Home स्टूडेंट जोन Kashi-Sahu-College-Saraikela : अनशनकारी छात्र की तबीयत में सुधार और एसडीओ के आश्वासन...

Kashi-Sahu-College-Saraikela : अनशनकारी छात्र की तबीयत में सुधार और एसडीओ के आश्वासन के बाद छात्रों ने हटाया सड़क जाम, काशी साहू कॉलेज में एमए की पढ़ाई शुरू करने की मांग पूरी होने तक आमरण अनशन जारी रखने की प्रतिबद्धता दोहरायी, पुनः अनशन स्थल पर जमे

सरायकेला : सरायकेला स्थित काशी साहू महाविद्यालय में एमए की पढ़ाई शुरू करने की मांग को लेकर आमरण अनशन पर बैठे छात्र रविंद्र महतो की तबीयत में सुधार होने और एसडीओ के आश्वासन के बाद सड़क जाम पर बैठे छात्र वापस अनशन स्थल पर पहुंच आमरण अनशन जारी रखा है. छात्रों ने मांग पूरी होने तक अनशन जारी रखने की प्रतिबद्धता दोहराई है. बता दें कि गुरुवार की शाम अनशन के तीसरे दिन अचानक छात्र रविंद्र महतो की तबियत बिगड़ने पर छात्रों ने एम्बुलेंस की मांग की, मगर समय पर एम्बुलेंस नहीं मिलने और सिविल सर्जन पर दुर्व्यवहार करने का आरोप लगाते हुए छात्र बीमार अनशनकारी छात्र को कंधे पर ही लेकर सदर अस्पताल पहुंचे. जहां छात्र को भर्ती कराने के बाद आक्रोशित छात्र सरायकेला सदर अस्पताल के समक्ष धरने पर बैठ गए. जिससे सरायकेला- टाटा मार्ग पर आवागमन पूरी तरह बाधित हो गया. करीब एक घंटे तक आम से लेकर खास सरायकेला- टाटा मार्ग जाम में फंसे रहे, जिसमें जिला जज और उपायुक्त भी शामिल रहे. (नीचे भी पढ़ें)

छात्र सिविल सर्जन के खिलाफ कार्रवाई की मांग पर अड़े रहे. मामले की गंभीरता को देखते हुए एसडीओ रामकृष्ण कुमार सदर अस्पताल पहुंचे जहां उन्होंने बीमार छात्र का हाल जाना. हालांकि छात्र की स्थिति में सुधार होता देख और एसडीओ के आश्वासन के बाद छात्रों ने सड़क जाम वापस ले लिया. हालांकि आमरण अनशन जारी रखने की बात कही. वहीं एसडीओ रामकृष्ण कुमार ने बताया कि बीमार छात्र अभी ठीक है. अनशन स्थल पर मेडिकल टीम को तैनात किया गया है. छात्रों के साथ दुर्व्यवहार से सम्बंधित लिखित शिकायत मिलने पर कार्रवाई की जाएगी. बता दें कि काशी साहू महाविद्यालय में एमए की पढ़ाई की मांग को लेकर छात्र 2 दिनों से आमरण अनशन पर बैठे हैं. छात्रों की मांग पर ना तो विश्वविद्यालय प्रबंधन ना ही जिला प्रशासन ने कोई सुध ली. इधर तीसरे दिन देर शाम छात्र रविंद्र महतो की तबीयत बिगड़ने के बाद मामला तनावपूर्ण हो गया. वहीं छात्रों के आंदोलन को भाजपा नेता सह नपं उपाध्यक्ष मनोज चौधरी ने नैतिक समर्थन देते हुए विश्वविद्यालय प्रशासन से अविलंब छात्रों की मांग पूरी करने की अपील की है.

Don`t copy text!