spot_img
रविवार, मई 16, 2021
spot_imgspot_img
spot_img

tata-steel-hockey-initiative-नवल टाटा हॉकी एकेडमी, ओडिशा ने अपनी पहली वर्षगांठ मनाई, एकेडमी ने इस वर्ष 30 लड़कों को अंडर-17 रेसीडेंस प्रोग्राम में शामिल करने की योजना बनाई

Advertisement
Advertisement

भुवनेश्वर : ओड़िशा के भुवनेश्वर स्थित कलिंगा हॉकी कॉम्प्लेक्समें नवल टाटा हॉकी एकेडमी (एनटीएचए) ओडिशा ने राज्य की हॉकी प्रतिभा को पोषित करने और भारत में हॉकी के भविष्य को आकार देने की अपनी यात्रा का एक सफल वर्ष पूरा कर लिया है. 13 अगस्त, 2019 को ओड़िशा के मुख्यमंत्री नवीन पटनायक ने टाटा स्टील के एमडी टीवी नरेंद्रन के साथ टाटा ट्रस्ट्स व टाटा स्टील के तत्वावधान में एचएएफ (हॉकी ऐस फाउंडेशन) के सहयोग से ओड़िशा के खेल व युवा सेवा विभाग द्वारा स्थापित इस एकेडमी का शुभारंभ किया था. इस मौके पर ओड़िशा के खेल व सूचना-प्रोद्योगिकी मंत्री तुषारकांती बेहरा भी उपस्थित थे. इस एकेडमी की स्थापना का उद्देश्य हॉकी की उभरती प्रतिभाओं को पोषित करना और विश्व स्तरीय खिलाड़ी पैदा करना है. नवल टाटा हॉकी एकेडमी-ओड़िशा ने सुंदरगढ़ और संबलपुर जिलों में योजनाबद्ध तरीके से जमीनी स्तर के कार्यक्रमों आरंभ किए हैं और इसने 7-14 वर्ष के आयु वर्ग के खिलाड़ियों को तैयार करने के लिए जमीनी स्तर के 16 कोच की तैनाती के साथ जमीनी स्तर के 10 केंद्र खोले हैं. ये केंद्र लैंगिक विविधता पर विशेष ध्यान के साथ 2000 लड़के-लड़कियों को पहले ही पंजीकृत कर चुके हैं. एक वर्ष की शानदार यात्रा पर अपने संबोधन में तुषारकांती बेहरा ने कहा कि वे नवल टाटा हॉकी एकेडमी-ओड़िशा को इसकी पहली वर्षगांठ पर इससे जुड़े हर व्यक्ति को बधाई देता है. खेल को बढ़ावा देने और एलीट लेवल के लिए एथलीटों को पोषित करने के उद्देश्य से इस हाइ-परफॉर्मेंस सेंटर की स्थापना की गयी है और, यह मुझे इस बात की बेहद खुशी है कि यह केंद्र कम समय में विकसित हुआ है और यह लगातार विकास कर रहा है. आज, एलीट हॉकी प्रशिक्षण के लिए राज्य में इस सुविधा की काफी मांग है, जो सरकार और यहां की टीम की प्रतिबद्धता को दर्शाती है. बहुत सारे सपने और आकांक्षाओं के साथ इस एकेडमी से जुड़ी लड़कियों ने कैडेट के रूप में यहां बिताए समय ये काफी लाभ उठाया है तथा अपने प्रदर्शन में काफी सुधार किया है. नवल टाटा हॉकी एकेडमी-ओड़िशा ने सामूहिक रूप से कैडेट्स के प्रशिक्षण, अभ्यास और उनके खेल कौशल के निखार को सुनिश्चित किया है. इसने पिच के अंदर और बाहर, दोनों में उन्हें एक साथ आने और खेल व दोस्ती का जश्न मनाने की सुविधा दी है. मैं एनटीएचए- ओडिशा से जुड़े प्रत्येक व्यक्ति की सराहना करता हूं, विशेष रूप से प्रशिक्षकों की, जो प्रत्येक कैडेट को सोउद्देश्य मॉनिटर करते हैं और उचित प्रशिक्षण के माध्यम से उनकी क्षमता को बढ़ाने के लिए काम करते हैं. महामारी के कारण पिछले कुछ महीने कठिन रहे हैं और सभी के लिए परीक्षा की घड़ी रही है, फिर भी आप में से प्रत्येक ने विश्वास एवं धैर्य दिखाया है और बहादुरी के साथ इस चरण का सामना किया है. आपने प्रशिक्षण फिर से शुरू कर दिया है, जो केंद्र के समग्र मनोबल को बढ़ावा देगा. मुझे विश्वास है कि केंद्र भविष्य के हॉकी चैंपियन को विकसित करने के लिए अपने प्रयासों को जारी रखेगा. आगे की