कोटे की सीटों पर नामांकन नहीं होने से स्कूल प्रबंधन के खिलाफ डीएसई ऑफिस पहुंचा अभिभावक संघ, स्कूलों से नामांकन की सूची सार्वजनिक करने की मांग

Advertisement
Advertisement

जमशेदपुर : वैश्विक संकट कोरोना संक्रमण काल के बीच अभिभावक और निजी स्कूल प्रबंधन के बीच टकराव कम होता नहीं दिख रहा है. कोरोना काल की अवधि की फीस को लेकर पूर्व से ही अभिभावक और निजी स्कूल प्रबंधन और शिक्षा विभाग आमने-सामने हैं. वहीं दूसरी ओर अब निजी स्कूलों द्वारा लॉकडाउन का हवाला देते हुए आरटीई (शिक्षा का अधिकार अधिनियम) आरक्षित कोटे की सीटों पर कमजोर एवं अभिवंचित वर्ग के बच्चों का नामांकन नहीं लिए जाने का मामला तूल पकड़ता जा रहा है. इसे लेकर जमशेदपुर अभिभावक संघ एक बार फिर से आंदोलन की मुद्रा में नजर आ रहा है.

Advertisement
Advertisement

संघ की ओर से जिला शिक्षा अधीक्षक को एक ज्ञापन सौंप शहर के वैसे निजी स्कूलों की सूची उपलब्ध कराई गयी है, जो लॉकडाउन की आड़ में अभिवंचित वर्ग के बच्चों के लिए आरक्षित सीटों पर नामांकन की प्रक्रिया शुरू नहीं किए जाने का फरमान जारी कर रहे हैं. उन्होंने बताया कि जमशेदपुर के कदमा औऱ मानगो के केरला पब्लिक स्कूल, मानगो के साउथ प्वाइंट एकेडमी, बारीडीह के जेपीएस औऱ एजेडब्लूसी औऱ केरला समाजम गोलमुरी स्कूल आरटीई कानून को धत्ता बताते हुए आरक्षित कोटे के बच्चों का नामांकन लेने से इंकार कर रहे हैं. वहीं उन्होंने विभाग से उन सभी स्कूलों के नामांकन की सूची उपलब्धा कराए जाने की मांग की है.

Advertisement

Advertisement
Advertisement
Advertisement

Advertisement

Leave a Reply