spot_imgspot_img
spot_img

jharkhand-government-vs-rajbhavan-झारखंड में तेज हुई हेमंत सरकार और राजभवन की जंग, राज्यपाल ने भी हस्तक्षेप बढ़ाया, डीजीपी को किया तलब, झामुमो ने कहा-कोल्हान यूनिवर्सिटी में भाजपाइयों को भरा गया था, तब ठीक था, बंगाल जैसे हालात झारखंड में पैदा ना करें भाजपा, सरकार ने सही कदम उठाया, भाजपा बोली-असंवैधानिक कार्य हो रहा राज्य में, टीका से लेकर हर चीज में राजनीति कर रही

रांची : झारखंड में हेमंत सोरेन की सरकार और राज्यपाल द्रौपदी मुर्मू के बीच एक बार फिर से घमासान तेज होता नजर आ रहा है. हालात यह है कि राज्यपाल ने झारखंड में अपना हस्तक्षेप बढ़ा दिया है. राजभवन और राज्य सरकार आमने-सामने नजर आ रही है. सोमवार को राज्यपाल द्रौपदी मुर्मू ने डीजीपी नीरज सिन्हा को तलब किया और पुलिस पदाधिकारी रुपा तिर्की के अनुसंधान के बारे में विस्तृत जानकारी ली. इसके बाद यह कहा गया कि इसका अनुसंधान तेज किया जाये और सच को सामने लाया जाये. यहीं नहीं, ट्राइबल एडवाइजरी काउंसिल (टीएसी) से राज्यपाल को हटाने को लेकर कानूनी राय भी राज्यपाल ले रही है. आपको बता दें कि टीएसी के गठन और सदस्यों के मनोनयन का अधिकार पहले राज्यपाल के पास था, लेकिन राज्यपाल का यह अधिकार छीन लिया गया और अब सारा अधिकार मुख्यमंत्री में निहित कर दिया गया है.
झामुमो ने लगाया राजभवन और भाजपा पर राज्य में राजनीति करने का आरोप
झामुमो के केंद्रीय प्रवक्ता सुप्रियो भट्टाचार्ज ने बताया कि झामुमो, कांग्रेस और राजद की सरकार को लेकर भाजपा के पेट में काफी दर्द है. राजभवन में टीएसी के गठन को लेकर दो बार फाइल भेजा गया था, लेकिन दोनों बार राज्यपाल ने फाइल लौटा दी थी. अब बताइए एक टीएसी के गठन को लेकर बेवजह की राजनीति की जाये और फाइल लाने और ले जाने का खेल हो तो संवैधानिक तौर पर मुख्यमंत्री और कैबिनेट ने यह फैसला लिया कि मुख्यमंत्री के पास यह अधिकार होगा. उन्होंने कहा कि छत्तीसगढ़ में रमण सिंह की सरकार जब भाजपा की थी तब ऐसा ही संशोधन भाजपा ने किया था तो उस वक्त ठीक था. वैसे भी मुख्यमंत्री हेमंत सोरेन खुद आदिवासी है, जो टीएसी में बेहतर फैसले ले सकते है, कोई गैर आदिवासी मुख्यमंत्री तो नहीं है. उन्होंने कहा कि भाजपा सिर्फ राजनीति का अवसर तलाश रही है और कुछ नहीं. बंगाल जैसे हालात को लोग देख रहे है, ऐसे हालात भाजपा झारखंड में पैदा नहीं कराये, सारा कुछ सामान्य तरीके से चलने दें. सुप्रियो भट्टाचार्य ने कहा कि कोल्हान यूनिवर्सिटी में भाजपा के लोगों को सारे नियम को ताक पर रखकर सेलेक्ट कमेटी में जगह दे दी गयी थी, उस वक्त भाजपा को क्यों नहीं विरोध सुझा, लेकिन आज विरोझ सुझ रहा है. झामुमो ने कहा कि राज्य के डीजीपी को तलब किया जा रहा है जबकि रुपा तिर्की के मामले में सरकार गंभीरता से जांच करा रही है, लेकिन राजभवन डीजीपी को तलब कर रहा है. यह सब क्या हो रहा है.
भाजपा बोली-असंवैधानिक कार्य कर रही है सरकार

भाजपा के प्रदेश अध्यक्ष दीपक प्रकाश ने कहा कि झामुमो और कांग्रेस की सरकार असंवैधानिक तरीके से सरकार चला रही है. राज्यपाल के अधिकार को अपने में निहित कर राज्य सरकार ने गलत किया है और यह संवैधानिक है. उन्होंने कहा कि झामुमो सिर्फ टीकाकरण हो या कोई भी काम, सिर्फ मोदी सरकार को बदनाम कर अपनी राजनीतिक रोटी सेंकने का काम कर रही है.

WhatsApp Image 2022-04-29 at 12.21.12 PM
WhatsApp-Image-2022-03-29-at-6.49.43-PM-1
Shiv Yog Physiotherapy And Yoga Classes

Leave a Reply

spot_img

Must Read

Related Articles

Don`t copy text!