jamshedpur-west-bjp-जमशेदपुर पश्चिम भाजपा में लगी है आग, दीपू सिंह को इग्नोर करने का नतीजा, तीन महिला नेताओं ने छोड़कर सरयू का दामन थाम लिया, कई और छोड़ने की तैयारी

Advertisement
Advertisement
भारतीय जनमोरचा में शामिल होती भाजपा की महिला नेता.

जमशेदपुर : जमशेदपुर भाजपा महानगर अध्यक्ष गुंजन यादव के जिला अध्यक्ष बनने के साथ ही मुश्किलों का दौर थमता नजर नहीं आ रहा है. सबसे ज्यादा परेशानी तो जमशेदपुर पश्चिम विधानसभा क्षेत्र में देखने को मिल रहा है. वहां भगदड़ जैसे हालात नजर आ रहे है. हालात यह है कि जमशेदपुर पश्चिम विधानसभा के सबसे बड़े एरिया कदमा मंडल में तो भगदड़ जैसी स्थिति है. वहां मंडल अध्यक्ष दीपू सिंह को हटाया गया और राजेश सिंह को अध्यक्ष बना दिया गया, लेकिन पार्टी के किसी भी जगह पर दीपू सिंह को नहीं दिया जाना पार्टी को नुकसान पहुंचा रहा है. यह देखने को शुक्रवार को मिल गया जब भाजपा की कदमा मंडल की महिला मोरचा महामंत्री साधना मिश्रा, किरण सिंह और चंदा बनर्जी ने जमशेदपुर पूर्वी के विधायक और पूर्व मंत्री सरयू राय के प्रति अपनी आस्था जताते हुए भारतीय जनमोरचा का दामन थाम लिया है.

Advertisement
Advertisement
भाजपा के कदमा मंडल के पूर्व अध्यक्ष दीपू सिंह.

भारतीय जनमोरचा में शामिल होने का कारण भी इन तीनों महिलाओं ने पार्टी में कर्तव्यनिष्ठ नेताओं और कार्यकर्ताओं की अनदेखी करना बताया जा रहा है. इसको लेकर इन लोगों ने फेसबुक अपने दिल का भड़ास भी निकाला और भारतीय जन मोरचा का दामन थाम लिया है. इस तरह आने वाले दिनों में जमशेदपुर पश्चिम में मुश्किलें भाजपा के लिए बढ़ सकती है. दीपू सिंह ने पहले ही आरोप लगाया था कि भाजपा के पूर्व प्रत्याशी और पूर्व जिला अध्यक्ष देवेंद्र सिंह के कारण ही पार्टी की स्थिति खराब हो रही है और जमशेदपुर पश्चिम में भाजपा कमजोर हो रही है. वैसे यह समीक्षा की बात होगी कि आखिर जहां भाजपा का गढ़ जमशेदपुर पश्चिम को माना जाता था, वहां बिना किसी चुनाव से ही पार्टी छोड़कर क्यों लोग जाने लगे है. यह जरूर चिंता का विषय बन चुका है.

Advertisement

Advertisement
Advertisement

Leave a Reply