spot_img

jharkhand-pays-homage-to-durga-soren-झारखंड ने पुण्यतिथि पर स्वर्गीय दुर्गा सोरेन को किया याद, ”सोरेन परिवार” में दिखी इस मौके पर ”तल्खी”, मुख्यमंत्री हेमंत गये गुरुजी के साथ लोवाडीह श्रद्धांजलि देने, दुर्गा सोरेन की विधवा सीता सोरेन अपनी बेटियों के साथ दी श्रद्धांजलि, सीता सोरेन ने राजनीतिक माहौल को और तल्ख किया, भाजपा सांसद निशिकांत दुबे के ट्विट को किया रिट्विट, लिखा-कार्यकर्त्ता स्वर्गीय दुर्गा सोरेन को मुख्यमंत्री के रूप में देखना चाहते थे, मुख्यमंत्री हेमंत ने क्या कहा, जानें

राशिफल

जामा से झामुमो विधायक सीता सोरेन आयोजित कार्यक्रम में अपने पति और पूर्व विधायक स्वगीय दुर्गा सोरेन को श्रद्धांजलि अर्पित करते हुए.

रांची : झारखंड की राजनीति में एक अहम स्थान रखने वाले झामुमो के पूर्व विधायक और कार्यकारी अध्यक्ष स्वर्गीय दुर्गा सोरेन को उनकी 13वीं पुण्यतिथि के मौके पर श्रद्धांजलि दी गयी. वैसे इस मौके पर सोरेन परिवार की आपसी तल्खी एक बार फिर से देखने को मिली. राज्य के मुख्यमंत्री हेमंत सोरेन और झामुमो के अध्यक्ष सह पिता गुरुजी शिबू सोरेन एक साथ लोवाडीह में स्वर्गीय दुर्गा सोरेन की प्रतिमा पर माल्यापर्ण कर उनको श्रद्धांजलि दी तो दुर्गा सोरेन की पत्नी और जामा से झामुमो विधायक सीता सोरेन अपनी दोनों बेटियों के साथ अपने पति को श्रद्धांजलि देने अलग से वहां गयी और अलग से कार्यक्रम आयोजित की. सीता सोरेन के साथ मुख्यमंत्री हेमंत सोरेन और गुरुजी शिबू सोरेन के बीच की दूरियों की खबरें पहले भी आती रही है, लेकिन अभी एक बार फिर से आने से राजनीतिक हल्कों में सरगर्मी देखी जा रही है. इस बीच सीता सोरेन ने तो भाजपा के सांसद निशिकांत दुबे के स्वर्गीय दुर्गा सोरेन को श्रद्धांजलि देने के ट्विट पर रिट्विट कर सीता सोरेन ने माहौल को और तल्ख कर दिया है. सीता सोरेन ने उनको ट्विटर पर श्रद्धांजलि देते हुए कहा है कि झारखंड को अभी आपकी बड़ी जरूरत थी, जीवित होते हैं तो आज झारखंडवासियों की तकदीर कुछ और होती. सीता सोरेन ने अपने एक अन्य ट्विट में लिखा है कि दुर्गा सोरेन जी को पुण्य तिथि पर शत् शत् नमन, जब दुर्गा सोरेन जी थे, तो पार्टी (झामुमो) काफी सशक्तिशाली थी, सभी ताकत के साथ काम करते थे, कार्यकर्त्ता उन्हें मुख्यमंत्री के रूप में देखना चाहते थे. उनके इस ट्विट ने माहौल को और तल्ख कर दिया है. दुर्गा सोरेन की मौत को लेकर पहले भी कई सवाल उठते रहे है. दुर्गा सोरेन हालांकि झामुमो सबसे ताकतवर थे और वे ही झामुमो में मुख्य कर्ता-धर्ता थे. मुख्यमंत्री हेमंत सोरेन इस कड़ी में कहीं नहीं होते थे. समय बीता और दुर्गा सोरेन की मौत जब हो गयी, तब हेमंत सोरेन राजनीति में सक्रिय हुए और मुख्यमंत्री बने. (नीचे देखे पूरी खबर)

मुख्यमंत्री हेमंत सोरेन और गुरुजी

गुरुजी शिबू सोरेन और हेमंत सोरेन ने दी भावभिनी श्रद्धांजलि
मुख्यमंत्री हेमन्त सोरेन शनिवार को लोवाडीह, नामकोम स्थित स्वर्गीय दुर्गा सोरेन स्मारक पहुंचकर झारखंड आंदोलन के अग्रणी योद्धा एवं पूर्व विधायक स्वर्गीय दुर्गा सोरेन की 13वीं पुण्यतिथि मौके पर उनकी प्रतिमा पर माल्यार्पण कर उन्हें भावभीनी श्रद्धांजलि अर्पित की. इस मौके पर पूर्व मुख्यमंत्री तथा वर्तमान राज्यसभा सांसद दिशोम गुरु शिबू सोरेन ने भी अपने बेटे स्वर्गीय दुर्गा सोरेन की प्रतिमा पर माल्यार्पण कर श्रद्धांजलि दी. इस मौके पर प्रेस-मीडिया को संबोधित करते हुए मुख्यमंत्री हेमन्त सोरेन ने कहा कि झारखंड आंदोलन के अग्रणी नेता और वीर माटी पुत्र दुर्गा सोरेन की पुण्यतिथि पर उन्हें शत-शत नमन. स्वर्गीय दुर्गा सोरेन झारखंड के सर्वांगीण विकास के लिए हमेशा प्रयत्नशील रहे. वे हमेशा गरीबों, जरूरतमंदों तथा समाज के सभी वर्ग के लोगों के उत्थान के लिए समर्पित भाव से काम करते थे. उनके किए गए कार्य हमेशा याद रखे जाएंगे. मुख्यमंत्री ने कहा कि वे सदैव युवाओं के मार्गदर्शक और प्रेरणा स्रोत रहेंगे. मौके पर उपायुक्त रांची छवि रंजन, वरीय पुलिस अधीक्षक रांची सुरेंद्र झा, समाजसेवी विनोद पांडेय, महुआ मांझी, मुश्ताक आलम सहित अन्य लोग उपस्थित थे.

WhatsApp Image 2022-04-29 at 12.21.12 PM
WhatsApp-Image-2022-03-29-at-6.49.43-PM-1
Shiv Yog Physiotherapy And Yoga Classes
spot_img

Must Read

Related Articles

Don`t copy text!