spot_img
बुधवार, अप्रैल 21, 2021
spot_imgspot_img
spot_img

xlri-7th-dr-verghese-kurien-memorial-oration-एक्सएलआरआइ का 7वां वर्गीस कुरियन व्याख्यान में भाग लेंगे विश्व प्रसिद्ध पर्यावरणविद आशीष कोठारी, जानें कौन है आशीष कोठारी

Advertisement
Advertisement
आशीष कोठारी.

जमशेदपुर : देश के नामी-गिरामी प्रबंधकीय संस्थान में शुमार जमशेदपुर रके एक्सएलआरआइ की ओर से श्वेत क्रांति के जनक डॉ वर्गीस कुरियन की याद में आयोजित होने वाले सातवें डॉ वर्गीस कुरियन मेमोरियल व्याख्यान 16 जनवरी को आयोजित होने वाला है. यह व्याख्यान इस साल वर्चुअल तरीके से होगा, जिसमें देश के नामचीन पर्यावरणविद आशीष कोठारी मुख्य वक्ता होंगे. वे कल्पवृक्ष नामक संस्था के जनक है. वे पर्यावरण के इको स्वराज आंदोलन के बारे में लोगों को जानकारी देंगे. एक्सएलआरआइ के निदेशक फादर पी क्रिस्टी ने बताया कि डॉ वर्गीस कुरियन देशी थिंकर और क्रांतिकारी व्यक्तित्व थे, जिनको इस तरह के व्याख्यान के बहाने याद किया जाता है और इससे देश को और सशक्त बनाने में मदद मिलती है. समाज में बदलाव लाने के लिए उठाये गये कदमों को आत्मसात करने के लिए यह व्याख्यान को आयोजित किया जाता है, जो छात्रों को इस साल पर्यावरण के नजदीक लायेगा. एक्सएलआरआइ के फादर अरुपे सेंटर के चेयरपर्सन प्रोफेशर रघुराम टाटा ने बताया कि सामाजिक उत्तरदायित्व को बरकरार रखने के लिए यह कदम उठाया गया है. इस बार व्याख्यान देने वाले आशीष कोठारी देश के नामचीन पर्यावरणविद है, जो पर्यावरण और विकास जैसे मुद्दों को लेकर कई सारे कदम उठा चुके है. वे नर्मदा बचाओ आंदोलन और बीज बचाओ आंदोलन जैसे कई सारे आंदोलन से जुड़े र हे है. वे नयी दिल्ली के इंडियन इंस्टीच्यूट ऑफ पब्लिक एडमिनिस्ट्रेशन से भी जुड़े रहे है. वे अमेरिका के बावडाइन कॉलेज के मेलन फेलो और गेस्ट फैकल्टी के तौर पर कई देश और विदेशों के संस्थानों के रुप में काम कर चुके है. आशीष कोठारी विश्व सुरक्षित क्षेत्र आयोग के स्टीयरिंग कमेटी में है जबकि वे 1998 से 2008 तक पर्यावरण और आर्थिक मामलों को लेकर सरकारी एजेंसियों के साथ काम कर चुके है. वे दुनिया के ग्रीन पीस आंदोलन से भी जुड़े है. वर्तमान में वे ग्रीन पीस इंडिया बोर्ड के चेयरमैन है.

Advertisement
Advertisement

Advertisement
Advertisement

Leave a Reply

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.

spot_imgspot_img

Must Read

Related Articles

today’s-history-जानें आज का इतिहास

today’s-history-जानें आज का इतिहास

today’s-history-जानें आज का इतिहास

today’s-history-जानें आज का इतिहास

today’s-history-जानें आज का इतिहास

Don`t copy text!