spot_img

jamshedpur-bjp-जुगसलाई ओवरब्रिज पर भाजपा ने खोला राज्य सरकार के खिलाफ मोर्चा, मंत्री बन्ना गुप्ता और फाइल लौटाने की घटना को भाजपा ने बताया साजिश, चेतावनी दी-रोड़े अटकाना बंद करे हेमंत सरकार

राशिफल

जमशेदपुर : जमशेदपुर के जुगसलाई ओवरब्रिज के निर्माण की सोच को धरातल पर उतारने का श्रेय सिर्फ और सिर्फ भारतीय जनता पार्टी को जाता है. भाजपा सरकार में ओवरब्रिज के निर्माण कार्य का शिलान्यास हुआ और काम तेज गति से आगे बढ़ा. परंतु बदकिस्मती से भाजपा सरकार बदलते ही निर्माण कार्य भी लटक गया है. उपरोक्त बातें गुरुवार को भाजपा महानगर अध्यक्ष गुंजन यादव ने आयोजित प्रेस-वार्ता में कही. साकची स्थित जिला कार्यालय में प्रेस को संबोधित करते हुए उन्होंने कहा कि ओवरब्रिज की मांग को सालों से भाजपा जुगसलाई मंडल के नेता व कार्यकर्ता जुगसलाई की सुधि जनता के साथ उठाते उठाते रहे हैं. इस आवाज को राष्ट्रीय स्वर देते हुए अविभाजित सिंहभूम के तत्कालीन सांसद रुद्र प्रताप षाड़ंगी ने लोकसभा में ओवरब्रिज का मुद्दा उठाया था. झारखंड राज्य अलग होने के पश्चात जब रेलवे ओवरब्रिज के लिए रेलवे ओर राज्य सरकार के बीच सैद्धान्तिक सहमति बनी थी तो तत्कालीन मुख्यमंत्री अर्जुन मुंडा नें राज्य सरकार की ओर से ओवरब्रिज निर्माण में आधी राशि देने को मंजूरी प्रदान की. वर्ष 2014 में जब जमशेदपुर के सांसद विद्युत वरण महतो निर्वाचित हुए और प्रदेश में रघुवर दास के नेतृत्व में भाजपा की पूर्ण बहुमत की सरकार बनी तब इस दिशा में प्रयास आगे बढ़ा. उस समय केंद्र और राज्य सरकारों ने एक सुर, एक लय, एक ताल में बात की और नवंबर 2018 में तत्कालीन मुख्यमंत्री रघुवर दास एवं सांसद विद्युत वरण महतो ने संयुक्त रूप से ओवरब्रिज का शिलान्यास किया. इस शिलान्यास के पीछे तत्कालीन मुख्यमंत्री रघुवर दास ओर सांसद विद्युत वरण महतो के अथक प्रयासों को कौन नकार सकता है. उसके पश्चात युद्धस्तर पर ओवरब्रिज निर्माण का कार्य प्रारंभ हुआ. परंतु बदकिस्मती से 2019 के चुनावों में भाजपा सरकार के हटने के बाद ओवरब्रिज के निर्माण कार्य में शिथिलता आ गयी है. रोज कोई न कोई नया पैतरा लगाकर निर्माण कार्य को लंबित किया जा रहा है. उन्होंने कहा कि इतने सालों में आज तक कांग्रेस और झामुमो के किसी नेता ने ओवरब्रिज के निर्माण के लिए आवाज नहीं उठाई और आज जब ओवरब्रिज शिलान्यास हो गया है तो उसके निर्माण में तेजी लाने के बजाय उन्हें बाधित कर सारा दोष भाजपा पर मढ़ रहें है. उन्होनें कहा कि निर्माण में अतिशय विलंब होने से जब भाजपा कार्यकर्ताओं के साथ आम जनता का आक्रोश बढ़ने लगा तो कांग्रेस के मंत्री बन्ना गुप्ता और झामुमो के विधायक मंगल कालिंदी ओवरब्रिज निर्माण कार्य का दौरा कर, अधिकारियों को स्पॉट पर बुलाकर और उन्हें निर्देश देकर जनता को दिग्भ्रमित करने का कार्य कर रहे हैं. उन्होनें कहा कि विगत सप्ताह प्रदेश के स्वास्थ्य मंत्री बन्ना गुप्ता ने मीडियाकर्मियों के साथ स्थल का दौरा किया और जनता को बताया कि उनके निर्देश पर ब्रिज का काम पुनः शुरू कर दिया गया है. परंतु आश्चर्य की बात यह है कि उनके दौरे के दूसरे दिन ही चीफ इंजीनियर ने आरओबी के अप्रोच में खामी बताकर फ़ाइल वापस लौटा दी. गुंजन यादव ने कहा कि मंत्री बन्ना गुप्ता को यह बताना चाहिए कि वे कार्य प्रगति देखने गए थे अथवा डिज़ाइन में खामी ढूंढने. मंत्री का दौरा और उसके दूसरे ही दिन फ़ाइल वापसी की टाइमिंग आमजनों के बीच भ्रम पैदा कर रही है. फ़ाइल वापसी से अब फिर निर्माण कार्य लंबित होगा. उन्होंने कहा कि ऐसे ही पैतरे लगाकर सरकार लगातार ओवरब्रिज के निर्माण कार्य को लटका रही है. जिलाध्यक्ष गुंजन यादव ने दावे से कहा कि यदि आज प्रदेश में भाजपा की सरकार होती तो अभी तक ओवरब्रिज का स्वप्न साकार रूप ले चुका होता. वहीं, उन्होंने चेतावनी के लहजे में कहा यदि अब ओवरब्रिज निर्माण में और विलंब हुआ तो भाजपा स्थानीय जनता के साथ मिलकर विशाल आंदोलन का मार्ग प्रशस्त करेगी. प्रेस-वार्ता के दौरान भाजपा जिला महामंत्री अनिल मोदी, महामंत्री राकेश सिंह एवं जुगसलाई मंडल अध्यक्ष हनु जैन उपस्थित थे.

WhatsApp Image 2022-04-29 at 12.21.12 PM
WhatsApp-Image-2022-03-29-at-6.49.43-PM-1
Shiv Yog Physiotherapy And Yoga Classes
spot_img

Must Read

Related Articles

Don`t copy text!