spot_imgspot_img

Global Statistics

All countries
240,226,016
Confirmed
Updated on October 15, 2021 12:36 AM
All countries
215,798,951
Recovered
Updated on October 15, 2021 12:36 AM
All countries
4,893,452
Deaths
Updated on October 15, 2021 12:36 AM
spot_img

jharkhand election 2019-पश्चिम सिंहभूम में झामुमो सुप्रीमो शिबू सोरेन ने बोला सरकार पर हमला, गुरुजी बोले-बाहरी है रघुवर, झारखंड को लूटने आया है, झारखंड में ना रघुवर की चलेगी हवा और ना मोदी की हवा, केवल झामुमो की चलेगी बयार, शहीद देवेंद्र मांझी को श्रद्धांजलि देने जुटी भीड़, मंत्री और विधायक शहीद देवेंद्र की पत्नी जोबा को लोगों ने दिया रुपया, चावल, साड़ी

Advertisement
Advertisement

संतोष वर्मा
चाईबासा : सोमवार को पश्चिम सिंहभूम के गोइलकेरा के हाट मैदान में जंगल आंदोलन के नेता शहीद देवेन्द्र माझी की 25वीं पुण्यतिथि पर श्रद्धांजलि सभा का आयोजन किया गया. पार्टी द्वारा आयोजित कार्यक्रम में पूर्व मुख्यमंत्री शिबू सोरेन बतौर मुख्य अतिथि मौजूद थे. उन्होंने सभा में उपस्थित ग्रामीणों को संबोधित करते हुए कहा कि जल, जंगल व जमीन हमारी पहचान है. इसकी रक्षा करें. झामुमो ने आदिवासी-मूलवासियों के अस्तित्व की रक्षा के लिए संघर्ष किया और झारखंड अलग राज्य का निर्माण कराया. स्थानीय लोगों, आदिवासियों व मूलवासियों की भावनाओं को समझकर ही राज्य का विकास हो सकता है. राज्य की खनिज संपदा को किसी को भी लूटने नहीं देंगे. शिबू सोरेन ने कहा कि गरीब आदिवासियों के जीवन में बदलाव के लिए उन्हें शिक्षित व जागरूक किया जाना सबसे जरूरी है, इसलिए हर मां-बाप चाहे वह अमीर हो या गरीब अपने बच्चों को शिक्षा जरूर दें. सभा में पहुंचे दिशोम गुरू ने स्मारक स्थल पर शहीद देवेन्द्र माझी को श्रद्धांजलि दी. कार्यक्रम में सतारूढ भाजपा व राज्य के मुख्यमंत्री रघुवर दास झामुमो नेताओं के निशाने पर रहे. राज्य के मुखिया रघुवर दास को झामुमो नेताओं ने बाहरी करार दिया. चक्रधरपुर के विधायक शशिभूषण सामड ने कहा कि मुख्यमंत्री बेशर्मों की तरह जन आर्शीवाद त्रा कार्यक्रम कर रहे हैं बल्कि उन्होंने एक भी ऐसा काम नहीं किया है, जिसपर जनता उन्हें आर्शीवाद दे. झारखंड अलग राज्य स्थानीय लोगों के विकास के लिए बना है, लेकिन रघुवर दास की कृपा से यहां बाहरी राज कर रहे हैं. उन्होंने आजसू को भाजपा की बी टीम करार दिया. चाईबासा के विधायक दीपक बिरूवा ने कहा कि हर गली मुहल्ले में दारू की दुकान खुलवाने वाले मुख्यमंत्री झामुमो पर आदिवासियों को शराब पिलाने का आरोप लगाते हैं. सीएम सबसे बड़े धोखेबाज हैं. उन्होंने कहा था कि दिसंबर 2018 तक 24 घंटे बिजली नहीं दे पाया तो वोट नहीं मांगेंगे. यह वादा तो पूरा हुआ नहीं और वे वोट मांगने पहुंच गए. इसी तरह उनकी सभी योजनाओं का हाल है. मनोहरपुर की विधायक जोबा माझी ने कहा कि रघुवर सरकार विकास का झूठा ढोल पीट रही है. मनोहरपुर में आइटीआइ का निर्माण हुए कई बरस बीत गए, इसे चालू कराने के लिए विधायक के तौर पर कई बार मुख्यमंत्री से मांग की, लेकिन वे टालते रहे. जहां से झामुमो के विधायक हैं