टाटा स्टील के जमशेदपुर प्लांट में नहीं होगी अभी नयी बहाली, ट्रेड अप्रेंटिस की नयी बहाली में दिखा असर, टाटा वर्कर्स यूनियन को भी दिया जा चुका है संकेत

जमशेदपुर : टाटा स्टील के जमशेदपुर प्लांट में अभी फिलहाल कोई नयी बहाली नहीं होगी. ट्रेड अप्रेंटिस या किसी भी स्तर की बहाली फिलहाल नहीं होने जा रही है. टाटा स्टील प्रबंधन की ओर से इसको लेकर टाटा वर्कर्स यूनियन को अनौपचारिक बातचीत में संकेत दिये जा चुके है. हाल में वेज रिवीजन को लेकर चल रही वार्ता के दौरान ही मैनेजमेंट की ओर से यह जानकारी दे दी गयी है कि वे लोग जमशेदपुर में बहाली नहीं लेने वाले है. फिलहाल, जो मैनपावर जमशेदपुर प्लांट में है, वहीं रहेगा और जो बचा हुआ काम में अगर कोई दिक्कत आयेगी तो फिर काम को आउटसोर्स के जरिये ही कराया जायेगा. यूनियन को दिये गये संकेत और बातों का असर भी दिखा. टाटा स्टील ने जमशेदपुर और कलिंगानगर के ट्रेड अप्रेंटिस की बहाली निकाली थी, लेकिन जब रिजल्ट आया तो जमशेदपुर के एक भी कर्मचारी पुत्र या बाहरी का कोई बहाली जमशेदपुर प्लांट के नहीं किया गया. अलबत्ता, कलिंगानगर के लिए ही बहाली ली गयी. ऐसे में टाटा स्टील के जमशेदपुर प्लांट में फिलहाल कोई बहाली नहीं होने की बात कहीं गयी है. हालांकि, मीडिया को इसकी जानकारी नहीं दी गयी या कोई अधिकारिक बयान नहीं दिया गया है, लेकिन कंपनी ने आंतरिक तौर पर इसका फैसला ले लिया है. ग्रेड रिवीजन समझौता के दौरान यह कहा गया है कि जो कर्मचारी काम में है, उसकी ही उत्पादकता को ही बढ़ाया जाये और ज्यादा स्टील का प्रोडक्शन कंपनी के कर्मचारी कर सकें, ऐसा कदम उठाया जाये. मैनपावर का सही इस्तेमाल करने को कहा गया है. वैसे, कंपनी की ओर से कलिंगानगर के लिए ही बहाली निकाली गयी है. ऑफिसरों की भी नयी बहाली हो रही है, लेकिन जो भी बहाली हो रही है, वह पूरे समूह के लिए हो रहा है, जैसे कलिंगानगर से लेकर जमशेदपुर और दुनिया भर के तमाम प्लांट के लिए ऑफिसरों की बहाली की जा रही है.

Leave a Reply

The Content Is Protected