Bahragoda : समीर महंती के शामिल होने से झामुमो खेमा उत्साहित, 2014 में झाविमो प्रत्याशी के रूप में समीर महंती को मिले थे 42,130 वोट

Advertisement
Advertisement
फाइल फोटो.

Chakuliya : भाजपा नेता समीर महंती बुधवार को अपने समर्थकों के साथ तामझाम से झामुमो में शामिल हो गए. इससे बहरागोड़ा विधानसभा क्षेत्र के झामुमो कार्यकर्ताओं में उत्साह है. पार्टी ने उनकी उम्मीदवारी पर मुहर तो नहीं लगाई है. परंतु यह तय माना जा रहा है कि इस विधानसभा क्षेत्र में समीर महंती ही झामुमो के तुरूप का पत्ता होंगे.
समीर महंती बहरागोड़ा विधानसभा क्षेत्र में एक जुझारू नेता के रूप में चर्चित हैं. वैसे तो समीर महंती ने आजसू उम्मीदवार के रूप में वर्ष 2004 और 2009 में चुनाव लड़ा. परंतु 2014 के विधानसभा चुनाव में झाविमो प्रत्याशी के रूप में उन्होंने दमखम दिखाया था. हालांकि इस चुनाव में वे तीसरे नंबर पर थे. मगर भाजपा को कड़ी चुनौती दी थी. भाजपा के प्रत्याशी डॉ दिनेशानंद गोस्वामी को 42, 618 वोट मिले थे वहीं समीर महंती को 42,130 मत मिले थे. उस चुनाव में झामुमो के उम्मीदवार कुणाल षाड़ंगी को 57,273 मत मिले थे और वे विजयी हुए थे. झामुमो समर्थकों का कहना है कि समीर महंती के उम्मीदवार होने से इस विधानसभा में जीत सुनिश्चित है.

Advertisement
Advertisement

– विद्युत वरण महतो ने झामुमो को छोड़ा तो कुणाल षाड़ंगी को पार्टी ने विधायक बना दिया. अब कुणाल षाड़ंगी ने झामुमो को छोड़ दिया है. इससे पार्टी पर कोई फर्क नहीं पड़ेगा. झामुमो से जो भी प्रत्याशी होगा वह विजयी होगा. बहरागोड़ा विधानसभा सीट पर झामुमो का कब्जा होगा. झामुमो इस क्षेत्र में जीत की हैट्रिक लगाएगा.
रामदास सोरेन, जिलाध्यक्ष झामुमो.

Advertisement
Advertisement
Advertisement

– बहरागोड़ा विधानसभा की सीट झामुमो की परंपरागत सीट बन गई है. इस सीट पर झामुमो का कब्जा था, है और रहेगा. झामुमो का उम्मीदवार इस विधानसभा चुनाव में भी भारी मतों से विजयी होगा.
आदित्य प्रधान, केंद्रीय सदस्य झामुमो.

Advertisement
Advertisement

Advertisement
Advertisement
Advertisement

Advertisement