spot_img
बुधवार, अप्रैल 21, 2021
spot_imgspot_img
spot_img

naval-tata-hockey-high-performance-centre-पहले हॉकी इंडिया जूनियर और सब-जूनियर वीमेंस एकेडमी नेशनल चैम्पियनशिप-2021 का विजेता बना साई एकेडमी, दिलचस्प मुकाबला में खिलाड़ियों ने जीता दिल

Advertisement
Advertisement

जमशेदपुर : ‘साई (स्पोटर्स ऑथोरिटी ऑफ इंडिया) एकेडमी’ ने ओड़िशा नवल टाटा हॉकी हाई परफॉर्मेंस सेंटर (ओएनटीएचएचपीसी) द्वारा आयोजित प्रथम हॉकी इंडिया जूनियर और सब-जूनियर वीमेंस एकेडमी नेशनल चैम्पियनशिप-2021 ट्रॉफी जीत ली है. साई एकेडमी ने जूनियर कैटेगरी के फाइनल में मध्य प्रदेश एकेडमी को 2-1 से हराकर ट्रॉफी जीती, जबकि ओड़िशा नवल टाटा हॉकी एचपीसी ने खालसा हॉकी एकेडमी को 5-1 से हराकर तीसरा स्थान प्राप्त किया. इससे पहले 25 मार्च को सब-जूनियर कैटेगरी के फाइनल में कांटे की टक्कर वाले मैच में साई एकेडमी ने एक पेनाल्टी शूटआउट के बाद ओड़िशा नवल टाटा हॉकी एचपीसी 2-2 (4-5) को पराजित कर विजेता बना. सब-जूनियर कैटेगरी में मध्य प्रदेश की भूमीक्षा साहू और जूनियर कैटेगरी में खालसा हॉकी एकेडमी, अमृतसर की तरनप्रीत कौर को सर्वश्रेष्ठ स्कोरर घोषित किया गया. यह टूर्नामेंट 17 मार्च को शुरू हुआ और 26 मार्च को समाप्त हुआ, जिसमें जूनियर वीमेंस कैटेगरी में 14 हॉकी इंडिया-संबद्ध एकेडमी टीमों और सब-जूनियर कैटेगरी में 10 टीमों ने हिस्सा लिया. इस कार्यक्रम की मेजबानी पैरेंट बॉडी ‘हॉकी इंडिया’के संरक्षण में ओड़िशा के खेल व युवा सेवा विभाग और ओडिशा नवल टाटा हॉकी हाई परफॉरमेंटस सेंटर ने किया. क्वार्टर फाइनल तक सभी लीग मैच प्राकृतिक प्रकाश में खेले गए, जबकि सेमीफाइनल व फाइनल कलिंगा हॉकी कॉम्प्लेक्स मेन स्टेडियम में फ्लड लाइट में खेला गया. मैच के बाद समापन समारोह में मुख्य अतिथि और ओड़िशा के खेल व युवा सेवा विभाग के प्रधान सचिव विशाल कुमार देव तथा हॉकी प्रमोशन काउंसिल, ओड़िशा के चेयरमैन पद्मश्री दिलीप तिर्की ने विजेताओं को पुरस्कार प्रदान किया. इस अवसर पर हॉकी ओड़िशा के महासचिव प्रताप सत्पथी, टाटा स्टील के रेसीडेंट एक्जीक्यूटिव अश्विनी मोहंती, ओएनटीएचएचसी के प्रोजेक्ट डायरेक्टर राजीव सेठ, अपोलो अस्पताल, ओड़िशा के सीइओ सुधीर दिगिकर और टाटा ट्रस्ट भुवनेश्वर के रिजनल मैनेजर वरुण कप्पल आदि उपस्थित थे. पुरस्कार वितरण समारोह के दौरान प्रतिभागियों को संबोधित करते हुए ओड़िशा के खेल व युवा सेवा विभाग के प्रधान सचिव विशाल के देव ने कहा कि आप सभी ने अपने शानदार प्रदर्शन के साथ एक छाप छोड़ी है और यह भविष्य की कई अन्य उपलब्धियों के लिए आपकी बुनियाद होगी. कलिंगा स्टेडियम