ayodhya-ram-mandir-अयोध्या में राम मंदिर का शिलान्यास- झारखंड में हलचल, भाजपा ने मांगी मंदिरों व देवस्थानों पर पूजा की अनुमति, पूर्व मुख्यमंत्री रघुवर दास ने जमशेदपुर सूर्य मंदिर में की आयोजन की तैयारी, पूर्व मुख्यमंत्री बाबूलाल मरांडी ने आदिवासी पुजारियों के जत्थे को किया अयोध्या रवाना

Advertisement
Advertisement
भाजपा के प्रदेश प्रवक्ता कुणाल षाड़ंगी.

जमशेदपुर : वैसे तो पूरे भारत के हिंदूओं की मुराद 5 अगस्त को अयोध्या में राम मंदिर के शिलान्यास होने के बाद पूरी होने जा रही है, वहीं इसकी हलचल झारखंड में भी सुनायी दे रही है. झारखंड में इसको लेकर कई गतिविधियां सामने आयी है. इस बीच भाजपा ने झारखंड की सरकार से इजाजत मांगी है कि 5 अगस्त को मंदिरों को खोला जाये ताकि विशेष पूजन किया जा सके. भाजपा के प्रदेश प्रवक्ता और पूर्व विधायक कुणाल षाड़ंगी ने एक प्रेस बयान जारी की है. इसके तहत भाजपा ने कहा है कि पवित्र तीर्थ स्थल और रामजन्मभूमि अयोध्या में भव्य श्रीराम मंदिर निर्माण हेतु पवित्र भूमि पूजन को लेकर देशभर में उल्लास का माहौल है. वहीं झारखंड में कोरोना के कारण मंदिर एवं हिंदू देवस्थानों में लागू पाबंदियों से राम भक्तों के जश्न फ़ीका पड़ने के आसार को देखते हुए तत्काल खोलने की मांग की है. कुणाल ने कहा कि राज्य के सभी मंदिरों और देवस्थानों को राम जन्मभूमि में मंदिर की आधारशिला रखने के अवसर पर विशेष पूजन, धार्मिक आयोजन, सुंदरकांड पाठ, रामधुन बजाने सहित दीपोत्सव के आयोजन की अनुमति दी जाये. भाजपा प्रवक्ता कुणाल षाड़ंगी ने कहा कि लोकभावना और प्रभु राम के प्रति अप्रतिम स्नेह, सम्मान की भावना को देखते हुए उत्तरप्रदेश और मध्यप्रदेश शासन ने ऐसी व्यवस्था को स्वीकृति दी है. ऐसे में झारखंड सरकार की चुप्पी समझ से परे है. भाजपा प्रवक्ता कुणाल षाड़ंगी ने कहा कि श्रीराम मंदिर का निर्माण राष्ट्रीय स्वाभिमान का विषय है. श्रीराम सबके हैं, हर वर्ग जाती और पंथ के लोगों की अटूट आस्था है उनके प्रति. सैकड़ों वर्षों के कठिन परिश्रम, प्रतीक्षा, चुनौतियों और क़ानूनी व्यवधानों को पार कर श्रीराम जन्मभूमि में प्रभु राम के भव्य मंदिर निर्माण की आधारशिला रखे जाना सर्वोच्च आस्था का विषय है. देश सहित समूचे विश्व के रामभक्तों के बीच ग़ज़ब का उत्साह और उल्लास है. ईश्वर के प्रति अटूट और अप्रतिम आस्था कोरोना महामारी पर भारी होती दिखती है. मंदिर निर्माण के शुभ समाचार से समूचे देश में सकारात्मक ऊर्ज़ा का संचार हुआ है. मंदिर के भूमि पूजन का यह कार्यक्रम राष्ट्रीय एकता, अखंडता और बंधुत्व का भी परिचायक है. भाजपा ने कहा कि झारखंड सरकार को इस आशय में अविलंब हस्तक्षेप करते हुए सर्वोच्च प्राथमिकता से उचित शासनादेश जारी करनी चाहिए जिससे लोकभावना और आस्था का हर हाल में सम्मान हो सके.

Advertisement
Advertisement
पूर्व मुख्यमंत्री रघुवर दास अपनी टीम के साथ सिदगोड़ा सूर्य मंदिर में तैयारियों का जायजा लेते हुए.

पूर्व मुख्यमंत्री रघुवर दास की श्री राम मंदिर आंदोलन से जुड़ी यादें, खुद सूर्यधाम में शुरू करायी पूजा अर्चना
राज्य के पूर्व मुख्यमंत्री रघुवर दास ने भी राम मंदिर के आंदोलन से जुड़ी यादों को साझा किया है. श्री दास ने इस बीच इसकी खुशी में सिदगोड़ा स्थित सूर्यधाम में पूजा अर्चना शुरू कर दी है. पूजा अर्चना के साथ ही सिदगोड़ा के सूर्यधाम में दीपोत्सव मनाया जा रहा है. 4 अगस्त से इसका लाइव प्रसारण शुरू कर दिया गया है जबकि विशेष पूजा अर्चना भी शुरू क दिया गया है. रघुवर दास ने कहा है कि यह खुशी का माहौल है और इसमें सारे लोग शरीक हो रहे है.

Advertisement
Advertisement
Advertisement
रांची में पूर्व मुख्यमंत्री बाबूलाल मरांडी द्वारा अयोध्या के राम मंदिर के लिए मिट्टी व पाहन को रवाना करते हुए.

पूर्व मुख्यमंत्री बाबूलाल मरांडी ने राम मंदिर के लिए सरना स्थल की मिट्टी को किया रवाना
भाजपा नेता और पूर्व मुख्यमंत्री बाबूलाल मरांडी ने अयोध्या के राम मंदिर के लिए सरना स्थल की मिट्टी को रवाना किया. रांची में आयोजित एक समारोह में सरना झंडा दिखाकर पाहनों (पुजारियों) के जत्थे को अयोध्या के लिए रवाना किया. इस मौके पर बाबूलाल मरांडी ने कहा कि आदिवासियों का संबंध भगवान प्रभु श्रीराम से है. 14 साल आदिवासियों के बीच भगवान श्रीराम ने वनवास काटा था. जब सीता माता का हरण हो गया था, तब लंका की लड़ाई में आदिवासियों के पूर्वजों ने ही साथ दिया था. झारखंड के लिए यह सौभाग्य की बात है कि यहां की मिट्टी अयोध्या जा रही है.

Advertisement

सरयू राय की पार्टी भी खुशियां मनायेगी
सरयू राय की पार्टी भी अयोध्या में राम मंदिर के शिलान्यास के मौके पर खुशियां मनायेगी. भारतीय जनता मोरचा की ओर से इसकी अधिकारिक जानकारी दी गयी है. पार्टी के नेताओं ने कहा है कि अयोध्या मामले को लेकर काफी खुश है और यह खुशी का पल है और ऐसे समय में खुशियां वे लोग मनायेंगे, जिसका आदेश विधायक सरयू राय की ओर से दिया गया है.

Advertisement

Advertisement
Advertisement

Advertisement
Advertisement
Advertisement

Advertisement