spot_img
मंगलवार, मई 18, 2021
spot_imgspot_img
spot_img

Jamshedpur : जमशेदपुर वीमेंस कॉलेज, वीमेंस कॉलेज में भव्यता से मना गणतंत्र दिवस समारोह, यह संस्थान स्त्री सशक्तिकरण का केन्द्र बन कर उभरा है : प्रो शुक्ला महांती

Advertisement
Advertisement

जमशेदपुर : वीमेंस कॉलेज में मंगलवार को केयू की पूर्व कुलपति व वीमेंस कॉलेज की प्राचार्या प्रोफेसर शुक्ला महांती ने झंडोत्तोलन किया। एनसीसी की अंडर ऑफिसर्स ने उन्हें कार्यक्रम स्थल तक स्काॅट किया। इस अवसर पर उन्होंने उपस्थित शिक्षक-शिक्षिकाओं, शिक्षकेत्तर कर्मचारियों, छात्राओं, एनसीसी कैडेट्स, एनएसएस वाॅलेंटियर्स, योग, मार्शल आर्ट की पूरी टीम को बहत्तरवें गणतंत्र दिवस की शुभकामनाएं दीं। उन्होंने कहा कि 26 जनवरी 1950 से लेकर करीब सात दशकों की इस यात्रा में हमारा लोकतंत्र लगातार परिपक्व हुआ है। यह हमारे संविधान की खूबसूरती है कि न केवल कलेवर में यह विशालतम है, बल्कि मानवीय करुणा और सामाजिक समावेशन की विराट चेतना का भी वैधानिक दस्तावेज है। दुनिया का शायद ही कोई ऐसा लिखित संविधान है जो समाज के सबसे आखिरी पायदान पर खड़े व्यक्ति के नागरिक अधिकारों की सुरक्षा की गारंटी देता है। संघ और राज्य के बीच अधिकारों और कर्तव्यों का ऐसा सटीक वितरण किया गया है कि वास्तविक लोकतंत्र धड़कता दिखता है। सभी सांविधानिक निकाय अधिकार, कर्तव्य और न्याय के स्तंभ हैं। नीतियां, उनका क्रियान्वयन और न्याय की प्रक्रिया ऐसी बनाई गई है कि सबकी सामाजिक सुरक्षा तय की जा सके। इसी तर्ज पर हमारा यह वीमेंस कॉलेज परिवार भी अपनी हर छात्रा के बेहतर कैरियर और मान सम्मान की रक्षा के लिए काम कर रहा है। खेल, पुलिस सेवा, वैज्ञानिक अनुसंधान, शिक्षा, कला-संस्कृति, सामुदायिक सेवा जैसे सभी क्षेत्रों में हमारी बच्चियों ने अपना परचम लहराया है। यहाँ हम केवल बच्चियों के शिक्षक की तरह काम नहीं कर रहे, बल्कि उनके मेंटर्स का दायित्व भी निभा रहे हैं। मैंने खुद पिछले एक साल के दौरान काॅलेज में नामांकित लगभग सभी छात्राओं से बातचीत की। उनकी समस्याओं को जाना और समाधान निकाला है। मेरे काॅलेज के शिक्षक व शिक्षिकाएं भी ऐसी ही भूमिकाएं निभा रहे हैं। इस कोविड के दौर में हमारे काॅलेज से लगभग एक हजार छात्राओं ने विप्रो, वेदांता और टीसीएस जैसी कंपनियों में शानदार जाॅब पाई है। सीआरपीएफ, राज्य पुलिस, एयर फोर्स व नेवी में भी छात्राएँ जाने लगी हैं। वे इन रक्षा सेवाओं में कमीशंड ऑफिसर बनें इसके लिए हम जल्दी ही उनके प्रशिक्षण की व्यवस्था करने जा रहे हैं। तीनों सेनाओं के हाईली रैंक्ड ऑफिसर्स बच्चियों को इन सेवाओं के लिए प्रशिक्षित करें, इसकी कवायद शुरू कर दी गई है। खेलकूद के लिए जेआरडी स्पोर्ट्स से अनुबंध तो है ही, इसे अब और प्रतिस्पर्धी बनाया जाएगा। स्पोर्ट्स फेलोशिप जैसी योजनाओं पर काम चल रहा है। हम एकेडमिक एक्सीलेंस को शत प्रतिशत सुनिश्चित कर रहे हैं। योग में पीजी डिप्लोमा से आगे बढ़कर एमए इन योग की पूर्णकालिक पढ़ाई शुरू की गई है। एमएससी भौतिकी की पढ़ाई भी शुरू हो चुकी है। आठ विषयों में पीएचडी की पढ़ाई आरंभ कर दी गई है। कुल मिलाकर यह संस्थान निस्संदेह स्त्री सशक्तिकरण के विश्वसनीय केन्द्र के रूप में उभरा है। आज इस गणतंत्र दिवस के अवसर पर हम नये लक्ष्यों और नये संकल्पों को धरातल पर उतारने के लिए प्रतिबद्धता जाहिर करते हैं। (नीचे भी पढ़ें)

Advertisement
Advertisement

समारोह में एनसीसी, एनएसएस व योग की छात्राओं ने मार्च पास्ट किया और राष्ट्र ध्वज को सलामी दी। संगीत विभागाध्यक्ष डाॅ. सनातन दीप के नेतृत्व में छात्राओं ने राष्ट्र भक्ति गीत की आकर्षक प्रस्तुति दी। योग, मार्शल आर्ट व एनसीसी की छात्राओं ने क्रमशः संगीतमय योग, आत्मरक्षण युद्ध कौशल व राष्ट्रीय सुरक्षा की संगीत-नृत्यमय ड्रिल की प्रस्तुति दी। काॅलेज के विज्ञान संकायाध्यक्ष डाॅ. जावेद अहमद, प्रधान सहायक विश्वंभर यादव सहित बीएड, इंटर व अन्य विभागों की छात्राओं ने अपने विचार रखे। संचालन डाॅ. नूपुर अन्विता मिंज और डाॅ. भारती कुमारी ने किया। इस अवसर पर कोविड 19 के सभी एहतियाती प्रोटोकॉल का पालन करते हुए छात्राओं व शिक्षक शिक्षिकाओं ने सोत्साह भाग लिया।

Advertisement

Advertisement
Advertisement

Leave a Reply

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.

spot_imgspot_img

Must Read

Related Articles

Don`t copy text!