में मैचों के दौरान आपका उत्साह और ऊर्जा अभूतपूर्व थी. हम आप सभी पर गर्व करते हैं. यह वो जगह है, जहां आपके हॉकी लीजेंड्स और आइकन ने खेला है और यही वो जगह है, जहां आप खेले हैं इसलिए, आप जीते या हारे हों, इस टूर्नामेंट से प्राप्त यह आपकी सबसी बड़ी उपलब्धि होगी. हॉकी ऐस फाउंडेशन के चेयरमैन चाणक्य चौधरी और टाटा स्टील के वाइस प्रेसिडेंट कारपोरेट सर्विसेज ने प्रतिभागियों को बधाई देते हुए कहा, “टाटा स्टील हमारे देश में खेलों की संस्कृति को बढ़ावा देने के लिए हमेशा प्रतिबद्ध रही है. ओड़िशा नवल टाटा हॉकी एचपीसी इसी दिशा में हमारा एक प्रयास है. भुवनेश्वर में ओड़िशा सरकार के खेल व युवा सेवा विभाग के सहयोग से पहली बार हॉकी इंडिया जूनियर और सब-जूनियर वीमेंस एकेडमी नेशनल चैम्पियनशिप की मेजबानी करना हमारे लिए सम्मान की बात है. टूर्नामेंट के दस दिनों में पूरे भारत से आए 24 टीमों के 400 से अधिक खिलाड़ियों ने कौशल और खेल भावना का उत्कृष्ट प्रदर्शन किया. विजेताओं को और सभी प्रतिभागियों को भी मेरी हार्दिक बधाई।” ओड़िशा नवल टाटा हॉकी हाई परफॉर्मेंस सेंटर (एचपीसी) की स्थापना भुवनेश्वर में की गई थी, जिसमें हॉकी में खेल की शीर्ष प्रतिभाओं को तैयार करने और विश्व स्तर के खिलाड़ियों का निर्माण करने की दृष्टि थी. इसे हॉकी ऐस फाउंडेशन के सहयोग से टाटा ट्रस्ट्स और टाटा स्टील के तत्वावधान में, खेल व युवा सेवा विभाग, सरकार द्वारा स्थापित किया गया था और 13 अगस्त, 2019 को ओड़िशा के मुख्यमंत्री नवीन पटनायक और टाटा स्टील के एमडी सह सीइओ टीवी नरेंद्रन द्वारा लॉन्च किया गया था. एचपीसी को भुवनेश्वर में तीन-स्तरीय टाटा ओड़िशा हॉकी कार्यक्रम के तहत शुरू किया गया था, जो राज्य में खेल प्रतिभाओं के पोषण के लिए टाटा स्टील, टाटा ट्रस्ट्स और ओड़िशा सरकार की एक संयुक्त पहल है, जिसे खेल के लिए एक पोषक केंद्र के रूप में पहले ही ख्याति मिल चुकी है. भारतीय हॉकी में नवल एच टाटा के योगदान, एक उत्कृष्ट खेल प्रशासक के रूप में उनकी उपलब्धियों और खेलों के प्रति जुनून का जश्न मनाने के लिए उनके सम्मान में एचपीसी का नामकरण किया गया है. नवल एच टाटा ने अखिल भारतीय खेल परिषद (एआईसीएस) के प्रेसिडेंट, भारतीय हॉकी महासंघ (आईएचएफ) के प्रेसिडेंट और पंद्रह वर्षों तक अंतर्राष्ट्रीय हॉकी महासंघ (आईएचएफ) के वाईस चेयरमैन समेत कई अन्य प्रतिष्ठित पदों को सुशोभित किया.

Advertisement
Advertisement

Advertisement
Advertisement

Leave a Reply

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.

spot_imgspot_img

Must Read

Related Articles

Don`t copy text!