jharkhand-gangrape-case-दुमका गैंगरेप व हत्या मामले में पीड़ित परिवार से मिलने पहुंचे मुख्यमंत्री हेमंत सोरेन के भाई और झामुमो प्रत्याशी बसंत सोरेन, दिया विवादित बयान-आरोपियों को समाज के बीच छोड़ दें, समाज फैसला कर लेगा, न्यायिक दंड से यहीं सजा बेहतर

Advertisement
Advertisement
बसंत सोरेन.

दुमका : दुमका में हुए गैंगरेप के बाद हत्या की घटना के बाद शनिवार को मुख्यमंत्री हेमंत सोरेन के भाई और दुमका सीट पर झामुमो प्रत्याशी बसंत सोरेन पीड़ित परिवार से मिलने के लिए पहुंचे. उन्होंने परिवार को आश्वासन दिया कि जल्द ही दोषियों को पकड़ा जायेगा और उनको सजा दिलाया जायेगा. इस दौरान मुख्यमंत्री हेमंत सोरेन के भाई बसंत सोरेन ने गैंगरेप को लेकर अपना बयान दिया. अपने बयान में बसंत सोरेन ने कानून के खिलाफ बयान जारी किया, जिसमें उन्होंने कहा कि गैंगरेप के आरोपियों को समाज के बीच छोड़ दिया जाना चाहिए. समाज में घिनौना काम करने वालों के खिलाफ समाज ही फैसला कर लेगा. यह न्यायिक दंड से भी बेहतर दंड होगा, जो जनता भी चाहती है. हेमंत सोरेन के भाई बसंत सोरेन ने यह बयान उस वक्त दिया है जब एक दिन पहले खुद मुख्यमंत्री हेमंत सोरेन ने कहा था कि फास्ट ट्रैक कोर्ट में आरोपियों को सजा दिलायी जायेगी. कोई आरोपी बख्शा नहीं जायेगा. आपको बता दें कि दुमका के रामगढ़ थाना क्षेत्र के ठाड़ी गांव में 12 साल की बच्ची के साथ शुक्रवार को गैंगरेप और हत्या कर दी गयी थी. दुमका में उपचुनाव होने वाला है और यह मुख्यमंत्री का विधानसभा क्षेत्र था, जहां उनके सीट खाली करने के बाद फिर से चुनाव हो रहा है और बसंत सोरेन वहां से प्रत्याशी है. दुमका मेडिकल कॉलेज में वे परिवार से मिले और दुख जताया और कहा कि यह घटना दुखद है, जो इस तरह के काम करते है, उनको न्यायिक नहीं सामाजिक दंड देना चाहिए. ऐसे लोगों को समाज के बीच छोड़ देना चाहिए, समाज इसका फैसला कर देगा, जो बेहतर होगा. बसंत सोरेन ने पत्रकारों के सवालों पर फिर से कहा कि वे बार बार यह बात कहेंगे कि आरोपियों को समाज के बीच छोड़ देना चाहिए, समाज उनका फैसला कर लेगा. मामले को लेकर राजनीतिक रंग देना बेवकूफी है. कोई भी सामान्य आदमी अगर इस घटना के बारे में जानेगा और सुनेगा तो आहत जरूर होगा और सभी राजनीतिक दलों से अपील है कि वे लोग राजनीति इस मसले पर ना करें.

Advertisement
Advertisement
Advertisement

Advertisement
Advertisement

Leave a Reply