spot_img

jharkhand-political-controversey-झामुमो की राज्यसभा की प्रत्याशी महुआ माजी को निशिकांत दुबे ने ट्विटर पर घेरने की कोशिश की, तो हुए खुद ट्रोल, निशिकांत दुबे ने लगाया आरोप-30 लाख रुपये बिना किसी कागज के महुआ जी को पैसे दे दिये, पैसे पेड़ पर उगता है, महुआ माजी ने 30 लाख के बारे में यह दी जानकारी, विधायक सरयू राय बोले-महुआ सही प्रत्याशी, राज्यसभा उनको जाना ही चाहिए, जानिये क्या है यह झारखंड का ”पॉलिटिकल कंट्रोवर्सी”

राशिफल

अन्नी अमृता की रिपोर्ट
जमशेदपुर : झारखंड की राजनीति में इस वक्त अजीब ही दौर है जहां एक तरफ राज्यसभा चुनाव में झामुमो के प्रत्याशी उतारने को लेकर कांग्रेसी झामुमो से खफा हैं तो भ्रष्टाचार के मुद्दे पर भाजपा लगातार झामुमो को घेरने की कोशिश कर रही है. उधर झामुमो पिछली सरकार की याद दिलाकर भाजपा पर बचावी हमला जारी रखे है. भाजपा सांसद निशिकांत दुबे लगातार झामुमो सरकार के खिलाफ ट्वीट कर रहे हैं. उनकी ताज़ा ट्वीट ने झारखंड का राजनीतिक तापमान गर्म कर दिया है. उन्होंने झामुमो की राज्यसभा उम्मीदवार महुआ माज़ी द्वारा चुनाव आयोग को दिए गए हलफनामा को ट्वीट पर उजागर करते हुए महुआ माज़ी पर इस बात को लेकर व्यंग्य किया है कि उन्हें किसी ”एसएम माईनिंग कंपनी” से बगैर कागजात के लोन मिल गया. निशिकांत ने लिखा है “”झारखंड में लगता है मैं पागल हो जाऊंगा, झारखंड माल मुद्रा पार्टी की नई होने वाली राज्यसभा सदस्य महुआ जी को किसी एसएम माइनिंग कंपनी ने 30 लाख रूपये बिना किसी कागज़ के लोन दे दिया ? भारत में झारखंड ही ऐसा राज्य है जहां पैसे पेड़ पर उगता है.””
महुआ माजी का पलटवार
महुआ माज़ी ने इस पर पलटवार करते हुए इसे निशिकांत दुबे की सरासर बदमाशी कहा है. ”शार्प भारत” से बात करते हुए उन्होंने कहा कि एसएम माइनिंग कंपनी उनके बेटों की है और उन्होंने खुद हलफनामा में लोन का जिक्र किया है. उनके दोनों बेटे कंपनी में पार्टनर हैं और हर साल आडिट भी होता है. कुछ भी छिपी हुई बात ही नहीं है. 2019 के चुनाव में भी इसकी जानकारी दी गई थी. यह ट्वीट जानबूझकर बदनाम करने के लिए किया गया है, जिसमें मेरे ही द्वारा दायर हलफनामा को डालकर मुझ पर ही आरोप लगाए जा रहे.
महुआ माजी के बेटे ने कंपनी के बारे में दी यह जानकारी
वहीं फोन पर महुआ माज़ी के बेटे ने शार्प भारत को बताया कि एसएम माइनिंग में महुआ माज़ी के दोनों बेटे पार्टनर हैं. हर साल कंपनी का ऑडिट फाईल होता है. 2019 के चुनाव में भी सूचना दी गई थी. महुआ माज़ी को अनसिक्यूर्ड लोन देने में हर नियम का पालन करते हुए अकाउंट पेयी ट्रांजैक्शन किया गया है.
सरयू राय ने इस मसले पर दी अपनी टिप्पणी
अब आईए देखते हैं कि विधायक सरयू राय का इस प्रकरण पर क्या कहना है. शार्प भारत से बात करते हुए सरयू राय ने कहा है कि कोई भी प्राईवेट कंपनी विश्वास पर किसी को भी लोन देने के लिए स्वतंत्र है. निशिकांत दूबे के ट्वीट और एसएम माइनिंग कंपनी के संबंध में और जानकारी एकत्रित करके ही इस पर कुछ बोलूंगा मगर जहां तक महुआ माज़ी के राज्यसभा उम्मीदवार बनने की बात है तो वे एक हस्ती हैं और उनके जैसी स्वच्छ छवि के लोग राज्यसभा जाएं तो ये झारखंड के लिए अच्छा है.
निशिकांत ट्विटर पर हुए ट्रोल
इधर ट्वीटर पर निशिकांत को लोग काफी ट्रोल भी कर रहे हैं. ज्योति कुमार मिश्रा नाम के सज्जन लिखते हैं कि किसी से लोन लेने में क्या दिक्कत है. कोई भी किसी को लोन के माध्यम से मदद कर सकता है. आप ये बताएं कि रघुवर सरकार में लुधियाना से 5 करोड़ की टी शर्ट आटो में मंगाया था. उस पर क्या विचार हैं आपके? हालांकि काफी कोशिशों के बावजूद इस मुद्दे पर निशिकांत दूबे से संपर्क नहीं हो सका. शार्प भारत ने ये जानने की कोशिश की कि निशिकांत दुबे के पास उक्त कंपनी के बारे में ऐसी क्या जानकारी है कि उन्होंने ये व्यंग्यात्मक टिप्पणी की?मगर उनका बयान नहीं मिल पाया.

WhatsApp Image 2022-04-29 at 12.21.12 PM
WhatsApp-Image-2022-03-29-at-6.49.43-PM-1
Shiv Yog Physiotherapy And Yoga Classes
spot_img

Must Read

Related Articles

Don`t copy text!