spot_img

jharkhand election 2019-jamshedpur east-जमशेदपुर पूर्वी में रघुवर के खिलाफ जुटे लोग, सरयू राय के पक्ष में आया जनता दल यूनाइटेड, झामुमो पहले ही दे चुका है समर्थन, शत्रुघ्न सिन्हा, यशवंत सिन्हा, नीतिश कुमार कर सकते है प्रचार, गोड्डा के भाजपा सांसद निशिकांत दुबे ने भी सरयू राय के साथ फेसबुक पर फोटो किया साझा, किया मौन समर्थन

राशिफल

जमशेदपुर : जमशेदपुर पूर्वी विधानसभा चुनाव रोचक होने का संकेत मिलने लगा है. जहां बीते 25 सालों से जमशेदपुर पूर्वी विधानसभा भाजपा का अभेद्य किला रहा है, लेकिन इस बार इस किले में सुराख साफ देखा जा सकता है. वैसे इस सुराख का सूत्रधार कोई और नहीं बल्कि भाजपा के बागी झारखंड के राजनीति के चाणक्य माने जाने वाले सरयू राय होंगे ऐसा माना जा रहा है. हालांकि इसके लिए जिम्मेदार खुद भाजपा आलाकमान है, जिन्होंने इतने कद्दावर नेता का टिकट जमशेदपुर पश्चिम विधानसभा से काटकर उनके स्थान पर मुख्यमंत्री के करीबी को टिकट दे दिया. उधर टिकट काटे जाने की चर्चा होते ही सरयू राय ने अपना रास्ता अलग कर लिया और पहले तो जमशेदपुर पश्चिम और पूर्वी दोनों विधानसभा से निर्दलीय प्रत्याशी के रूप में लड़ने का फैसला ले लिया, लेकिन कल नामांकन के अंतिम दिन उन्होंने केवल जमशेदपुर पूर्वी विधानसभा सीट यानि भाजपा के पारंपरिक और मुख्यमंत्री रघुवर दास के अभेद्य किले में सुराख बनाने की ठान ली और नामांकन दाखिल कर चुनावी समर में कूद पड़े हैं. सरयू राय के चुनावी समर में कूदते ही लगभग संपूर्ण विपक्ष सरयू राय के साथ खड़ा हो गया है. जमशेदपुर पूर्वी विधानसभा सीटऔर पश्चिमी विधानसभा सीट से जदयू ने नामांकन दाखिल नहीं किया वहीं झारखंड मुक्ति मोर्चा ने खुलकर सरयू राय का समर्थन करने का फरमान जारी कर दिया. उधर केंद्रीय आलाकमान से निर्देश मिलते ही जदयू और झारखंड मुक्ति मोर्चा ने आज आपात बैठक बुलाई जहां शीर्ष नेतृत्व का हवाला देते हुए दोनों ही दलों के नेताओं ने सरयू राय के लिए तन- मन और धन से प्रचार प्रसार करने का एलान कर दिया है. हालांकि अभी भी झारखंड विकास मोर्चा और कांग्रेस चुनावी मैदान में डटे हुए हैं, लेकिन जिस तरह से सरयू राय को स्थानीय जनता और नेताओं का समर्थन मिल रहा है ऐसी संभावना है कि झारखंड विकास मोर्चा और कांग्रेस आलाकमान भी अंतिम समय में सरयू राय को समर्थन देने का फरमान जारी कर देगी. वैसे बीते 25 सालों से जमशेदपुर पूर्वी विधानसभा सीट पर सिर्फ और सिर्फ कमल ही खिलता आया है. बाकि विपक्ष में चाहे कोई भी प्रत्याशी रहा है उसे मुंह की खानी पड़ी है. ऐसे में पूरे झारखंड की राजनीति जमशेदपुर पूर्वी विधानसभा पर टिक गई है. जहां से मुख्यमंत्री के साथ पूर्व मंत्री सरयू राय की प्रतिष्ठा दांव पर लगी है. आपको बता दें कि सरयू राय को बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने फोन पर समर्थन करने और जरूरत पड़ने पर प्रचार और रोड शो भी करने का वायदा किया है. इसके अलावा शत्रुघ्न सिन्हा, यशवंत सिन्हा सरीखे नेताओं ने भी जरूरत पड़ने पर सहयोग का भरोसा दिलाया है. दूसरी ओर, गोड्डा से भाजपा सांसद निशिकांत दुबे ने भी सरयू राय का परोक्ष रुप से समर्थन किया है. गोड्डा के सांसद निशिकांत दूबे ने फेसबुक पोस्ट की है, जिसमें उन्होंने सरयू राय के साथ अपनी तस्वीर लगाकर मुनीर नियाजी का एक शेर को शेयर किया है, जिसमें उन्होंने लिखा है ”जानता हूं एक ऐसे शख्स को मैं भी मुनीर, गम से पत्थर हो गया मगर रोया नहीं.” इस पोस्ट को कई लोगों ने सराहा है और लाइक किया है. अनुशासन का डर लोगों को सता रहा है नहीं तो खुलकर सरयू राय के समर्थन में कुछ लोग आ सकते थे.

WhatsApp Image 2022-04-29 at 12.21.12 PM
WhatsApp-Image-2022-03-29-at-6.49.43-PM-1
Shiv Yog Physiotherapy And Yoga Classes
[adsforwp id="129451"]

Must Read

Related Articles

Don`t copy text!