jamshedpur-school-केरला पब्लिक स्कूल कदमा में ‘परिवर्तन की पहल’ का चार दिवसीय शिविर प्रारंभ, नेतृत्व कौशल बढ़ाने समेत अन्य मुद्दो पर विद्यार्थियों को मिली सीख, स्वयंसेवी टीम की नाट्य प्रस्तुति से मंत्रमुग्ध हुए बच्चे

राशिफल

जमशेदपुर : जमशेदपुर में “परिवर्तन की पहल” के तत्वाधान में जमशेदपुर युवा सम्मेलन ने चार दिवसीय शिविर का आयोजन किया गया, जिसका समर्थन एवं पूर्ण योगदान कदमा स्थित केरला पब्लिक स्कूल के द्वारा किया गया. सम्मेलन के अंतर्गत सार्थक युवा भागीदारी एवं विद्यार्थियों में शैक्षणिक स्तर को सीखने की क्षमता में बढ़ावा देने का सार्थक समन्वय प्रयास किया गया. इसका परोक्ष अभिप्राय विद्यार्थियों के चरित्र निर्माण से था, जिसमें ईमानदारी, प्रेम, शुद्धता एवं संसार में स्वार्थविहीन सेवा वैश्विक मूल्यों पर आधारित था. युवा सम्मेलन मुख्य रूप से उन छात्रों के लिए है, जो अपनी परिषद परीक्षा में शामिल होंगे, छात्रों के शैक्षणिक स्तर में सुधार करने के लिए एप्लिकेशन की सीख प्रदान करने में विश्वास रखता है. दुनिया भर में ईमानदारी, प्रेम, पवित्रता और निस्वार्थ सेवा के सार्वभौमिक मूल्यों के साथ छात्रों के चरित्र को आकार देने का गुप्त मकसद है. (नीचे भी पढ़ें)

यह वार्षिक कार्यक्रम बहुत उत्साह और जोश के साथ आयोजित किया गया, जिसका उद्देश्य स्कूली बच्चों को आत्मनिरीक्षण, शांतिमय वातावरण, भूमिका और चरम कैथार्सिस सत्रों के माध्यम से अपने व्याकुल स्वभाव को दूर करने में मदद करना है. प्रस्तुत सम्मेलन चार दिवसीय होगा, जो एक दिसम्बर से 4 दिसम्बर तक के लिए आयोजित किया गया है. विभिन्न विद्यालयों से आए 300 युवा एवं जोशीले विद्यार्थियों ने इस सम्मेलन में भाग लिया. उद्घाटन कार्यक्रम गुरुवार को केरला पब्लिक विद्यालय कदमा के प्रांगण में किया गया. मुख्य अतिथि के रूप में डिस्ट्रिक्ट एडुकेशन ऑफिसर निर्मला कुमारी ने कार्यक्रम की शोभा बढ़ाई. (नीचे भी पढ़ें)

इस कार्यक्रम की शुरूआत विद्यालय के निदेशक शरत चन्द्रन, शैक्षणिक निदेशिका लक्ष्मी शरत, प्रिंसिपल शर्मिला मुखर्जी, उप निर्देशिका शांता वैद्यनाथन, राजीव अग्रवाल, विरल मजूमदार एवं अन्य ने दीप प्रज्ज्वलित कर किया. अन्य सम्मानित गणमान्य व्यक्ति भी इस कार्यक्रम में उपस्थित थे. बच्चों ने एक मधुर गीत गाकर इनका स्वागत किया. मुख्य अतिथि डीईओ निर्मला कुमारी ने सभा को सम्बोधित करते हुए युवा वर्ग को इस दिशा में प्रेरित किया. एलएमएडी के स्वैच्छिक कार्य करनेवाले समूह ने एक नाट्य प्रदर्शन किया. उनकी स्वयंसेवी टीम द्वारा प्रस्तुत शानदार स्किट से छात्र और शिक्षक मंत्रमुग्ध हो गए. विद्यालय के निदेशक शरत् चन्द्रन ने धन्यवाद ज्ञापन के साथ कार्यक्रम की समाप्ति की. कार्यक्रम का समापन केरला पब्लिक स्कूल के निदेशक शरत चंद्रन द्वारा किया गया जिन्होंने जीवंत दर्शकों को जागरूक होने के लिए प्रेरित किया. सम्मेलन ने बच्चों को अपने युवा मस्तिष्क को फिर से जीवंत करने, नेतृत्व कौशल बढ़ाने, संचार कौशल में सुधार करने और एकाग्रता शक्ति विकसित करने का एक आदर्श अवसर प्रदान किया. पहले दिन के कार्यक्रम का समापन दर्शकों द्वारा उत्साहपूर्वक गए गए राष्ट्रगान के साथ किया गया.

Must Read

Related Articles