spot_img

West-Singhbhum : गोईलकेरा में वनाधिकार पट्टा में कटौती के विरोध व ट्रेनों के ठहराव की मांग को लेकर ग्रामीणों ने पारंपरिक हथियारों के साथ किया विरोध-प्रदर्शन

राशिफल

चक्रधरपुर : पश्चिमी सिंहभूम जिले के गोईलकेरा में बुधवार को वनाधिकार पट्टा में कटौती के विरोध व ट्रेनों के ठहराव की मांग को लेकर सैकड़ों ग्रामीणों ने विरोध- प्रदर्शन किया. झारखंड आंदोलनकारी मंच के बैनर तले जुटे ग्रामीणों ने गोइलकेरा में रैली निकाली और पारंपरिक हथियारों के साथ प्रदर्शन किया. आंदोलन का नेतृत्व झारखंड आंदोलनकारी  मंच के जिला संयोजक बिरसा मुंडा कर रहे थे. आंदोलन को आजसू का भी समर्थन मिला. पार्टी के गोइलकेरा प्रखंड प्रभारी नव कुमार प्रधान व युवा नेता विवेक कुमार साव भी प्रदर्शन में शामिल हुए. वहीं चक्रधरपुर रेल मंडल में पैसेंजर ट्रेनों की मांग के साथ  झारखंड आंदोलनकारी मंच ने वन अधिकार पट्टा में की जा रही कटौती का पुरजोर विरोध किया. इसको लेकर मंच  द्वारा गोईलकेरा हाट से एक रैली निकाली गई और प्रदर्शन किया गया. रैली के बाद गोइलकेरा हाट में सभा आयोजित की गई. वन अधिकार पट्टा में की जा रही कटौती से ग्रामीणों में उबाल देखा गया. वहीं गोईलकेरा में पिछले डेढ़ साल से एक्सप्रेस ट्रेनों का ठहराव ठप्प है, पैसेंजर ट्रेनें भी इस रूट पर नहीं के बराबर चल रही है. इसको लेकर झारखण्ड आंदोलनकारी मंच ने विरोध प्रदर्शन के दौरान रेलवे को भी चेताया. (नीचे भी पढ़ें)

विरोध प्रदर्शन के दौरान हजारों की संख्या में मौजूद ग्रामीण पारंपरिक हथियारों से लैस थे. वहीं प्रदर्शन के दौरान बिरसा मुंडा ने सरकार व रेलवे के खिलाफ जमकर नारेबाजी की. व्यवस्था दुरुस्त नहीं करने पर बड़े पैमाने पर आन्दोलन चलाने की बात भी कही गयी. बिरसा मुंडा ने कहा कि पिछली बार हमने रेलवे पर भरोसा किया और रेल चक्का जाम हटा लिया, लेकिन इस बार ट्रेनों के ठहराव व पैसेंजर ट्रेन की मांग पूरी नहीं हुई तो गोईलकेरा में अनिश्चितकालीन रेल चक्का जाम होगा. चाहे रेलवे जितनी चाहे उतना केस मुकदमा ग्रामीणों पर थोप दे, लेकिन इस बार रेलवे  द्वारा किए जा रहे अन्याय के खिलाफ ग्रामीणों का आन्दोलन थामेगा नहीं. विरोध प्रदर्शन के बाद उपायुक्त को संबोधित एक मांग पत्र मंच द्वारा गोइलकेरा प्रखंड कार्यालय में सौंपा गया. वहीं क्षेत्र में विकास कार्यों की सुस्ती और इलाके के पिछड़ेपन को लेकर मंच द्वारा स्थानीय विधायक व कैबिनेट मंत्री जोबा माझी पर भी निशाना साधा गया. ग्रामीणों को संबोधित करते हुए बिरसा मुंडा ने कहा कि वर्षों से सत्ता का सुख भोग रहीं मंत्री जोबा माझी अपने इलाके में एक सड़क तक नहीं बनवा पातीं. गोइलकेरा- सेरेंगदा सड़क की हालत देख क्षेत्र में विकास का अंदाजा लगाया जा सकता है. उन्होंने कहा कि जनता को होने वाली परेशानियों से मंत्री को कोई सरोकार नहीं है.

WhatsApp Image 2022-04-29 at 12.21.12 PM
WhatsApp-Image-2022-03-29-at-6.49.43-PM-1
Shiv Yog Physiotherapy And Yoga Classes
spot_img

Must Read

Related Articles

Don`t copy text!