spot_img

ajsu-meeting-आजसू झारखंड के साथ बंगाल में भी बनेगा राजनीतिक विकल्प, 29 दिसंबर को झारखंड सरकार के खिलाफ हर पंचायत में बोलेगा ”हल्ला”

राशिफल

रांची : भाजपा की सहयोगी पार्टी आजसू पार्टी के रांची स्थित केंद्रीय कार्यालय में जिला प्रभारियों की बैठक आयोजित की गयी. इसमें नए पदाधिकारियों का स्वागत किया गया. बैठक की अध्यक्षता आजसू पार्टी के केंद्रीय अध्यक्ष एवं राज्य के पूर्व उपमुख्यमंत्री सुदेश कुमार महतो ने की. बैठक में वर्तमान सरकार की चुनावी घोषणाओं एवं सरकार के द्वारा किये गए कार्यों का मूल्यांकन किया गया. साथ ही राज्य में संगठन को और मजबूत करने को लेकर चर्चा की गयी. बैठक में तय किया गया कि 29 दिसम्बर को विश्वासमत के साथ विश्वासघात दिवस के रुप में मनाया जाएगा जिसके तहत सभी जिला मुख्यालयों में जन पंचायत आयोजित करेगी. यह दिन राज्य सरकार का स्थापना दिवस है. बैठक में यह निर्णय लिया कि 29 दिसम्बर को आजसू पार्टी विश्वासघात दिवस के रुप में मनाएगी. झामुमो महागठबंधन की सरकार ने राज्य की जनता के विश्वास के साथ विश्वासघात किया है. उन्होंने चुनाव पूर्व जो भी वादे किए थे उसके अनुरुप राज्य में कोई भी कार्य नहीं हुआ. स्थानीय नीति, पिछड़ों को आरक्षण, 25 करोड़ के सरकारी टेंडर सिर्फ स्थानीय को, बेरोजगारी भत्ता, 5 लाख रोज़गार, महिलाओं को 50 प्रतिशत आरक्षण, स्थायीकरण, किसान कर्ज माफी सहित कई ऐसे वादे हैं जो महागठबंधन ने अपने मेनिफेस्टो में की है लेकिन इन वादों को पूर्ण करने में यह सरकार पूरी तरह से विफल है. इन सभी विषयों को लेकर आजसू पार्टी झारखंड के हर जिला मुख्यालय में जनपंचायत लगाकर सरकार की नाकामियों को गिनाकर वर्तमान सरकार को आईना दिखाएगी. इसके अलावा तय किया गया कि संगठन में नए लोगों को अवसर दिया जाएगा. साथ ही नव वर्ष में नयी ऊर्जा, नए जोश के साथ पार्टी झारखण्डी जनता के मुद्दों पर मुखर होकर आंदोलन करेगी.

बंगाल चुनाव में आजसू हाथ आजमायेगी, जिसके तहत बैठक में यह निर्णय लिया गया कि 5 जनवरी को बंगाल में राज्यस्तरीय सम्मेलन का आयोजन किया जाएगा. अलग झारखंड राज्य के लिए जितना झारखंड के लोगों ने लड़ा है, उतना ही पुरुलिया, बांकुड़ा एवं मिदनापुर जिलों के लोगों ने लड़ा है. सम्मेलन के जरिये पार्टी इस क्षेत्र के मान, सम्मान, पहचान को अक्षुण्ण रखने के लिए स्वायत्तशासी परिषद गठन करने की मांग करेगी एवं जनमत संग्रह करेगी. जनवरी में आजसू पार्टी केंद्रीय सभा की बैठक तथा सदस्यता अभियान की शुरुआत की जाएगी. इसके साथ ही अनुषंगी इकाई की राज्य स्तरीय सम्मेलन का आयोजन भी किया जाएगा. समय पर पंचायत चुनाव न कराना सरकार की विफलता है. वर्तमान सरकार ने लोकतंत्र शब्द से लोक को हटाकर तंत्र को मजबूत करने का निर्णय लिया है. समय पर पंचायत चुनाव न कराकर गांव की आवाज को दबाने का काम कर रही है. इस बैठक में आजसू के नेताओं ने कहा कि झारखण्ड में कानून व्यवस्था पूरी तरह से चरमरा चुकी है. अपराध और दुष्कर्म की घटनाएं बढ़ रही हैं. एक साल के कार्यकाल में सबसे अधिक शोषित आदिवासी ही हो रहें है. वर्तमान सरकार ने किसानों को ठगने का कार्य किया है. किसान कर्जमाफी के नाम पर किसानों को कुछ नहीं मिला. किसान धान की फसल को 1200 रुपये प्रति क्विंटल बेचने के लिए विवश हैं. यह तब है, जब केंद्र सरकार ने धान का न्यूनतम समर्थन मूल्य 2050 रुपये प्रति क्विंटल घोषित कर दिया है. इस मौके पर पार्टी के केंद्रीय अध्यक्ष सुदेश कुमार महतो ने सभी नवनियुक्त पदाधिकारी एवं प्रभारियों का स्वागत एवं अभिनन्दन करते हुए कहा कि उन्हें पूर्ण विश्वास है कि सभी अपने दायित्व का निर्वहन पूर्ण निष्ठा एवं ईमानदारी के साथ करेंगे तथा पार्टी को नई ऊंचाइयों तक ले जाएंगे.

[metaslider id=15963 cssclass=””]

WhatsApp Image 2022-04-29 at 12.21.12 PM
WhatsApp-Image-2022-03-29-at-6.49.43-PM-1
Shiv Yog Physiotherapy And Yoga Classes
spot_img

Must Read

Related Articles

Don`t copy text!