spot_img
गुरूवार, जून 17, 2021
spot_imgspot_img
spot_img

ipl-आइपीएल को गृह मंत्रालय की मंजूरी, दुबई में होंगे सारे मैच, tata-group-टाटा ग्रुप की मेडिकल इकाई आइपीएल के 13वें संस्करण को देना चाहती है जैविक सुरक्षा

Advertisement
Advertisement

नयी दिल्ली/जमशेदपुर: भारत सरकार के गृह मंत्रालय ने इंडियन प्रीमियर लीग (आइपीएल) के 13वें सीजन के आयोजन को अपनी मंजूरी दे दी है. भारतीय क्रिकेट कंट्रोल बोर्ड (बीसीसीआइ) की टीम के मालिकों के साथ हुई बैठक के बाद यह साफ कर दिया गया कि जितने भी खिलाड़ी दुबई पहुंचेंगे, उनको 6 दिन तक क्वारंटीन होना होगा. 20 अगस्त को ही सभी टीमों के खिलाड़ी आइपीएल के लिए पहुंच जायेंगे. बिना दर्शक के सारे मैच होंगे. सभी खिलाड़ी और स्टाफ दुबई पहुंचने के बाद 6 दिनों तक क्वारंटीन में रहेंगे. दुबई सरकार के नियम के मुताबिक, बाहर से आने वाले लोगों को 96 घंटे पहले कोरोना टेस्ट कराना जरूरी है. जो पोजिटिव आयेंगे उनको 14 दिन क्वारंटीन रहना होगा जबकि नेगेटिव वाले को 6 दिन क्वारंटीन में रहना होगा. वर्तमान में एक टीम में 24 खिलाड़ियों को ले जाने की इजाजत होगी.

Advertisement
Advertisement

आइपीएल के 13वें संस्करण को टाटा समूह देगी सुरक्षा
आईपीएल- 13 वें संस्करण का शुभांरंभ 19 सितंबर से संयुक्त अरब अमीरात (यूएई) में शुरू होने वाला है. इसका फाइनल 10 नवंबर को खेला जाएगा. इस मैच का कुल 55 दिन तक संचालन होगा. इसके लिए केंद्र सरकारने भी इजाजत दे दी है. कोविड-19 के दौरान इस लीग को खेल जगत में एक अहम मोड माना जा रहा है. आईपीएल में पूरी दुनिया के देशों से क्रिकेटर हिस्सा लेंगे. जिसके काऱण इस लीग को और पूरी तरह से जैविक सुरक्षित बनाना बोर्ड की प्राथमिक जिम्मेदारी बनती है. कोविड-19 काल में खेल जगत का परिदृश्य ही बदला बदला सा नजर आएगा. इस आईपीएल को पूरी तरह जैविक वातावरण सुरक्षित उपबल्ध कराने के लिए टाटा ग्रुप की स्वास्थ्य इकाई ने बीसीसीआई को मदद करने की पेशकेश की है. जिसमें उन्होंने कहा कि टाटा मेडिकल एंड डायग्नोस्टिक ने बीसीसीआई को प्रजेंटेशन भी प्रस्तुत किया है जिसमें पूरी तरह का बायो सिक्योर बबल को बनाया और इसको कायम रखना शामिल है ताकि संयुक्त अरब अमीरात में आईपीएल अच्छी तरह से संपन्न हो सके. टाटा ग्रुप ने इस लीग के लिए जो प्रस्ताव तैयार किया है, उसमें पूरी लीग को जैविक सुरक्षा प्रदान करने के उद्देश्य से खास सिफारिशें दी गई है. इसमें टेस्टिंग का काम्बिनेशन, तकनीक और स्पेशल विशेषज्ञों की देखरेख शामिल है. टाटा ग्रुप आईपीएल की जरूरतों के हिसाब से बायो सिक्योर अप्रोच( जैविक सुरक्षित वातावरण) की गंभीरता को समझते हुए टेस्टिंग प्रोसेस का अपनाया जाएगा. आईपीएल की ज्यादातर फ्रैंचाइजी का कहना है कि टाटा ग्रुप जैसी प्रतिष्ठित कंपनी इस प्रकार की सेवाओं से जुड़ेगी तो इससे कंपनी के साथ साथ लीग की भी विश्वसनियता बढ़ेगी.

Advertisement

Advertisement
Advertisement

Leave a Reply

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.

spot_imgspot_img

Must Read

Related Articles

Don`t copy text!