spot_imgspot_img

Global Statistics

All countries
260,948,428
Confirmed
Updated on November 27, 2021 1:30 PM
All countries
234,007,937
Recovered
Updated on November 27, 2021 1:30 PM
All countries
5,207,568
Deaths
Updated on November 27, 2021 1:30 PM
spot_img

jpsc-cut-off-marks-जेपीएससी का कट ऑफ मार्क्स जारी, अभ्यर्थियों के 20 सवालों का क्रमवार जवाब लिखकर क्रिकेट के कुशल प्रशासक अमिताभ चौधरी ने मारी गुगली, राजनीति धाराशायी

Advertisement

रांची : झारखंड लोक सेवा आयोग (जेपीएससी) की 7वीं से लेकर दसवीं तक की पीटी परीक्षा को लेकर चल रहे विवाद के बीच जेपीएससी ने कट ऑफ मार्क्स जारी कर दिया है. अपने अधिकारिक वेबसाइट http://www.jpsc.gov.in पर इसको जारी किया गया है. इसके अलावा क्रिकेट के कुशल प्रशासक और पूर्व आइपीएस अमिताभ चौधरी ने अपनी गुगली पर राजनीति को ही धाराशायी कर दी है. उन्होंने बिंदूवार उठाये गये अभ्यर्थियों के सारे 20 सवालों के जवाब को भी जारी कर दिया है. नये कट ऑफ मार्क्स के तहत अनारक्षित श्रेणी का कट ऑफ अंक यानी सामान्य छात्रों के लिए 260 अंक, आदिवासी यानी एसटी के लिए कट ऑफ अंक 230, इबीसी, एससी का 238, इबीसी एनेक्शचर वन का कट ऑफ 252, ओबीसी एनेक्स्चर टू का कट ऑफ अंक 252, इडब्ल्यूएस का 238 कट ऑफ अंक तय किया गया है. जेपीएससी ने आदिम जनजाति, खेलकूद कोटा एवं महिलाओं अभ्यर्थियों के लिए भी अलग से कट ऑफ मार्क्स तय किया है. इसके तहत महिला सामान्य 260, अनुसूचित जनजाति 230, अनुसूचित जाति 238, ईबीसी 252, बीसी 252, इडब्ल्यूएस 238 तय किया गया है. इसके अलावा खेलकूद कोटा में कट ऑफ के तहत सामान्य 212, अनुसूचित जनजाति 210, अनुसूचित जाति 230, इब्ल्यूसी 218, बीसी 214, इडब्ल्यूएस 210, आदिम जनजाति के लिए 220 कटऑफ तय किया गया है. दिव्यांगों के लिए अलग से कट ऑफ मार्क्स जारी किया गया है. इसके तहत ऑटिज्म व मल्टीपल वाले का कट ऑफ मार्क्स 180, नेत्रहीन को 220, मूक बघिर का 212, लोकोमोटिव के लिए 246 कट ऑफ अंक जारी किया गया है.
20 सवालों के 20 जवाब देकर सबको चौकाया

जेपीएससी ने अपने वेबसाइट पर 20 सवालों के 20 जवाब दिये है, जो परीक्षा को लेकर उठाये गये है. इसके तहत तीन अहम सवाल कट ऑफ जारी करना, एक ही सेंटर से सभी अभ्यर्थी के पास होना और लोहरदगा, लातेहार और साहिबगंज के केंद्रों से क्रमवार रिजल्ट शामिल है. जेपीएससी ने अपने जवाब में बताया है कि एक ही कमरे से सभी के पास होने का दावा तथ्यों से परे है. जेपीएससी ने अपने जवाब में यह माना है कि लोहरदगा और साहिबगंज में क्रमवार रिजल्ट का मामला सामाने आया है. जेपीएससी ने बताया है कि इस बार की परीक्षा मं 3.7 लाख से ज्यादा अभ्यर्थी शामिल हुए थे. इसके कारण कुछ परीक्षा केंद्रों में कुछ ऐसी परिस्थितियां उत्पन्न हुई थी, जिसको देखते हुए इन केंद्रों के अभ्यर्थियों को औपबंधिक रूप से क्वालीफाई कर जांच की प्रक्रिया को बढ़ाया जा रहा है. दो केंद्रों के लिए पूरी परीक्षा को रद्द नहीं किया जा सकता है.

Advertisement
Advertisement

Advertisement
WhatsApp Image 2020-06-13 at 7.45.22 PM
IMG-20200108-WA0007-808x566
WhatsApp Image 2020-06-13 at 7.45.22 PM (1)
WhatsApp_Image_2020-03-18_at_12.03.14_PM_1024x512
previous arrow
next arrow

Leave a Reply

spot_img

Must Read

Related Articles

Don`t copy text!