Jamshedpur Womens College : वीमेंस कॉलेज में 22 सितंबर से होगी नये सत्र की शुरुआत, तैयारियों को लेकर प्राचार्या ने की अहम बैठक, नये सत्र से नया पाठ्यक्रम

Advertisement
Advertisement

Jamshedpur : वीमेंस कॉलेज में नया सत्र 22 सितंबर से ऑनलाइन शुरू हो रहा है। सबसे पहले कॉमर्स की स्नातक प्रथम सत्र की नवनामांकित छात्राएँ ऑनलाइन कक्षाओं में जुड़ेंगी। कॉलेज द्वारा ई-मेल से छात्राओं को सूचना भेजी जा रही है। इसी क्रम में समाज विज्ञान व मानविकी की ऑनलाइन कक्षाएं 23 और विज्ञान की 24 सितंबर से शुरू होंगी। प्राचार्या प्रो. (डॉ.) शुक्ला महांती ने नये सत्र की तैयारियों को लेकर सभी शिक्षक व शिक्षिकाओं के साथ अहम बैठक की। उन्होंने विभागाध्यक्षगण को विभागीय रूटीन उपलब्ध कराने का निर्देश दिया। पहले सेमेस्टर की कक्षाएं शुरू होने के बाद अन्य सेमेस्टर की कक्षाएं भी शुरू होंगी। प्राचार्या ने जानकारी दी कि कॉलेज ऑनलाइन शिक्षण के लिए लाइसेंसयुक्त सॉफ्टवेयर खरीदने की प्रक्रिया में है। इसके उपलब्ध हो जाने पर असीमित छात्राओं को एक साथ ऑनलाइन पढ़ाया जा सकेगा। उन्होंने विशेष तौर पर कहा कि कक्षाएं शुरू हो जाने से मानसिक अवसाद से छात्राएँ, शिक्षिकाएं व शिक्षक मुक्त रहेंगे। बौद्धिक व्यस्तता हमें नकारात्मक होने से बचाती है।

Advertisement
Advertisement
Advertisement

नये सत्र से नया पाठ्यक्रम

Advertisement

प्राचार्या ने बताया कि स्नातक और स्नातकोत्तर में जो नया नामांकन हुआ है, उन्हीं की पढ़ाई नये पाठ्यक्रम से होगी। इन पाठ्यक्रमों का अंतिम अनुमोदन कल अकादमिक कौंसिल की बैठक में होगा। पुराने सत्र की छात्राएँ पहले वाले पाठ्यक्रम के अनुसार ही पढ़ेंगी।

Advertisement

रिसर्च एण्ड डेवलपमेंट सेल होगा स्थापित

Advertisement

कॉलेज जल्दी ही अपना रिसर्च एण्ड डेवलपमेंट सेल स्थापित कर रहा है। यह एक इंटीग्रेटेड सेल होगा जो शिक्षक-शिक्षिकाओं को शोध प्रस्ताव तैयार कराने में सहयोग से लेकर विभिन्न संस्थाओं व निकायों से वित्तीय सहायता प्राप्त करने में मार्गदर्शक की भूमिका निभाएगा। शोध की प्राप्तियों का पेटेंट हासिल करने, शोध को प्रकाशित कराने का दायित्व भी सेल का होगा। प्राचार्या ने कहा कि इसके लिए सभी संकायों से प्रतिनिधियों को शामिल किया जाएगा।

Advertisement

दो पालियों में आयोजित हो सकती हैं कक्षाएं

Advertisement

प्राचार्या ने कहा कि राज्य सरकार उच्च शिक्षा में सकल नामांकन अनुपात को बढ़ाने के लिए प्रतिबद्ध है। इसलिए चांसलर पोर्टल के माध्यम से पहले की अपेक्षा अधिक नामांकन हुए हैं। सभी नामांकित छात्राएँ समुचित और समान रूप से शिक्षा पायें इसलिए दूसरी पाली में कक्षाएं शुरू की जानी है। इसके लिए जहाँ जरूरी है वहाँ अतिथि शिक्षक की व्यवस्था करने पर विचार किया जा रहा है। ऑनलाइन परीक्षा की सफलता को लेकर उन्होंने परीक्षा नियंत्रक डॉ रमा सुबह्मण्यम, सहयोगी शिक्षक-शिक्षिकाओं, तकनीकी समूह सहित सबकी प्रशंसा की। बैठक के दौरान उन्होंने सभी को सुरक्षित रहने की परामर्श दिया। कहा कि बहुत आवश्यकता होने पर ही घर से निकलें और कोविड के लिए जारी किए गए एहतियाती प्रोटोकॉल का पालन करें। विटामिन सी का भी सेवन नियमित रूप से करें।

Advertisement

Advertisement
Advertisement

Leave a Reply