अस्ताचलगामी सूर्य को भक्तों ने किया नमन, मुख्यमंत्री, सांसद समेत आम व खास ने झुकाया सिर, नदी घाटों पर उमड़ी भीड़

Advertisement
Advertisement

जमशेदपुर : लोक आस्था का महा पर्व पूरे विश्व में मनाया जा रहा है वहीं सरायकेला जिला में भी बड़े ही निष्ठा और पवित्रता के साथ यह पर्व मनाया जा रहा है. वहीं हजारों की संख्या में श्रद्धालुओं का सैलाब खरकई और स्वर्णरेखा नदी घाटों पर उमड़ पड़ा. जहां कड़ी सुरक्षा के बीच श्रद्धालुओं ने अस्ताचलगामी भगवान भाष्कर को अर्ध्य देकर परिवार और समाज के कल्याण की कामना की.

Advertisement
Advertisement

दूसरी ओर, सूर्य उपासना के महापर्व छठ पर अस्ताचलगामी भगवान भाष्कर को अर्ध्य देने के लिए जमशेदपुर के सिदगोड़ा स्थित सूर्य मंदिर में श्रद्धालूओं की भारी भीड़ उमड़ पड़ी. झारखंड के मुख्यमंत्री रघुवर दास हर वर्ष की भांती इस वर्ष भी सिदगोड़ा सूर्य मंदिर पहुंचे. उन्होंने लोगों का अभिवादन किया. साथ ही अपने पत्नी के साथ भगवान भाष्कर को अर्घ्य दिया. वहीं सूर्य मंदिर परिसर में मुख्यमंत्री घूम घूम कर पहले व्रतधारियों से मिलते नजर आए जिसके बाद उन्होंने सूर्यमंदिर में भगवान की पूजा अर्चना की, इसके बाद वे अपने पत्नी रुकमनी देवी के साथ छठ घाट पहुंचे जहाँ उन्होंने भगवान भास्कर के अस्ताचलगामी रूप को अर्घ देकर उन्हें नमन किया , वैसे ये पहला मौका था जब मुख्यमंत्री अस्ताचलगामी सूर्य को अर्घ देते नजर आये, साधारण तौर पर हर वर्ष वे उदयीमान भास्कर को अर्घ देते हैं , वहीँ छोटे छोटे बच्चे मुख्यमंत्री के साथ सेल्फी एवं उनसे हाथ मिलाते नजर आए. बच्चों संग सेल्फी के समय मुख्यमंत्री काफी खुश नजर आ रहें थें.

Advertisement
Advertisement
Advertisement

जमशेदपुर में अस्ताचलगामी छठ पर्व बड़े ही उत्साह के साथ सम्पन्न हुआ. वहीं जुगसलाई वासियों को सांसद विद्युत वरण महतो ने बड़ी सौगात दी है. जमशेदपुर सांसद ने मंगलवार को जुगसलाई के शिव घाट पर नव निर्मित छठ घाट का तोहफा दिया है. वैसे झारखंड में आदर्श आचार संहिता लागू है, लेकिन आस्था के आगे सांसद खुदको रोक न सके और पत्नी उषा महतो के साथ शिव घाट पहुंच जहां छठ घाट का विधिवत उद्घाटन किया वहीं अस्ताचलगामी भगवान भाष्कर को अर्ध्य देकर परिवार और समाज के साथ देश और राज्य के खुशहाली की कामना भी की.

Advertisement
Advertisement

Advertisement
Advertisement
Advertisement

Advertisement