करतूत के बाद परिवार सुरक्षित नहीं था। इसलिए बड़ी बेटी रचना कुमारी ने शुक्रवार को ही पुलिस अधीक्षक को लिखित आवेदन देकर सुरक्षा की मांग की थी। 

भीड़ ने तोड़ डाला घर व गाड़ी, डर से घरो मे जड़े ताले
कुमारडुंगी गांव में राहुल कुमार पोद्दार द्वारा महिला को भगा ले जाने की सजा पूरे पोद्दार परिवार को भुगतनी पड़ी। शनिवार को अचानक आए कुमारडुंगी गांव के लोगों ने पोद्दार परिवार में घुसकर घर, दुकान व गाड़ी को तोड़ दिया। युवकों के साथ मारपीट की। बीच-बचाव में आए पुलिस प्रशासन को भी पीटा। इस डर से पोद्दार परिवार घर में ताला लगा छुपकर रहने को मजबूर है। कुछ लोग थाना में शरण लिए हुए हैं। अचानक आयी भीड़ ने गाड़ी का शीशा तोड़ दिया। दुकान के ठेले उलट दिए हैं। 

कुमारडुंगी में घटना के डर से नहीं खुली कोई दुकान
इस घटना से पूरा कुमारडुंगी गांव दहशत में है। उग्र भीड़ को देखकर लोगों ने अपनी दुकानों के शटर डाउन रखे। किसी ने दुकान खोलने की हिम्मत नहीं की। दूसरे गांव से आ रहे लोग माहौल को देखकर ही वापस चले जा रहे हैं। पेट्रोल पम्प से लेकर बैंकों में सन्नाटा पसरा रहा। हालांकि गांव में तनाव बढ़ने से अनुमण्डल पुलिस पदाधिकारी प्रदीप उरांव, इंस्पेक्टर मनोज तिवारी, जगन्नाथपुर थाना प्रभारी मधुसूदन मोदक, मझगांव थाना प्रभारी अकील अहमद समेत अन्य थाना के थाना प्रभारी दल-बल के साथ कुमारडुंगी में मौजूद थे।  चौक-चौराहों पर पुलिस के जवान तैनात थे।

गांव वालों ने कहा थाना प्रभारी का व्यवहार गलत
कुमारडुंगी में हुई घटना को लेकर लोगों का कहना है की शुक्रवार की शाम कुमारडुंगी थाना प्रभारी महेन्द्र राय ने लोगों के साथ गलत व्यवहार किया। शाम को कुमारडुंगी हाटसाई चौक पर ग्वाला समाज के लोग बातचीत कर रहे थे। इसी में थाना प्रभारी महेन्द्र राय व एएसआई सिविल ड्रेस में वहां पहुंचे। समाज के लोगों को गाली-गलौज करते हुए डंडा मारकर भगाने की बात कही। इससे ग्रामीण उग्र हो गए और शनिवार की सुबह पुलिस जवानों पर डंडा-लाठी बरसा दिया।

[metaslider id=15963 cssclass=””]
WhatsApp Image 2022-04-29 at 12.21.12 PM
WhatsApp-Image-2022-03-29-at-6.49.43-PM-1
Shiv Yog Physiotherapy And Yoga Classes
[adsforwp id="129451"]

Must Read

Related Articles

Don`t copy text!