jharkhand-shame-झारखंड में फिर मानवता शर्मसार, प्रेमी जोड़े को ग्रामीणों ने अर्धनग्न कर जूते-चप्पल का माला पहनाकर घुमाया, वीडियो बनाकर किया वायरल, लगातार एक सप्ताह में ऐसी दूसरी घटना, ”मॉब वायलेंस” की ओर बढ़ता झारखंड

Advertisement
Advertisement

साहेबगंज : झारखंड में मानवता एक बार फिर से शर्मसार हो गयी. साहेबगंज जिले के रंगा थाना क्षेत्र में इस तरह की घटना को ग्रामीणों ने अंजाम दिया. ग्रामीणों ने प हले तो प्रेमी जोड़े को पकड़कर पीटा, फिर उनको अर्धनग्न किया और फिर उनको जूते-चप्पल की माला पहनाकर पूरे गांव में घुमाया. इस दौरान लोगों ने उसका वीडियो बनाया, जो वायरल भी कर दिया गया. एक सप्ताह में इस तरह की दूसरी घटना झारखंड में घटित हुई है. झारखंड के सिमडेगा जिले में तीन दिनों पहले ही एक महिला को गांव में नंगा कर पंचायत में सजा सुनायी गयी थी और डायन बताकर उसको अर्धनग्न कर घुमाया गया था. इस मामले में पुलिस ने नौ लोगों को जेल भेज दिया था, लेकिन झारखंड में इस तरह की वारदात बढ़ना मॉब लिंचिंग जैसी घटनाओं को बढ़ावा देता नजर आ रहा है. मॉब वायलेंस को कुचलने के लिए अब सरकार को जरूरी कदम उठाने का समय जरूर आ चुका है नहीं तो यह हर गांव में बढ़ सकता है.

Advertisement
Advertisement

साहेबगंज में क्या है घटना :
साहेबगंज जिले के रंगा थाना क्षेत्र में यह घटना घटी. साहेबगंज के तीन पहाड़ छाना क्षेत्र के बाकुड़ी निवासी लड़की, जो अपने रिश्तेदार के घर आयी थी. उसकी शादी मोदीकोला गांव के ही रहने वाले एक युवक के साथ हुई थी, लेकिन उसका प्रेम संबंध जूही बोना गांव के रहने वाले युवक के साथ चल रहा था. बताया जाता है कि गुरुवार की देर रात को शिवा पहाड़ गांव के निकट रेलवे लाइन के पास ये दोनों आपत्तिजनक हालत में पाये गये, जिसके बाद इन दोनों को गांव में ही बंधक बना लिया गया और पिटाई की गयी. इसके बाद इन दोनों को अर्धनग्न कर दिया गया और जूते-चप्पल की माला पहनाकर पूरे गांव में घुमाया गया. शुक्रवार की सुबह तक ऐसा होता रहा, जिसके बाद युवक के परिजनों को वहां बुलाया गया और गांव में पंचायत बैठी, जिसके बाद युवक पर पांच लाख रुपये का जुर्माना लगा दिया गया. इस सारी घटना को भीड़ मूकदर्शक बनकर देखती रही, कोई पिटाई करता तो कोई उनके साथ छेड़खानी करता, लेकिन कोई उनको बचाने नहीं आया. इस घटना की सूचना मिलने के बाद एसडीपीओ प्रमोद मिश्रा दल बल के साथ मौके पर पहुंचे और उनको मुक्त कराया. इस दौरान पांच थाना की पुलिस को बुलाया गया ताकि इस तरह की घटना को रोका जा सके. इस घटना के बाद पुलिस ने मामला तो दर्ज कर लिया है और मामले को लेकर कार्रवाई की जा रही है.

Advertisement

Advertisement
Advertisement

Leave a Reply