jamshedpur-hoteliers-association-जमशेदपुर होटेलियर एसोसिएशन डीसी के पहुंचे, कहा-होटलों को खोलने की इजाजत मिले

Advertisement
Advertisement

जमशेदपुर : झारखंड में होटल व्यापार को अब तक संचालन की अनुमति नहीं देने से हो रही कठिनाइयों के कारण कारोबारी की हालत खराब है। होटल खोलने की मांग को लेकर मंगलवार की शाम जमशेदपुर के डीसी कार्यालय पर जमशेदपुर होटेलियर एंड रेस्टोरेंट एसोसिएशन के लोगो ने शांतिपूर्ण तरीके से विरोध प्रदर्शन किया। इन लोगो ने शांतिपूर्ण ढंग से कैंडल प्रज्वलित कर अपनी माँग सरकार के सामने रखने का काम किया। होटल कारोबारियों का कहना है कि उनके समक्ष- रोज़ी – रोजग़ार की विकट समस्या से निपटने और अपने यहाँ कार्यरत कामगार को मासिक वेतन अब उनकी दे पाने की नगदी का अभाव हो गया है।

Advertisement
Advertisement

इन लोगो सरकार से माँग करते की है कि अविलम्ब होटेल को संचालन की अनुमति प्रदान करें। कई आवश्यक सेवाओं के दैनिक निष्पादन हेतु – जैसे स्वास्थ्य, मेडिकल, आदि में लोग एक स्थान से दूसरे स्थान तक नहीं आ जा पा रहे हैं। कई व्यावसायिक और उद्योग जगत में भी आवश्यक सेवाओं से जुड़े कार्य आवागमन की संचालन नहीं होने के कारण बंद पड़े है। इस से सरकार को भी चारों और से राजस्व की क्षति हो रही है। कोविड 19 के अन्लॉक की प्रक्रिया पूरे देश में शुरू हो चुकी है।पर्यटन मंत्रालय, भारत सरकार की शर्तों के अनुरूप झारखण्ड के समस्त ज़िलों में होटलों को खोलने की अनुमति दी जानी चाहिये। कई कामगार भुखमरी के कगार पर आ चुके हैं। उनमे आत्महत्या की प्रवृति भी बढ़ती जा रही है। जमशेदपुर में 250 के लगभग होटल हैं और प्रत्यक्ष अथवा अप्रत्यक्ष रूप से डेढ़ लाख लोग इस इंडस्ट्री से जुड़े हुए हैं। सबके सामने आर्थिक संकट विकराल है। ऐसी परिस्थिति में , हम सरकार से आग्रह करते हैं कि होटलों को भी झारखंड के प्रत्येक ज़िलों में जल्द से जल्द संचालन की अनुमति प्रदान की जाय। इस कार्यक्रम में पूर्व अध्यक्ष प्रभाकर सिंह, अनिल खेमका, रॉनल्ड डेकिस्ता, स्वाति, स्मिता पारिख, बालाजी पटेल, संजय सिंह, विनु टौंक, रविश रंजन, राजेश बेरी ,योगेश दवे एवं सभी होटलों के क़रीब 300 कर्मचारी आदि उपस्थित थे।

Advertisement

Advertisement
Advertisement
Advertisement

Advertisement

Leave a Reply