उन क्षेत्रों में पक्षपात किया जाता है. गोइलकेरा से गुदडी सेरेंगदा पथ का निर्माण जानबूझकर नहीं कराया जा रहा. सरायकेला के विधायक चंपई सोरेन ने कहा कि हार के डर से रघुवर दास दिशोम गुरू व हेमंत सोरेन को गाली देते हैं. यह उनकी हताषा को बयां कर रहा है. सोरेन परिवार पर जमीन खरीदने का झूठा आरोप लगाया जा रहा है जबकि शिबू सोरेन ने ही महाजनों से गरीबों की हजारों एकड जमीन मुक्त करा उन्हें वापस दिलाई थी. मौके पर पूर्व विधायक मंगल सिंह बोबोंगा, दीपक प्रधान, अकबर खान, गणेष बोदरा, आइलीना बरजो, हरीष बोदरा, मरियम चेरोवा, सोमवारी बहान्दा, दिनेष गुप्ता, दिनेष हांसदा, वन बिहारी प्रधान आदि उपस्थित थे.
जोबा को उपहार में दिए कपड़े व चावल
दिवंगत नेता देवेन्द्र माझी की श्रद्धांजलि सभा में प्रत्येक साल सामाजिक परंपरा की झलक दिख जाती है. कार्यक्रम में आने वाले दूर दराज के ग्रामीण आज भी विधायक जोबा माझी को उपहार में कपड़े, चावल व पैसे देते हैं. यह रस्म पिछले 24 सालों से निभाई जा रही है. जोबा भले ही एक जनप्रतिनिधि हैं लेकिन ग्रामीणों की नजर में वह आज भी उनके प्रिय नेता देवेन्द्र माझी की विधवा हैं. समाज की परंपरा के अनुसार उनकी मदद करना लोग अपना कर्तव्य समझते हैं इसलिए देवेन्द्र माझी की पुण्य तिथि पर उन्हें उपहार में कपड़े, अनाज व सामर्थ्य के अनुसार पैसे भी दिए जाते हैं. यह नेता के प्रति उनके भावनात्मक लगाव को दर्शाता है. विधायक जोबा माझी भी ग्रामीणों से मिले उपहार को सहर्ष स्वीकार करती हैं.
श्रद्धांजलि के लिए बलि देने की प्रथा
देवन्द्र माझी के स्मारक स्थल पर पषुओं की बलि देने की प्रथा भी है. ग्रामीण यहां देउरी के नेतृत्व में भेड़, बकरी व मुर्गे की बलि देते हैं. पारंपरिक रीति-रिवाज के अनुसार यह सब किया जाता है. गोइलकेरा में सोमवार को जोबा माझी द्वारा शहीद देवेन्द्र माझी के स्मारक पर उन्हें श्रद्धांजलि देने के बाद ग्रामीणों द्वारा पशुओं की बलि दी गई.
सुरक्षा रही चुस्त दुरूस्त
श्रद्धांजलि सभा कार्यक्रम के मद्देनजर पुलिस व प्रशासन द्वारा पूरे गोइलकेरा में सुरक्षा के चाक-चौबंद इंतजाम किए गए थे. सभा स्थल पर दंडाधिकारियों के साथ भारी तादाद मे पुलिस बल की तैनाती रही. इसके अलावा गोइलकेरा के इंदिरा चौक, मस्जिद चौक व रेलवे स्टेषन में भी फोर्स तैनात किए गए. बीडीओ सुधीर प्रकाश, थाना प्रभारी रोहित कुमार सिंह कार्यकम स्थल पर सुरक्षा का जायजा लेते रहे.
नाचते गाते पहुंचे समर्थक
कार्यक्रम में लोगों का आना षनिवार से ही आरंभ हो गया था. जिले के अनेक इलाकों से लोग श्रद्धांजलि सभा में पहुंचे थे. सोमवार सुबह से जोबा समर्थक व झामुमो कार्यकर्ता ढोल मांदर की थाप पर नाचते गाते कार्यक्रम स्थल पर पहुंचे. कार्यकर्ताओं ने मस्जिद चौक में जोबा माझी की आगवानी की.

Advertisement
Advertisement
WhatsApp Image 2020-06-13 at 7.45.22 PM
IMG-20200108-WA0007-808x566
WhatsApp Image 2020-06-13 at 7.45.22 PM (1)
WhatsApp_Image_2020-03-18_at_12.03.14_PM_1024x512
previous arrow
next arrow

Leave a Reply

spot_img

Must Read

Related Articles

Don`t copy text!