jamshedpur saraswati puja : जमशेदपुर का एक सरस्वती पूजा ऐसा, गुल्लक के पैसे से शुरू किया गया पूजा आज इतने भव्य रूप में

राशिफल

जमशेदपुर : जमशेदपुर के ग्रामीण इलाके जादूगोड़ा थाना क्षेत्र के पोटका प्रखंड अंतर्गत पंचायत के कचहरी मैदान में आसन बनी ब्वायज क्लब के द्वारा धूमधाम से लगभग पांच लाख रूपए की लागत से सरस्वती पूजा करने की तैयारी जोरों पर है. इस वर्ष यहां डेढ़ लाख लाख की लागत से मधुमक्खी के छत्ते आकार का पंडाल बनाया जा रहा है. कमेटी के सदस्यों के द्वारा 36 वर्षों से यहां लगातार धूमधाम से सरस्वती पूजा किया जा रहा है. आसनबनी ब्वायज क्लब के संस्थापक सुभाष अग्रवाल के द्वारा यहां 1987 से उनके पिताजी के द्वारा दिए गए पॉकेट खर्च को बचाकर पूजा का प्रारंभ किया गया था. यहां का सरस्वती पूजा पूरा राज्य में प्रसिद्ध है. (नीचे भी पढ़ें)

सुभाष अग्रवाल के द्वारा बताया गया कि बचपन से ही उन्हें सरस्वती पूजा करने का काफी इच्छा रहता थी. पिताजी के द्वारा उन्हें जो पॉकेट खर्च के रूप में मिलता था उन्हें गुल्लक में जमा कर सरस्वती पूजा करने के लिए रखते थे.1987 में उन्होंने गुल्लक तोड़कर उसमें से जो पैसा निकला उससे सरस्वती पूजा का प्रारंभ की. 1987 से यहां भव्य रूप से पूजा प्रारंभ हो गया एवं इस क्लब के कई सदस्य मां सरस्वती के आशीर्वाद से देश एवं विदेशों में अच्छी नौकरी कर राज्य एवं आसनबनी का नाम रौशन कर रहे हैं. इस वर्ष विद्युत सज्जा भी बंगाल के चंदन नगर से लगभग एक लाख की लागत से काफी आकर्षण एवं भव्य किया जाएगा. मां सरस्वती की प्रतिमा भी 21 हजार की लागत से काफी सुंदर एवं आकर्षक बनाई जा रही है. (नीचे भी पढ़ें)

पूजा पंडाल का उद्घाटन पोटका के विधायक संजीव सरदार के द्वारा किया जाएगा. जिसकी तैयारी सदस्यों के द्वारा काफी जोर-शोर से की जा रही है. बता दें कि आसनबनी का सरस्वती पूजा पूरा राज्य में प्रसिद्ध है. यहां आसपास के क्षेत्रों के समय दूसरे राज्य से भी लोग सरस्वती पूजा देखने आते हैं. आसनबानी में लगभग 10 कमेटी के द्वारा धूमधाम से सरस्वती पूजा किया जाता है. जहां एक से बढ़कर एक पंडाल एवं विद्युत सज्जा साथ ही प्रसाद का वितरण भी कमेटी द्वारा किया जाता है.

Must Read

Related Articles