यात्रा के लिए बहुत-बहुत शुभकामनाएं।” ओडिशा के खेल व युवा सेवा तथा पर्यटन विभाग के आयुक्त-सह-सचिव विशाल कुमार देव ने कहा, “टाटा ट्रस्ट्स व टाटा स्टील के तत्वावधान में हॉकी ऐस फाउंडेशन के सहयोग से ओडिशा सरकार के खेल व युवा सेवा विभाग की पहल ‘एनटीएचए-ओडिशा’ विश्व स्तरीय खिलाड़ी पैदा करने की एक दृष्टि के साथ राज्य की हॉकी यात्रा को आगे ले जाने का वादा करता है. ओडिशा में कुशल और प्रतिभाशाली युवा एथलीटों की प्रचुरता है तथा यह एकेडमी स्थानीय खेल प्रतिभाओं को बढ़ावा देने व प्रोत्साहित करने के लिए इस अवसर का लाभ उठाएगी. मैं एनटीएच-ओडिशा को इसकी पहली वर्षगांठ पर बधाई देता हूं और ओडिशा की खेल महत्वाकांक्षाओं को आकार देने में इसके भविष्य के प्रयासों की सफलता की कामना करता हूं।’’ टाटा स्टील के वीपी कारपोरेट सर्विसेज चाणक्य चौधरी ने अपने संबोधन में कहा, “भुवनेश्वर भारत की खेल राजधानी के रूप में तेजी से उभर रहा है. नवल टाटा हॉकी एकेडमी-ओडिशा, एक ऐसा एलीट एकेडमी है, जो युवाओं को सर्वोत्तम शिक्षा व प्रशिक्षण प्रदान करने के लिए जमीनी स्तर पर काम कर रहा है. यह एकेडमी युवाओं के लिए केवल एक हाई परफॉर्मेंस सेंटर ही नहीं है, बल्कि वास्तव में एक ऐसी संस्था है, जहां हम कम उम्र से ही भावी चैंपियन का पोषण कर रहे हैं और 360 डिग्री के विकास मॉडल में उनके करियर को आकार दे रहे हैं. अब जब एनटीएचए अपनी पहली वर्षगांठ मना रहा है, हम भारत में हॉकी के लिए एक आशाजनक भविष्य को लेकर आश्वस्त हैं.” मुख्यमंत्री के दूरदर्शी नेतृत्व में ओडिशा सरकार के खेल व युवा सेवा विभाग ने सुंदरगढ़ जिले में अगले 6-8 महीनों में मल्टीपल एस्ट्रो टर्फ स्थापित करने की योजना को मंजूरी दे दी है, जो ओडिशा में हॉकी बेल्ट को जबरदस्त बढ़ावा देगा और एस्ट्रो-पिच के शुरुआती एक्सपोजर के अतिरिक्त लाभ के साथ राज्य से प्रतिभा को सामने लाएगा, जिसके परिणामस्वरूप क्षेत्र में एलीट खिलाड़ियों का एक समूह पैदा होगा। इंटरनेशनल एक्सपोजर के लिए बोवेलैंडर हॉकी एकेडमी (बीएचए) प्रोग्राम के तहत एकेडमी के पास कैडेटों को फॉरेन एक्सचेंज प्रोग्राम्स में भेजने की भी योजना है, हालांकि अप्रैल 2020 में कोविड-19 महामारी के कारण कैडेट्स इस प्रकार का अपना पहला प्रोग्राम करने से चूक गए. नवल टाटा हॉकी एकेडमी-ओडिशा एक राष्ट्रीय एकेडमी है, जिसने काफी कम समय में अभूतपूर्व खेल संस्कृति का सृजन किया है। वर्तमान में ओडिशा की 18, झारखंड की पांच, असम की दो, पंजाब, यूपी व मणिपुर की एक-एक लड़कियांं को रेसिडेंट प्रोग्राम के तहत प्रशिक्षण दिया जा रहा है। एकेडमी ने प्रस्तावित मॉडल के अनुसार इस वर्ष 30 लड़कों (अंडर -17) को रेसीडेंट प्रोग्राम में शामिल करने की योजना बनाई है. 2017 में लांच किया गया बोवेलैंडर हॉकी एकेडमी (बीएचए), ओडिशा में नवल टाटा हॉकी एकेडमी की तकनीकी भागीदार है। प्रशिक्षकों के रूप में डच हॉकी ओलंपियन व एक लीजेंड फ्लोरिस बोवेलेंडर अपने देश के कोच के साथ प्रोग्राम का मार्गदर्शन करते हैं। ओडिशा सरकार का खेल व युवा सेवा विभाग इस प्रोजेक्ट के लिए संपूर्ण आधारभूत संरचना प्रदान करता है, जबकि टाटा ट्रस्ट, टाटा स्टील और इंडसइंड के सहयोग से एचएएफ (हॉकी ऐस फाउंडेशन) इस एकेडमी/हाई परफॉर्मेंस सेंटर (एचपीसी) का दैनिक संचालन करता है।

