spot_img

jamshedpur-bjp-attacks-congress-jmm-भाजपा ने कहा-भारत बंद पूरी तरह टाय-टाय फिस्स, जनता ने ही कर दिया विरोध, सरकारी गुंडागर्दी कर रहे थे सत्ताधारी दल, जानें किस नेता ने क्या कहा

राशिफल

जमशेदपुर : भाजपा जमशेदपुर ने भारत बंद को पूर्ण रूप से असफल करार दिया है. सोमवार शाम जारी प्रेस विज्ञप्ति में भाजपा महानगर अध्यक्ष गुंजन यादव ने भारत बंद को पूर्ण रूप से बेअसर बताया. उन्होंने कहा कि पग-पग में अपना चाल और चरित्र बदलने वाली झामुमो-कांग्रेस समेत अन्य विपक्षी दल किसानों के नाम पर अपनी राजनीतिक रोटी सेंकने का प्रयास कर रही है. हेमंत सरकार पर निशाना साधते हुए उन्होंने कहा कि राज्य सरकार की कथनी और करनी में बड़ा अंतर है, एक ओर तो वो किसानों के लिए खड़े होने का ढोंग करती है. तो वहीं, और दूसरी ओर राज्य में धान की सरकारी क्रय पर रोक लगाई है. राज्य में किसानों के लिए प्रारंभ की गई मुख्यमंत्री कृषि आशीर्वाद योजना बंद कर झामुमो किसानों के हमदर्द बनने का स्वांग रच रही है. वहीं, भाजपा महानगर प्रवक्ता प्रेम झा ने कहा कि पूरे प्रदेश में किसान प्रदर्शन करते कहीं नहीं दिखे बल्कि झामुमो-कांग्रेस-राजद के कार्यकर्ता ही दिखे. कहा कि नई कृषि नीति से किसान नहीं कांग्रेस परेशान दिख रही है. कहा कि जिस तरह से साकची बाजार समेत पूरे प्रदेश में तथाकथित भारत बंद के नाम पर सत्ताधारी दल के कार्यकर्ताओं की अराजकता देखी गयी वो स्वस्थ लोकतंत्र में कभी स्वीकार नहीं किया जा सकता है.इधर, भाजपा के जिला महामंत्री अनिल मोदीं नें कृषि बिल के विरोध में विपक्षी दल समर्थित किसानों के भारत बंद को जमशेदपुर में असफल करार दिया है. उन्होनें कहा कि जमशेदपुर में यह बंद टॉय टॉय फिस्स हो गया. झामुमो कांग्रेस कार्यकर्ताओं की गुंडागर्दी के बावजूद शहर में आम दिनों की तरह कामकाज हुआ. उन्होनें कहा कि बंद की असफलता नें यह साबित कर दिया की आम जनता और असली किसान इस बिल के साथ है. उन्होनें कहा कि दरअसल यह एक प्रायोजित आंदोलन है. आम किसानों का इस आंदोलन से कोई वास्ता नहीं है. देश का असली किसान तो इस बिल में अपनी खुशहाली देख रहा है. उन्होंने कहा कि कांग्रेस और झामुमों को तो इस कृषि बिल के विरोध का नैतिक अधिकार नही है क्योंकि किसानों के हित की बात करने वाली इन पार्टियों ने झारखंड में कृषि आशीर्वाद योजना को बंद कर एवं कृषि बीमा योजना के प्रीमियम को समाप्त कर किसानों को नुकसान पहुचानें का काम किया है. उन्होंने कहा कि आज बंदी के दौरान झामुमो ओर कांग्रेस कार्यकर्ताओं ने दुकानदारों से जिस तरह जोर जबरदस्ती ओर गुंडागर्दी की है. वह निंदनीय है. दूसरी ओर, भाजपा नेता विकास सिंह ने कहा है कि आज की बंदी पूरी तरह असफल रही. कांग्रेस समर्थकों ने पुलिस प्रशासन की मदद से जनता को परेशान करने का काम किया है. उन्होंने कहा कि उन्होंने अपनी आंखों से देखा है एनएच 33 में पुलिस के सामने बड़े वाहन के शीशे तोड़ दिए गए. साथी बड़ी लोरी को ट्रक में आड़े तिरछे करके खड़ा कर दिया, जिससे एंबुलेंस को भी जाने में तकलीफ होने लगी. उन्होंने सिटी एसपी को फोन करके मामले की जानकारी दी और बताया कि आप स्वयं संज्ञान ले अन्यथा जनता सड़क पर उतरकर बंदीधारियों से निपट लेगी, उसके तुरंत बाद मानगो थाना के थानेदार ने उनको फोन करके घटनास्थल की जानकारी मांगी. उन्होंने जानकारी दिया कि तब वहां से बंद करवाने वाले समर्थक भागे. भाजपा जमशेदपुर महानगर के पूर्व जिला अध्यक्ष व जमशेदपुर पश्चिम से विधायक के लिए प्रत्याशी रहे देवेंद्र सिंह ने कहा कि विपक्ष द्वारा भारत बंद बुरी तरह असफल रही. भारत के किसानों ने विपक्ष की इस आंदोलन को समर्थन नहीं दिया. किसान जानते हैं कांग्रेस, आरजेडी, सपा, अकाली दल, एनसीपी, वामदल, इत्यादि विपक्षी दल केवल मोदी के खिलाफ लामबंद हुए हैं. ये सभी किसानों के हितैषी नहीं है. किसानों को यह भी मालूम है कि प्रधानमंत्री नरेंद्र भाई मोदी द्वारा लाया गया किसान बिल किसानों के लिए लाभकारी है और दलालों की काली कमाई बंद होने वाली है. किसान तथाकथित नेताओं के बहकावे में आने वाले नहीं है. देश की जनता भी यह समझ रही है कि किसान का मुखौटा पहनकर विपक्ष केवल मोदी के खिलाफ राजनीति कर रहा है, टुकड़े-टुकड़े गैंग भी इस आंदोलन के अवसर का लाभ उठाकर भारत विरोधी गतिविधियों में भी लग गया है. जनता सब देख रही है. (नीचे पढ़ें)

