पश्चिमी सिंहभूम जिले के जवाहर नवोदय विद्यालय में आधुनिक तकनीकों और रोबोटिक्स उपकरणों से लैस अटल टिंकरिंग लैब बनकर तैयार, जिला प्रशासन की मदद से विद्यालय में आने वाले अभिभावकों के बैठने के लिए शेड, दो अतिरिक्त कमरे भी बने

Advertisement
Advertisement

चाईबासा : पश्चिमी सिंहभूम जिले का जवाहर नवोदय विद्यालय ग्रामीण क्षेत्र के प्रतिभा संपन्न बच्चों के लिए वरदान के रूप में काम कर रहा है। हाल ही में जिला प्रशासन द्वारा जवाहर नवोदय विद्यालय झींकपानी में अटल टिंकरिंग लैब के लिए अलग भवन निर्माण, विद्यालय में अतिरिक्त दो कमरों का निर्माण और अपने बच्चों से मिलने आने वाले अभिभावकों के बैठने के लिए शेड का निर्माण किया गया है। ज्ञातव्य है कि विद्यालय में छोटी-मोटी कमियों को जिला स्तर पर ही दूर करने का काम किया जाता है। विद्यालय के बोर्ड समिति के अध्यक्ष जिला उपायुक्त हैं। विद्यालय में जो भी सुधार की ज़रूरत होती है उससे संबंधित मामले बोर्ड की बैठक में उठाए जाते हैं।

Advertisement
Advertisement

मॉडर्न आउटलुक और रोबोटिक्स के सभी उपकरणों से लैस भवन तैयार
जिले के उप विकास आयुक्त श्री आदित्य रंजन ने जानकारी दी कि जवाहर नवोदय विद्यालय में भारत सरकार द्वारा संचालित अटल टिंकरिंग लैब स्वीकृत हुआ था, पर उसका भवन नहीं था। इसका भवन जिला मद से बनाकर तैयार किया गया है। यह काफ़ी हर्ष की बात है कि भवन में अटल टिंकरिंग लैब का पूरा सेटअप बनकर तैयार हो गया है। मॉडर्न आउटलुक और रोबोटिक्स के सभी उपकरणों से लैस भवन तैयार हुआ है। बच्चों के प्रयोग के लिए पूरी तरह से बनकर तैयार है।

Advertisement

अभिभावकों की सुविधा के लिए शेड
नवोदय विद्यालय में पढ़ने वाले बच्चों से मिलने के लिए उनके अभिभावक आते हैं। विद्यालय में बच्चों से मिलने आने पर अभिभावकों को दिक्कत होती थी इसलिए जिला प्रशासन के मद से एक शेड बनाकर तैयार किया गया है, जिससे कि दूर क्षेत्र से आकर अपने बच्चों से मिलने आने वाले माता-पिता बिना किसी तकलीफ़ के अपने बच्चों का इंतजार कर सकते हैं और बैठकर बातचीत कर सकते हैं।

Advertisement

जिला प्रशासन मद से विद्यालय में दो कमरों का निर्माण
नवोदय विद्यालय में कमरों की कुछ कमी थी जिस को संज्ञान में लेते हुए प्रथम चरण में दो कमरे बनाकर उपलब्ध कराए जा रहे हैं और जरूरत पड़ने पर उसके ऊपर दो और कमरे भी बनवाए जा सकते हैं।

Advertisement

हॉस्टल हो कर आने वाली महत्त्वपूर्ण सड़क का निर्माण
पिछले वित्तीय वर्ष में एक महत्त्वपूर्ण सड़क जो कि हॉस्टल होकर गुज़रती है वह भी पूरी तरह से बनकर तैयार हुई है। उप विकास आयुक्त ने कहा कि चाईबासा के ग्रामीण, जनप्रतिनिधिगण और विधायक तथा सांसद का काफी सहयोग मिला है। क्षेत्र में भूमि संबंधित कुछ विवाद भी थे जिसमें क्षेत्र के जनप्रतिनिधियों ने काफ़ी सहायता की। *जिला प्रशासन का यह प्रयास है कि आने वाले दिनों में जिला का जवाहर नवोदय विद्यालय राज्य भर में शिक्षा का एक उच्च स्तर कायम करे। विद्यालय की एक अलग पहचान बने और विज्ञान-प्रौद्योगिकी के क्षेत्र में बच्चों को समुन्नत प्रारंभिक प्रशिक्षण देने में या उत्कृष्ट कोटि का साबित हो और बच्चों को मूलभूत सुविधाएं मुहैया करा पाएं।

Advertisement

Advertisement
Advertisement
Advertisement

Advertisement

Leave a Reply