jamshedpur-shahid-jawan-family-got-service-झारखंड की हेमंत सरकार ने 5 साल बाद दिया जमशेदपुर के शहीद के परिवार को सम्मान, परसुडीह के शहीद किशन दुबे के परिवार को मिलेगी नौकरी

Advertisement
Advertisement

जमशेदपुर : झारखंड की हेमंत सोरेन की सरकार ने पांच साल बाद जमशेदपुर के शहीद परिवार को सम्मान दिया है. मुख्यमंत्री हेमन्त सोरेन ने 9 जुलाई 2015 को सीमा सुरक्षा बल के शहीद जवान स्वर्गीय किशन कुमार दुबे के भाई जयशंकर दुबे को अनुकंपा के आधार पर नौकरी देने की मंजूरी दी है. परसुडीह के कीताडीह त्रिमूर्ति चौक में रहने वाले इस शहीद परिवार को पांच साल का इंतजार करना पड़ा. अंतत: झारखंड की हेमंत सोरेन सरकार ने ही उनको यह सम्मान दिया. उनको नौकरी देने की अनुशंसा जमशेदपुर के उपायुक्त द्वारा की गयी थी. आपको बता दें कि जम्मू-कश्मीर के श्रीनगर के बारामूला सेक्टर की लीपाघाटी में 9 जुलाई 2015 को पाकिस्तानी फौज और रेंजर की गोलीबारी में परसुडीह कीताडीह त्रिमूर्ति चौक निवासी बीएसएफ के जवान किशन दुबे शहीद हो गये थे. उनके पिता धर्मराज दुबे की मौत 24 अगस्त 2017 को हो गयी थी. पांच साल बाद अंतत: उनके भाई को नौकरी देने की मंजूरी दी गयी. वैसे इस मामले को लेकर झारखंड हाईकोर्ट ने भी अपना आदेश दिया था.

Advertisement
Advertisement

Advertisement
Advertisement

Advertisement
Advertisement
Advertisement

Advertisement