tata-steel-ethics-month-टाटा स्टील का एथिक्स मंथ का समापन, टाटा स्टील एमडी ने कहा-नैतिकता ही टाटा स्टील की सबसे मजबूत संपत्ति

Advertisement
Advertisement

जमशेदपुर : टाटा स्टील में माह भर से चल रहे एथिक्स मंथ का मंगलवार को आभासी मंच के माध्यम से समान हो गया. इस वर्ष नैतिकता माह 2020 के लिए विषय था जिम्मेदार मुझे, जिम्मेदार हम. इस अवसर पर टाटा बिजनेस एक्सीलेंस ग्रुप के कार्यकारी अध्यक्ष एस पद्मनाभन और टाटा स्टील के अन्य वरिष्ठ अधिकारियों के साथ टाटा वर्कर्स यूनियन के अध्यक्ष आर रवि प्रसाद, कंपनी के ग्लोबल सीईओ सह एमडी टीवी नरेंद्रन आदि उपस्थित थे. इस अवसर पर एस पद्मनाभन ने टाटा स्टील और टाटा समूह की अन्य कंपनियों द्वारा कोविड 19 महामारी से उत्पन्न स्थिति से निपटने के प्रयासों की सराहना की. उन्होंने कहा कि एक इकाई के रूप में, टाटा समूह यह सुनिश्चित करने के लिए जिम्मेदार और लचीला है कि विभिन्न समूह-नेतृत्व वाली कल्याणकारी पहल का लाभ बड़े पैमाने पर समाज तक पहुंचे. उन्होंने टाटा स्टील को नौवीं एथिस्फीयर अवार्ड जीतने पर बधाई दी और कहा कि यह कंपनी की मजबूत नैतिक मूल्य प्रणाली के प्रति प्रतिबद्धता का प्रमाण है. टीवी नरेंद्रन ने अपने संबोधन में कहा कि टाटा समूह और टाटा स्टील के लिए सबसे बड़ी संपत्ति मजबूत मूल्य प्रणाली है. उन्होंने कहा कि मूल्य प्रणाली और उच्च नैतिक मानकों का पालन ही टाटा स्टील को दीर्घावधि में टिकाऊ बनाएगा. आर रवि प्रसाद ने गैर-नैतिक गतिविधियों को दृढ़ता से हतोत्साहित करने की आवश्यकता के साथ हर समय एक अच्छा व्यवहार बनाए रखने के महत्व पर प्रकाश डाला. उन्होंने टाटा मूल्यों में विश्वास और गौरव के सुदृढीकरण को सुनिश्चित करने के लिए सामूहिक कार्य करने पर भी जोर दिया. इस अवसर पर आयोजित किये गये विभिन्न प्रतियोगिता के विजेताओं के नाम भी घोषित किये गये.

Advertisement
Advertisement

Advertisement
Advertisement
Advertisement

Advertisement
Advertisement

Advertisement
Advertisement
Advertisement

Advertisement