spot_img
रविवार, जून 20, 2021
spot_imgspot_img

jharkhand-ex-cm-raghuvar-das-महिला विश्वविद्यालय एवं प्रोफेशनल कॉलेज भवन का रघुवर दास ने किया भ्रमण, सरकारी उदासीनता के मकडज़ाल में फंसी उच्च एवं तकनीकि शिक्षा

Advertisement
Advertisement

जमशेदपुर : युवाओं के प्रेरणा स्तंभ स्वामी विवेकानंद की सोंच के अनुरूप युवा झारखंड निर्माण को ध्यान में रखते हुए राज्य की पूर्ववर्ती भाजपा सरकार ने झारखंड की औद्योगिक राजधानी जमशेदपुर में महिला विश्वविद्यालय एवं प्रोफेशनल कॉलेज की स्थापना के लिए कदम उठाया था, वह वर्तमान सरकार की उदासीनता के मकडज़ाल में फंस गया है. मंगलवार को जमशेदपुर स्थित महिला विश्वविद्यालय एवं प्रोफेशनल कॉलेज भवन का परिभ्रमण करने के बाद पूर्व मुख्यमंत्री एवं भाजपा के राष्ट्रीय उपाध्यक्ष रघुवर दास ने यह बात कही है. उन्होंने बताया कि 84 करोड़ की लागत से बन रहे महिला विश्वविद्यालय के दो भवन का निर्माण अगले तीन माह में पूरा हो जायेगा. दूसरी तरफ 26 करोड़ की लागत से बने प्रोफेशनल कॉलेज के भवन का उद्घाटन विगत विधानसभा चुनाव से पूर्व उन्होंने स्वयं किया था, लेकिन अभी तक यहां पाठ्यक्रम शुरू करने में सरकार कोई दिलचस्पी नहीं ले रही है.

Advertisement
Advertisement

कॉलेज भवन के दीवरों पर मकड़ों का घर बना हुआ है. इस कॉलेज में एमबीए, बीबीए व अन्य जॉब ऑरिएंटल कोर्स और कौशल विकास से जुड़े पाठ्यक्रम की शिक्षा प्रारंभ होनी है. इस सिलसिले में उन्होंने हाल में राज्यपाल द्रौपदी मुर्मू से मुलाकात की थी. उन्होंने राज्यपाल से आग्रह किया था कि महिला विश्वविद्यालय के लिए पदों का सृजन कर भर्ती की प्रक्रिया यथाशीघ्र प्रारंभ करा कर विश्वविद्यालय के उद्घाटन का मार्ग प्रशस्त कराये तथा रोजगार आधारित पाठ्यक्रम एवं कौशल विकास के लिए बनाये गये प्रोफेशनल कॉलेज प्रारंभ कराने के लिए अविलंब प्रयास किया जायें. श्री दास ने राज्य के हेमंत सरकार की आलोचना करते हुए कहा कि युवाओं की उन्नति का झासा देकर हेमंत सोरेन ने सरकार तो बना ली लेकिन इसके बाद युवाओं को पूरी तरह से भुला दिया. झारखंड के युवा स्वयं को ठगा महसूस कर रहे हैं. पूर्ववर्ती भाजपा सरकार ने स्वामी विवेकानंद के अध्यात्मिक शैक्षणिक विकास को ध्यान में रखते हुए राज्य में शिक्षा के क्षेत्र में जो साकारात्मक कदम उठाये थे जिसमें जमशेदपुर में महिला विश्वविद्यालय और प्रोफेशनल कॉलेज की स्थापना के अलावा राज्य में रक्षा विश्वविद्यालय, मेडिकल कॉलेज एवं तकनीकि शिक्षा पर आधारित संस्थानों का निर्माण कराना शामिल है. उन्होंने कहा कि स्वामी विवेकानंद राष्ट्र के विकास के लिए शिक्षा का विकास जरूरी मानते थे और इसी उद्देश्य की पूर्ति के लिए हमारी सरकार ने यह कदम उठाया था. पूर्व मुख्यमंत्री ने बताया कि जमशेदपुर में महिला विश्वविद्यालय की स्थापना से कई नये पाठ्यक्रम प्रारंभ होंगे- जिनमें विभिन्न भाषाओं में एमए, जर्मन, फ्रेंच भाषाओं हो एवं कुरमाली भाषा पाठ्यक्रम में स्नातकोत्तर शामिल है, वहीं लोक प्रशासन, सामाजिक एवं श्रम कल्याण में स्नातकोत्तर, मनोवैज्ञानिक एवं व्यवहार विज्ञान, आर्थिक पर्यावरण, शिक्षा में मानव अधिकारों और मूल्यों में एमए की पढ़ाई भी होनी है. इसके अलावा स्कूल ऑफ साइंस के क्षेत्र में एमएससी (बायोटेक), कृषि एवं औषधीय पौध में बीएससी, एक्स-रे प्रौद्योगिकी, नर्सिंग में बीएससी के पाठ्यक्रम शामिल होंगे. अन्य पाठ्यक्रमों में स्कूल ऑफ कॉमर्स एंड मैनेजमेंट, एजुकेशन, स्कूल ऑफ लॉ, स्कूल ऑफ इंजीनियरिंग तथा स्कूल ऑफ फिजिकल साइंस के विभिन्न पाठ्यक्रम शामिल किए जाने हैं. पूर्व मुख्यमंत्री ने राज्य सरकार से आग्रह किया है कि राज्य के व्यापक हित में जमशेदपुर स्थित महिला विश्वविद्यालय और प्रोफेशनल कॉलेज अविलंब चालू किया जाए.

Advertisement

Advertisement
Advertisement

Leave a Reply

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.

Must Read

Related Articles

Don`t copy text!