jharkhand election 2019 : jmm-झामुमो जिला अध्यक्ष ने कहा-बहरागोड़ा में पहले विद्युत फिर कुणाल गये, झामुमो का ही बनता रहा विधायक, अब फिर झामुमो जीतेगी, झामुमो संस्था है, लोग आते है, जाते है-video

Advertisement
Advertisement

चाकुलिया : बहरागोड़ा विधायक कुणाल षाड़ंगी के भाजपा में शामिल होने के पश्चात बुधवार की शाम पुराना बाजार स्थित धर्मशाला प्रांगण में झामुमो के जिलाध्यक्ष रामदास सोरेन ने चाकुलिया और बहरागोड़ा प्रखंड के झामुमो कार्यकर्ताओं के साथ बैठक की. बैठक को संबोधित करते हुए श्री सोरेन ने कहा कि बहरागोड़ा विस सीट झामुमो की थी और रहेगी. विधायक कुणाल षाड़ंगी कुछ अपने सहयोगियों के साथ ही भाजपा में शामिल हुए हैं, संगठन के कार्यकर्ता नहीं. झामुमो कार्यकर्ता आज भी झामुमो के साथ हैं. पार्टी के कार्यकर्ता हताश न होकर संगठन को और मजबूत करने पर जुट जायें. झामुमो की ऊपज आंदोलन से हुई है. पार्टी माटी और क्षेत्र से जुड़ी हुई है. कार्यकर्ता चुनाव की तैयारी करें. झामुमो जल्द ही बहरागोड़ा विस क्षेत्र से अपने उम्मीदवार की घोषणा करेगा. उन्होंने कहा कि झामुमो के लिये ये पहला अवसर नहीं है, जब कोई विधायक पार्टी छोड़कर चला गया है.

Advertisement
Advertisement

इससे पूर्व भी मौजूदा सांसद विधुत वरण महतो भी झामुमो से विधायक थे, तब वह भाजपा में चले गये. तब झामुमो ने कुणाल को मैदान में उतारकर जिताने का काम किया और अब कुणाल भी भाजपा में चले गए. इससे झामुमो टूटा नहीं है, झामुमो दोबारा किसी दूसरे को उम्मीदवार बनाकर जिताने का काम करेगा. पार्टी (झामुमो) के कार्यकर्ता संगठन का काम करें, जहां जरूरत महसूस हो जिला कमेटी को बुलाये, जिला के पदाधिकारी हर सहयोग करेगी. श्री सोरेन ने कहा कि आज भी जो कार्यकर्ता पार्टी से जुड़े हुए हैं वे सभी गुरुवार को जमशेदपुर आयें और पार्टी के नेता हेमंत सोरेन के साथ बैठक कर चुनाव और संगठन की मजबूती पर परामर्श लें. श्री सोरेन से समीर महंती के झामुमो के सम्पर्क करने के प्रश्न पर कहा कि अभी कोई बात नहीं हुई है, परंतु भाजपा के कई नेता पार्टी के संपर्क में हैं. आचार संहिता लगने के पूर्व ही पार्टी बहरागोड़ा विस क्षेत्र से अपने उम्मीदवार की घोषणा कर देगी. बैठक में आस्तिक महतो, प्रमोद लाल, कान्हु सामंत, शंकर हेम्ब्रम, शेख बकरूद्दीन, बाघराय मांडी समेत अन्य ने भी अपने विचार रखे. इस दौरान साहेबराम मांडी, ललित मांडी, धनंजय करुणामय, बलराम महतो, घनश्याम महतो, मंगल हांसदा, श्रीनाथ मुर्मू, अर्जुन हेम्ब्रम, डमन माझी, संजीत सिंह, मदन हेम्ब्रम, दशरथ हांसदा हरीपदो गोप समेत अन्य उपस्थित थे.

Advertisement
Advertisement
Advertisement

Advertisement
Advertisement

Advertisement
Advertisement
Advertisement

Advertisement