kolhan-university-syndicate-meeting : कोल्हान विश्वविद्यालय को जेपीएससी से मिले 14 शिक्षकों की पदस्थापना पर लगी मुहर, घंटी आधारित शिक्षकों की नौकरी जायेगी, जानें घंटी आधारित कितने शिक्षक हटाये जायेंगे और क्या है पैमाना

राशिफल

जमशेदपुर : चाईबासा स्थित कोल्हान विश्वविद्यालय के स्नातकोत्तर विभाग और कॉलेजों में स्नातक के लिए जेपीएससी की ओर से भूगोल के शिक्षकों की नियुक्ति की गयी है. इन शिक्षकों के प्रमाण पत्रों की जांच के बाद इनकी पदस्थापना को लेकर विश्वविद्यालय की सिंडिकेट में शुक्रवार को मुहर लगा दी. विश्वविद्यालय में सिंडिकेट की मीटिंग कुलपति डॉ गंगाधर पांडा की अध्यक्षता में हुई. इसमें पूर्व में संपन्न बैठकों में लिये गये निर्णय पर सहमति प्रदान की गयी. वहीं जेपीएससी से नवनियुक्त शिक्षकों की पदस्थापना के लिए कुलपति को अधिकृत किया गया. साथ ही नवनियुक्त नियमित शिक्षकों की पदस्थापना के साथ कॉलेजों में सेवा दे रहे घंटी आधारित शिक्षकों की सेवा समाप्त करने का निर्णय लिया गया. इसके लिए पैमाना भी तय किया गया. बैठक में विश्वविद्यालय के प्रतिकुलपति, कुलसचिव, उप कुलसचिव, वित्त सलाहकार, वित्त अधिकारी डॉ पीके पानी, सिंडिकेट सदस्य राजेश शुक्ल, जेबी तुबिद समेत अन्य उपस्थित थे. (नीचे भी पढ़ें)

मेरिट लिस्ट व रोस्टर के आधार पर होगी हटाने की प्रक्रिया
बैठक में लिये गये निर्णय के अनुसार घंटी आधारित शिक्षकों की सेवा समाप्त करने की कार्रवाई मेरिट लिस्ट व रोस्टर के आधार पर की जायेगी. इन शिक्षकों की नियुक्ति के समय जो मेरिट लिस्ट बनी थी, उसमें निचले पायदान से नामों का चयन करते हुए शिक्षकों को हटाया जायेगा. यानी मेरिट लिस्ट में वरीयता क्रम में शामिल शिक्षकों को रखा जायेगा, इसके अलावा अन्य को हटाया जायेगा. इनके स्थान पर जेपीएससी से नवनियुक्त नियमित शिक्षकों को पदस्थापित किया जायेगा. (नीचे भी पढ़ें)

19 में से 11 शिक्षकों की जायेगी नौकरी
कोल्हान विश्वविद्यालय पीजी डिपार्टमेंट समेत विभिन्न अंगीभूत कॉलेजों के भूगोल विभाग में कुल 22 पद रिक्त हैं. इनमें तीन पद पीजी डिपार्टमेंट तथा 19 पद विभिन्न कॉलेजों के हैं. इनमें से 14 में तीन शिक्षकों की नियुक्ति जेपीएससी के द्वारा ही पीजी डिपार्टमेंट के लिए की गयी है. शेष 11 शिक्षकों को विभिन्न कॉलेजों में पदस्थापित किया जायेगा. इस तरह जहां 11 शिक्षकों की पदस्थापना होगी, वहीं घंटी आधारित 11 शिक्षक हटाये जायेंगे. वहीं आठ पद बचे. इनमें से एसटी कोटे से नियुक्त घंटी आधारित दो शिक्षक और सामान्य कोटे से छह शिक्षकों की नौकरी यथावत रहेगी.

Must Read

Related Articles