saraikela-elephant-attack-हाथी हमले से मृतक के परिजनों से मिली विधायक सविता महतो, वन विभाग के अधिकारी को मुआवजा देने का दिया निर्देश, घायल से मुलाकात की, यथासंभव सहयोग का दिया आश्वासन

राशिफल

चांडिल: सरायकेला- खरसावां जिला के ईचागढ़ थाना क्षेत्र के बोड़ा गांव में गुरूवार की रात झुंड से बिछड़े एक जंगली हाथी ने बोड़ा गांव निवासी गोविन्द सिंह मुंडा 20 वर्ष को पटक कर मौत के घाट उतार दिया. वहीं उनके बड़े भाई तारिणी सिंह मुंडा को गंभीर रूप से घायल कर दिया. साथ ही उनके धान लदे ट्रैक्टर को भी हाथी ने पलट दिया. घायल किसान को बेहतर इलाज के लिए माधुरी नर्सिंग होम मिलन चौक में भर्ती कराया गया. शुक्रवार को शव को पोस्टमार्टम हेतु सरायकेला सदर अस्पताल भेजा गया. प्राप्त जानकारी के अनुसार हाथी घटना को अंजाम देने के बाद घंटों घटनास्थल पर ही डटे रहे. वन विभाग द्वारा हाथी ड्राइव टीम को बुलाने के बाद मशाल- पटाखे आदि के सहारे देर रात काफी खोजबीन करने के बाद शव को बरामद किया गया. साथ ही हाथी को जंगल की और भगाया. इधर घटना की जानकारी विधायक सविता महतो को मिलते ही उन्होंने रेंजर शशि प्रकाश रंजन व थाना प्रभारी दिनेश ठाकुर को घटनास्थल जाने को कहा. साथ ही उन्होंने रेंजर को तत्काल मृतक के परिजनों को 50 हजार रुपये मुआवजा देने का निर्देश दिया. रेंजर शशि प्रकाश ने मृतक की मां पुष्प लता देवी को पचास हजार रुपए रुपये तथा घायल के इलाज के लिए पांच हजार रुपये तत्कालीन सहायता राशि दिया.(नीचे भी पढ़े)

वहीं विधायक सविता महतो ने घटना की सूचना मिलते ही शुक्रवार को हाथी हमले से मृतक के परिजनों से मिली और परिजनों को ढांढस बंधाया. विधायक ने परिजनों को निजी स्तर से आर्थिक सहयोग भी किया एवं टार्च और पटाखे भी दिए. वही विधायक ने घायल बड़े भाई से भी मिलन चौक स्थित माधुरी नर्सिंग होम जाकर मुलाकात की एवं चिकित्सकों से उनके संबंध में जानकारी ली, और बेहतर ईलाज करने को कहा. उन्होंने मृतक के परिजनों को हर संभव सहायता करने का भी आश्वासन दिया. विधायक ने परिजनों को कहा जल्द ही वन विभाग की ओर से कागजी प्रक्रिया पूरी कर बाकी साढ़े तीन लाख रुपए मुआवजा राशि का भुगतान किया जाएगा. मौके पर आप्त सचिव काबलु महतो, पंचानन पातर, हरेंद्र नाथ महतो, अमित सिन्हा आदि उपस्थित थे.

Must Read

Related Articles