spot_imgspot_img
spot_img

jamshedpur-police-big-success-जमशेदपुर पुलिस को बड़ी कामयाबी, सीएच एरिया में फायरिंग मामले में 7 अपराधी धराए, हथियार बरामद, दो की अब भी तलाश, फेसबुक का विवाद आपसी गोलीबारी तक पहुंची, पुलिस ने किया खुलासा-देखिये-video-क्या कह रहे जमशेदपुर एसएसपी

बरामद हथियार. (नीचे पूरी रिपोर्ट पढ़ें देखे वीडियो)
गिरफ्तार अपराधियों के साथ पुलिस के अधिकारी. (नीचे देखे वीडियो)
जमशेदपुर के एसएसपी डॉ एम तमिल वाणनन का वीडियो बयान. (नीचे पूरी रिपोर्ट पढ़ें)

जमशेदपुर : जमशेदपुर के बिष्टुपुर थाना अंतर्गत सीएच एरिया स्थित पेट्रोल पंप के पास पिंटू यादव पर फायरिंग मामले में बिष्टुपुर पुलिस ने खुलासा कर लिया है. इस मामले में पुलिस ने सात अपराधियों को गिरफ्तार किया है. गिरफ्तार किए गए अपराधियों में बीएच एरिया रोड नंबर 7 निवासी मनीष राजहंस, उलीडीह न्यू सुभाष कॉलोनी निवासी अभिषेक कुमार पांडेय, काशीडीह रोड नंबर 9 निवासी गौरव विश्वकर्मा, छोटू कुमार, शास्त्री नगर कदमा निवासी मो आसिफ, सोनारी जंगली बस्ती निवासी सनी हेंब्रम और आदर्श नगर सोनारी निवासी चंदन पंडित शामिल है. पुलिस ने इनकी निशानदेही में घटना में प्रयुक्त हथियार भी बरामद किया है. पुलिस ने एक देसी कट्टा, एक देसी पिस्टल, पांच जिंदा कारतूस, एक खोखा, पांच मोबाइल और घटना में प्रयुक्त बाइक भी बरामद की है. बता दें कि 4 जून को बाइक सवार तीन अपराधियों ने जेल से छूट कर आए पिंटू यादव पर उस वक्त फायरिंग दी जब वह अपने साथी बबलू लोहार के साथ बाइक पर जा रहा था. अपराधियों ने उसे सीएच एरिया पेट्रोल पंप के पास रोककर उसपे दो राउंड फायरिंग कर दी थी. पिंटू ने पेट्रोल पंप में घुसकर अपनी जान बचाई थी. पुलिस से मिली जानकारी के मुताबिक, घटना के दिन मनोज धीवर, विशाल धीवर और मनीष राजहंस ने सीएच एरिया पेट्रोल पंप के पास गोली चलायी थी. सन्नी हेम्ब्रम चाय की दुकान के पास रेकी कर रहा था. सन्नी ने ही जानकारी दी, जिसके बाद तीनों आये, जिसके बाद तीनों आये और उसको रोक दिया, जिसके बाद पिंटू ने पत्थर फेंक दिया, जिसके बाद वे लोग फायरिंग करने के बाद भाग गये. वे लोग वहां से भागकर साकची के काशीडीह स्थित छोटू कुमार के पास गये और फिर छोटू उसको गौरव उर्फ पगला के पास ले गया. वहां से अभिषेक पांडेय को बुलाया और अभिषेक पांडेय ओला कैब बुक करके एक हजार रुपये भी दिया और रांची भेज दिया. रांची में मोहम्मद आसीफ ने अपने आधार कार्ड से रांची के विमला लॉज में ठहराया और फिर वहां से दूसरा दिन वे लोग वापस जमशेदपुर आ गये और गौरव और चंदन पंडित को हथियार दे दिया. पुलिस ने बताया कि 2020 में बस्तियों में लड़ाई हुई थी और फिर 2021 में फेसबुक पर लड़ाई हुई थी, जिसके बाद विवाद शुरू हो गया था, जिसके जवाब में इस कांड को अंजाम दिया गया.

[metaslider id=15963 cssclass=””]

WhatsApp Image 2022-04-29 at 12.21.12 PM
WhatsApp-Image-2022-03-29-at-6.49.43-PM-1
Shiv Yog Physiotherapy And Yoga Classes

Leave a Reply

spot_img

Must Read

Related Articles

Don`t copy text!