jamshedpur-two-big-loss-जमशेदपुर में ”खोया” अपना ”दो कार्यकर्ता”, बिष्टुपुर के पूर्व भाजपा मंडल अध्यक्ष बिनोद पांडेय घर से निकल रहे थे, अचानक से गिर पड़े, हो गयी मौत, गोविंदपुर स्टेशन निर्माण के नायक शालदेव शाह की अचानक से घर पर ही तबीयत बिगड़ी, अस्पताल लाये गये तो हो गयी मौत

राशिफल

स्वर्गीय बिनोद पांडेय.

जमशेदपुर : जमशेदपुर ने अपना दो बड़ा कार्यकर्ता को खो दिया है. जमशेदपुर के पुराने भाजपा कार्यकर्ता और बिष्टुपुर के पूर्व मंडल अध्यक्ष बिनोद पांडेय की जहां मौत हो गयी वहीं, गोविंदपुर स्टेशन का निर्माण कराने के आंदोलन के नायक कहे जाने वाले शालदेव शाह का भी शुक्रवार को निधन हो गया.

बिष्टुपुर के पूर्व मंडल अध्यक्ष बिनोद पांडेय की ऐसी हुई मौत
बिष्टुपुर के पूर्व मंडल अध्यक्ष और भाजपा के पुराने नेता बिनोद पांडेय का शुक्रवार को निधन हो गया. 53 साल के बिनोद पांडेय अपने आवास से गाड़ी पर परिवार के साथ कहीं जाने के लिए बैठ रहे थे. इसी बीच अचानक वे बेहोश होकर गिरे. उनको किसी तरह टीएमएच ले जाया गया, जहां उनकी मौत हो गयी थी. चिकित्सकों ने बताया कि बिनोद पांडेय को ब्रेन स्ट्रोक हो गया था और दिल का दौरा भी पड़ गया था, जिससे उनकी मौत हो गयी थी. बिनोद पांडेय पुराने भाजपा नेता है और आरडी द्विवेदी के करीबी रहे है. सवर्ण महासंघ फाउंडेशन के राष्ट्रीय महामंत्री सह भाजपा नेता डीडी त्रिपाठी ने भाजपा के पूर्व मंडल अध्यक्ष एवं अन्य प्रभार में लंबे समय तक योगदान देने वाले भाजपा के सबसे हंसमुख व्यक्तित्व विनोद पांडेय की आकस्मिक निधन पर गहरा शोक व्यक्त किया हैं. श्री त्रिपाठी ने कहा कि उनका राजनीतिक एवं सामाजिक जीवन आदर्श का पर्याय रहा हैं. उनका आकस्मिक हम सबको छोड़ जाना व्यक्तिगत एवं सांगठनिक रूप से बहुत बड़ा शून्यता पैदा कर गया हैं. हम ईश्वर से उनकी मोक्ष की कामना करते हैं. दूसरी ओर, भाजपा के जमशेदपुर पश्चिम से प्रत्याशी रहे देवेंद्र सिंह ने भी उनके परिवार से मुलाकात की और अपनी श्रद्धांजलि अर्पित की. बिनोद पांडेय का अंतिम संस्कार बिहार में किया जायेगा, जिसके लिए उनका शव बिहार के लिए रवाना कर दिया गया है.

स्वर्गीय बिनोद पांडेय को श्रद्धांजलि देते देवेंद्र सिंह.

गोविंदपुर में समाजसेवी शालदेव शाह का निधन
गोविंदपुर स्टेशन निर्माण समिति के संस्थापक अध्यक्ष शालदेव शाह का शुक्रवार को निधन हो गया. दोपहर करीब 2:00 बजे तबीयत खराब होने के बाद उन्हें टाटा मोटर्स अस्पताल ले जाया गया जहां चिकित्सकों ने हृदय गति रुकने से निधन होने की पुष्टि की. स्वर्गीय शाह महात्मा गांधी के विचारों से प्रेरित होकर गांधी विचार मंच की स्थापना की थी. जिला परिषद सुनीता शाह के ससुर स्वर्गीय शाह शुरू से ही सामाजिक कार्यों में बढ़-चढ़कर हिस्सा लेते रहे हैं.

[metaslider id=15963 cssclass=””]

Must Read

Related Articles