कांग्रेस एवं झामुमो की गठबंधन सरकार ने किसानों को ठगा है : डाॅ गोस्वामी
भारतीय जनता पार्टी के पूर्व प्रदेश अध्यक्ष डाॅ दिनेशानंद गोस्वामी ने कहा कि राज्य की कांग्रेस व झामुमो की गठबंधन सरकार ने किसानों को ठगा है तथा आज इन पार्टियां किसानों के लिए घड़ीआली आँसू बहा रही है.
डाॅ गोस्वामी ने कहा कि राज्य की पूर्ववर्ती भाजपा सरकार ने किसानों को कृषि कार्य में सहयोग के लिए कृषि आशीर्वाद योजना के तहत आर्थिक सहयोग प्रदान कर रही थी । परन्तु हेमन्त सरकार के गठन के साथ ही किसानों की अत्यंत महत्वाकांक्षी योजना बंद कर दी गई । झारखंड विशेषकर कोल्हान कृषि प्रधान क्षेत्र है । राज्य में सरकार द्वारा अब तक धान क्रय केन्द्र न खोले जाने के कारण किसानों को अपने मेहनत का फसल धान 12 सौ रूपये प्रति क्विंटल बेचने के लिए विवश होना पड़ रहा है । जबकि केन्द्र सरकार ने धान का न्यूनतम समर्थन मूल्य 2050 रूपए प्रति क्विंटल घोषित किया है ।डाॅ गोस्वामी ने कहा कि आज के भारत बंद का कोल्हान में कोई असर नहीं पड़ा । सूबे के किसान इस बंद से अलग रहे । डाॅ गोस्वामी ने कहा कि प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी किसानों के हितैषी हैं । भाजपानीत केन्द्र सरकार किसानों की आय दुगुनी करने के लिए कृतसंकल्प है ।

[metaslider id=15963 cssclass=””]
WhatsApp Image 2022-04-29 at 12.21.12 PM
WhatsApp-Image-2022-03-29-at-6.49.43-PM-1
Shiv Yog Physiotherapy And Yoga Classes
[adsforwp id="129451"]

Must Read

Related Articles

Don`t copy text!