Advertisement
Advertisement

नवल टाटा हॉकी एकेडमी-ओडिशा के पास कुछ विशेष एवं कुछ अत्याधुनिक सुविधाएं हैं, जैसे-ः
· हेड कोच के नेतृत्व में विदेशी कोच और भारतीय कोचिंग सपोर्ट स्टाफ
· जीवन स्तर के नवीनतम मानकों के साथ छात्रावास की सुविधा
· प्रशिक्षित केटरिंग स्टाफ के साथ मॉड्यूलर किचन सुविधा
· कलिंगा हॉकी कॉम्प्लेक्स में होम पिच (एस्ट्रो टर्फ)
· कलिंगा स्टेडियम में अभिनव बिंद्रा टारगेट परफॉर्मेंस सेंटर (प्रदर्शन मापन, मैपिंग, प्रशिक्षण और पुनर्वसन प्रक्रिया पर लक्ष्य) तक सीधी पहुँच
· कलिंगा स्टेडियम में सेंट्रल जिम
· अंतर्राष्ट्रीय मानक वाला स्विमिंग कॉम्प्लेक्स
· एलीट ट्रेनिंग प्रोग्राम के लिए पोषण विशेषज्ञ
· पेशेवर कैटरर के माध्यम से इन-हाउस केटरिंग
· मानसिक प्रशिक्षक और मनोवैज्ञानिक
· फिजियो और मैस्यूर (मालिश करने वाला)
· एनआईओएस – गैर-ओडिया प्रशिक्षुओं के लिए नेशनल ओपन एजुकेशन प्रोग्राम
· शिक्षा आवश्यकताओं के सुदृढीकरण में सहयोग के लिए दो ट्यूटर्स
· ग्रासरूट कोऑर्डिनेटर
· आउटडोर लोकेशन में मनोरंजक और विशिष्ट प्रशिक्षण
पिछले एक साल में नवल टाटा हॉकी एकेडमी-ओडिशा के गर्ल कैडेट की कुछ उपलब्धियाँ :
· खेलो इंडिया 2020 में भागीदारी और प्रशंसा (5 लड़कियों ने ओडिशा राज्य का प्रतिनिधित्व किया और अंडर-17 आयु वर्ग में कांस्य जीता और 1 लड़की ने असम राज्य का नेतृत्व किया और चौथे स्थान पर रही)
· दो लड़कियों ने नेशनल स्कूल चैम्पियनशिप में भाग लिया और पुरस्कार जीते
· नेहरू कप (सब-जूनियर वूमेन) में भाग लिया और बेहद कम अंतर से सेमीफाइनल में पहुंचने से चूक गयी। हालांकि एनटीएचए ओडिशा ने इसमें पहली बार हिस्सा लिया था, फिर भी यह पूरे टूर्नामेंट में अविजेय रहा।
· शैक्षणिक वर्ष 2019-20 में परीक्षा में 100प्रतिशत सफलता दर
ओडिशा ने कई खेलों पर अपना ध्यान केंद्रित किया है और पिछले साल भुवनेश्वर में 6 एचपीसी लॉन्च किए हैं, जो सही मायने में इसे राष्ट्र की खेल राजधानी के रूप में पहचान देते हैं। एक के बाद एक, दो मेन्स हॉकी वर्ल्ड कप इवेंट्स (2018 में आयोजित और 2023 में आगामी टूर्नामेंट) खेलों और “युवा के लिए खेल-खेल के लिए युवा”के विजन के प्रति राज्य की प्रतिबद्धता का प्रमाण है।

Advertisement

Advertisement
Advertisement

Leave a Reply

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.

spot_imgspot_img

Must Read

Related Articles

Don`t copy text!